भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का जीवन परिचय

भारत के 11वें राष्ट्रपति: भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का जीवन परिचय: (Biography of A.P.J. Abdul Kalam in Hindi)

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पूर्व भारतीय राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता (इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे। उन्हें ‘मिसाइल मैन’ और ‘जनता के राष्ट्रपति’ के नाम से भी जाना जाता है। वह भारत के 11वें निर्वाचित और पहले गैर-राजनीतिज्ञ राष्ट्रपति थे। वे 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 तक देश के राष्ट्रपति पद पर कार्यरत रहे। 27 जुलाई 2015 को दिल का दौरा पड़ने से इस महान व्यक्ति का निधन हो गया था।

Quick Info About A.P.J. Abdul Kalam in Hindi

नाम ए.पी.जे. अब्दुल कलाम
जन्म तिथि 15 अक्टूबर 1931
माता का नाम आशियम्मा
पिता का नाम जैनुलाब्दीन
जन्म स्थान रामेश्वरम, तमिलनाडु, (भारत)
निधन तिथि 27 जुलाई 2015
उपलब्धि भारत के 11वें राष्ट्रपति
उपलब्धि वर्ष 2002

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा: (Early life and education)

अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम के तीर्थस्थल पंबन द्वीप पर वर्तमान तमिलनाडु राज्य में एक तमिल मुस्लिम परिवार में हुआ था। उनके पिता जैनुलाब्दीन एक नाव के मालिक थे और एक स्थानीय मस्जिद के इमाम उनकी माँ आशियम्मा एक गृहिणी थीं। उनके पिता के पास एक नौका थी जो हिंदू तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम और अब निर्जन धनुष्कोडी के बीच ले जाती थी। कलाम अपने परिवार में चार भाइयों और एक बहन में सबसे छोटे थे। उनके पूर्वज कई संपत्तियों और भूमि के बड़े ट्रैक्ट के साथ धनी व्यापारी और ज़मींदार थे। उनके व्यवसाय में मुख्य भूमि और द्वीप के बीच और श्रीलंका से व्यापार किराने का सामान शामिल था, साथ ही साथ मुख्य भूमि और पंबन के बीच तीर्थयात्रियों को फेरी लगाना भी शामिल था। नतीजतन, परिवार ने “मारा कलाम इयाकिवर” (लकड़ी की नाव चलाने वाले) का खिताब हासिल कर लिया, जो वर्षों में “मारकियर” के रूप में छोटा हो गया। 1914 में पम्बन ब्रिज के मुख्य भूमि पर खुलने के साथ, व्यवसाय विफल हो गए और पैतृक घर के अलावा, परिवार के भाग्य और संपत्ति समय के साथ खो गए। उन्होंने अपने परिवार की आय को पूरा करने के लिए अखबार भी बेचे।
अपने स्कूल के वर्षों में, कलाम के पास औसत ग्रेड थे, परंतु फिर भी उन्हें एक उज्ज्वल और मेहनती छात्र के रूप में वर्णित किया गया था, जिसे सीखने की तीव्र इच्छा थी। उन्होंने अपनी पढ़ाई, विशेषकर गणित पर घंटों बिताए। शवार्ट्ज हायर सेकेंडरी स्कूल, रामनाथपुरम में अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद, कलाम संत जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली, फिर मद्रास विश्वविद्यालय से जुड़े, जहाँ से उन्होंने 1954 में भौतिकी में स्नातक किया था। 1955 में मद्रास चले गए। मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी।

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Abdul Kalam)

  • अब्दुल कलाम का पूरा नाम ‘अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम’ था।
  • 1992 से 1999 तक कलाम रक्षा मंत्री के रक्षा सलाहकार भी रहे थे।
  • इन्हें “मिसाइल मैन” के नाम से भी संबोधित किया जाता है। डॉक्टर अब्दुल कलाम को प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह SLV-3 प्रक्षेरपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल है।
  • अब्दुल कलाम 26 मई 2006 को स्विट्ज़रलैंड की यात्रा पर गये थे, तो स्विट्ज़रलैंड सरकार ने उस दिन को “विज्ञान दिवस” घोषित किया, जो डॉ. आज़ाद को समर्पित है।
  • डॉ. कलाम साल 1962 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) में आये थे, जहाँ उन्होंने सफलतापूर्वक कई उपग्रह प्रक्षेपण परियोजनाओं में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
  • उन्होंने भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान एसएलवी 3 के निर्माण में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे जुलाई 1982 में रोहिणी उपग्रह सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया था।
  • भारत सरकार द्वारा उन्हें 1981 में ‘पद्म भूषण’ और 1990 में ‘पद्म विभूषण’ सम्मान भी प्रदान किया गया था।
  • जुलाई 1992 में वे भारतीय रक्षा मंत्रालय में वैज्ञानिक सलाहकार नियुक्त हुये। उनकी देखरेख में भारत ने 1998 में पोखरण में अपना दूसरा सफल परमाणु परीक्षण किया और परमाणु शक्ति से संपन्न राष्ट्रों की सूची में शामिल हुआ।
  • भारत सरकार ने साल 1997 में कलाम साहब को भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न‘ भी प्रदान किया गया जो उनके वैज्ञानिक अनुसंधानों और भारत में तकनीकी के विकास में अभूतपूर्व योगदान हेतु दिया गया था।
  • ये भारत के एक विशिष्ट वैज्ञानिक हैं, जिन्हें 30 विश्वविद्यालयों और संस्थानों से डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्राप्त हो चुकी है।

