बहादुर शाह जफर का जीवन परिचय | Biography of Bahadur Shah Zafar in Hindi

मुग़ल साम्राज्य के अंतिम बादशाह: बहादुर शाह जफर का जीवन परिचय

बहादुर शाह जफर का जीवन परिचय: (Biography of Bahadur Shah Zafar in Hindi)

बहादुर शाह जफर मुग़ल साम्राज्य के अंतिम बादशाह थे। इनका शासनकाल 1837-57 तक था। बहादुर शाह ज़फ़र एक कवि, संगीतकार व खुशनवीस थे और राजनीतिक नेता के बजाय सौंदर्यानुरागी व्यक्ति अधिक थे।

Quick Info About Bahadur Shah Zafar in Hindi

नाम बहादुर शाह जफर
जन्म तिथि 24 अक्टूबर 1775
पिता का नाम अकबर शाह द्वितीय
माता का नाम लालबाई
जन्म स्थान दिल्ली (भारत)
निधन तिथि 07 नवम्बर 1862
उपलब्धि मुग़ल साम्राज्य के अंतिम बादशाह
उपलब्धि वर्ष 1837

बहादुर शाह ज़फ़र का प्रारम्भिक जीवन:

ज़फ़र का जन्म 24 अक्तूबर, 1775 में हुआ था। उनके पिता अकबर शाह द्वितीय और मां लालबाई थीं। अपने पिता की मृत्यु के बाद जफर को 18 सितंबर, 1837 में मुगल बादशाह बनाया गया। यह दीगर बात थी कि उस समय तक दिल्ली की सल्तनत बेहद कमजोर हो गई थी और मुगल बादशाह नाममात्र का सम्राट रह गया था।

बहादुर शाह ज़फ़र से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Bahadur Shah Zafar)

  • बहादुर शाह ज़फर भारत में मुग़ल साम्राज्य के आखिरी शहंशाह, और उर्दू के जानेे-माने शायर थे। उन्होंने 1857 का प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय सिपाहियों का नेतृत्व किया।
  • इन्होने 1857 की पहली भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय सिपाहियों का नेतृत्व किया था।
  • 1857 ई. में स्वतंत्रता संग्राम शुरू होने के समय बहादुर शाह 82 वर्ष के बूढे थे।
  • सितम्बर 1857 ई. में अंग्रेज़ों ने दुबारा दिल्ली पर क़ब्ज़ा जमा लिया और बहादुर शाह द्वितीय को गिरफ़्तार करके उन पर मुक़दमा चलाया गया तथा उन्हें रंगून निर्वासित कर दिया गया था।
  • बहादुर शाह ज़फ़र को मेजर हडसन द्वारा बंधी बनाया गया था। जिसके बाद उन्हें रंगून ले जाया गया था।
  • बहादुर शाह ज़फ़र मुल्क से अंग्रेजों को भगाने का सपना लिए 07 नवंबर 1862 को उनका निधन हो गया था।
  • बहादुर शाह ज़फ़र की मृत्यु 86 वर्ष की अवस्था में रंगून (वर्तमान यांगून), बर्मा (वर्तमान म्यांमार) में हुई थी।
  • उनके दफन स्थल को अब बहादुर शाह जफर दरगाह के नाम से जाना जाता है।
  • उनकी याद में बांग्लादेश के ओल्ड ढाका शहर स्थित विक्टोरिया पार्क का नाम बदलकर बहादुर शाह जफर पार्क कर दिया गया है।
  • बादशाह बनने के बाद बहादुर शाह जफर ने गोहत्या पर पाबंदी का जो आदेश दिया था वह कोई नया आदेश नहीं था।

नीचे दिए गए प्रश्न और उत्तर प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रख कर बनाए गए हैं। यह भाग हमें सुझाव देता है कि सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। यह प्रश्नोत्तरी एसएससी (SSC), यूपीएससी (UPSC), रेलवे (Railway), बैंकिंग (Banking) तथा अन्य परीक्षाओं में भी लाभदायक है।

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):


  • प्रश्न: 1857 की पहली भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय सिपाहियों का नेतृत्व किसने किया था?
    उत्तर: बहादुर शाह ज़फर
  • प्रश्न: अंग्रेजो ने कब दिल्ली पर दुबारा कब्ज़ा कर बहादुरशाह द्वितीय को गिरफ्तार करके उन पर मुकदमा तथा उन्हें रंगून निर्वासित कर दिया था?
    उत्तर: सितम्बर 1857
  • प्रश्न: बादशाह बनने के बाद बहादुरशाह ज़फर ने कौन सा आदेश दिया जो की नया नहीं था?
    उत्तर: गोहत्या पर पाबंदी
  • प्रश्न: बहादुर शाह की याद में बंगलादेश के ओल्ड ढाका शहर में स्थित विक्टोरिया पार्क का नाम बदलकर क्या रखा गया था?
    उत्तर: बहादुर शाह जफ़र पार्क
  • प्रश्न: 07 नवंबर 1862 में कौन सा सपना लिए बहादुर शाह ज़फर का निधन हो गया?
    उत्तर: मुल्क से अंग्रेजों को भागने का
  • प्रश्न: 1857 में स्वतंत्रता संग्राम के समय बहादुर शाह ज़फर कितने वर्ष के थे?
    उत्तर: 82 वर्ष

You just read: Bahadur Shah Zafar Biography - FAMOUS PEOPLE Topic

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *