स्वाज़ीलैण्ड देश के रोचक तथ्य और ऐतिहासिक जानकारी


Country Facts: History About Swaziland


विश्व के भूगोल में स्वाज़ीलैण्ड देश का एक अलग ही स्थान है| इस देश में कई ऐसी बातें है जो इस देश को अन्य देशों से अलग करती है जैसे की भाषा, रहन सहन, वेश-भूषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय| आइये जानते है स्वाज़ीलैण्ड (Swaziland) देश से जुड़े कुछ ऐसे अनोखे तथ्य तथा इतिहास से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में, जिन्हें जानकर आपका ज्ञान बढ़ेगा|

स्वाज़ीलैण्ड की संक्षिप्त जानकारी (Quick info about Swaziland):-
नाम (हिंदी में)स्वाज़ीलैण्ड
नाम (अंग्रेजी में)Swaziland
महाद्वीप का नामAfrica
समूह का नामAfrican Union
देश का गठनSeptember 6, 1968

स्वाज़ीलैण्ड देश से जुड़े रोचक तथ्य और अनोखी जानकारियाँ (Interesting facts about Swaziland country):

  • स्वाज़ीलैण्ड आधिकारिक नाम किंगडम ऑफ़ स्वाज़ीलैण्ड (Kingdom of Swaziland) जो दक्षिणी अफ्रीका में स्थित एक सम्प्रभु राष्ट्र है।
  • स्वाज़ीलैण्ड की सीमाएं उत्तर, पश्चिम तथा दक्षिण की ओर दक्षिण अफ्रीका से और पूर्व की ओर मोजाम्बिक से लगती है।
  • स्वाजीलैंड ने 6 सितंबर 1968 को यूनाइटेड किंगडम (UK) से अपनी आजादी हासिल की थी।
  • स्वाज़ीलैण्ड में पूर्ण राज-तंत्र है, जिसके वर्तमान शासक राजा म्स्वाति तृतीय हैं जिनकी 14 पत्नियां हैं।
  • स्वाज़ीलैण्ड का कुल क्षेत्रफल 17,364 वर्ग कि.मी. (6,704 वर्ग मील) है।
  • विश्व बैंक के अनुसार 2016 में स्वाज़ीलैण्ड की कुल जनसंख्या 1.343 मिलियन थी।
  • स्वाजीलैंड की आधिकारिक भाषाएं अंग्रेजी और स्वाज़ी है।
  • स्वाजीलैंड की मुद्रा का नाम लीलांगिनी है।
  • स्वाजीलैंड की वर्तमान रानी मां का नाम न्त्फोम्बी त्फ्वाला है जो म्स्वाति तृतीय की माता है।
  • स्वाजीलैंड के राजा मस्वाती द्वितीय (1840-1868) को सबसे बड़ा लड़का राजा माना जाता था, जिसने ज़ुलू (Zulu) जनजाति और सिंहासन के लिए अपने भाइयों से युद्ध किया था "स्वाजी" उनके नाम का अंग्रेजी संस्करण है।
  • स्वाजीलैंड की दो राजधानियां हैं पहली मेबाबेन (Mbabane) है जो इसकी प्रशासनिक राजधानी है और लोबाम्बा (Lobamba) इसकी शाही और विधायी राजधानी हैं।
  • स्वाजीलैंड में एम्लेमबे सबसे ऊंचा पर्वत ह,ै जिसकी 1,862 मीटर (6,109 फीट) है।
  • स्वाजीलैंड के ध्वज में लाल रंग बीति हुए युद्ध का, नीला रंग शांति और स्थिरता का, पीला रंग संसाधनों का और ध्वज केंद्र में बना नगुनी शील्ड और दो भाले दुश्मनों से सुरक्षा का प्रतीक हैं
Spread the love, Like and Share!

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Comments are closed