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को प्राप्त हुए पुरस्कार एवं सम्मान की सूची:

वर्ष सम्मान/पुरस्कार का नाम पुरस्कृत करने वाला संगठन
2014 डॉक्टर ऑफ़ साइन्स एडिनबर्ग विश्वविद्यालय, यूनाइटेड किंगडम
2012 डॉक्टर ऑफ़ लॉज़ (मानद उपाधि) साइमन फ़्रेज़र विश्वविद्यालय
2011 आइ॰ई॰ई॰ई॰ मानद सदस्यता आइ॰ई॰ई॰ई॰
2010 डॉक्टर ऑफ इन्जीनियरिंग यूनिवर्सिटी ऑफ़ वाटरलू
2009 मानद डॉक्टरेट ऑकलैंड विश्वविद्यालय
2009 हूवर मेडल ए॰एस॰एम॰ई॰ फाउण्डेशन,
2009 वॉन कार्मन विंग्स अन्तर्राष्ट्रीय अवार्ड कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी,
2008 डॉक्टर ऑफ इन्जीनियरिंग (मानद उपाधि) नानयांग टेक्नोलॉजिकल विश्वविद्यालय, सिंगापुर
2008 डॉक्टर ऑफ साइन्स (मानद उपाधि) अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
2007 डॉक्टर ऑफ साइन्स एण्ड टेक्नोलॉजी की मानद उपाधि कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय
2007 किंग चार्ल्स II मेडल रॉयल सोसायटी, यूनाइटेड किंगडम
2007 डॉक्टर ऑफ साइन्स की मानद उपाधि वूल्वरहैंप्टन विश्वविद्यालय, यूनाईटेड किंगडम
2000 रामानुजन पुरस्कार अल्वार्स शोध संस्थान, चेन्नई
1998 वीर सावरकर पुरस्कार भारत सरकार
1997 इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस
1997 भारत रत्न भारत सरकार
1994 विशिष्ट शोधार्थी इंस्टीट्यूट ऑफ़ डायरेक्टर्स (इण्डिया)
1990 पद्म विभूषण भारत सरकार
1981 पद्म भूषण भारत सरकार

This post was last modified on July 27, 2020 12:33 pm

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):

  • प्रश्न: अब्दुल कलाम कब से कब तक रक्षा मंत्री के रक्षा सलाहकारी रहे थे?
    उत्तर: 1992 से 1999
  • प्रश्न: प्रोजेक्टर के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह SLV-3 प्रक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय किसे हासिल है?
    उत्तर: डॉ.ए.पी.जे. अब्दुल कलाम
  • प्रश्न: डॉ.कलाम साल 1962 में किस संगठन में आए थे?
    उत्तर: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
  • प्रश्न: 1981 में भारत सरकार द्वारा पद्द भूषण सम्मान प्रदान किसे किया गया था?
    उत्तर: अब्दुल कलाम
  • प्रश्न: अब्दुल कलाम को पद्द विभूषण से कब सम्मानित किया गया था?
    उत्तर: 1990
  • प्रश्न: अब्दुल कलाम कब भारतीय रक्षा मंत्रालय में वैज्ञानिक सलाहकार नियुक्त हुए थे?
    उत्तर: जुलाई 1992
You just read: Abdul Kalam Biography - FAMOUS PEOPLE Topic

Recent Posts

भारत की प्रथम क्रान्तिकारी महिला: मैडम भीखाजी कामा का जीवन परिचय

भीखाजी कामा का जीवन परिचय: (Biography of Bhikaiji Cama in Hindi) भीखाजी कामा एक महान महिला स्वतंत्रता सेनानी थी। जिन्होंने…

September 24, 2020

इंग्लिश चैनल पार करने वाली प्रथम भारतीय महिला तैराक: आरती साहा का जीवन परिचय

आरती साहा का जीवन परिचय: (Biography of Aarti Saha in Hindi) आरती साहा एक भारतीय तैराक थी। सचिन नाग ने…

September 24, 2020

24 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 24 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 24 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 24, 2020

विद्युत – Electricity

विद्युत क्या है? What is electricity? विद्युत आवेशों के मौजूदगी और बहाव से जुड़े भौतिक परिघटनाओं के समुच्चय को विद्युत…

September 23, 2020

23 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 23 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 23 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 23, 2020

22 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 22 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 22 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 22, 2020

This website uses cookies.