भारत के राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम्’ के रचयिता: बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय का जीवन परिचय

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय का जीवन परिचय:

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय बंगाल के प्रकाण्ड विद्वान् तथा महान् कवि और उपन्यासकार थे। 1874 में प्रसिद्ध देश भक्ति गीत वन्देमातरम् की रचना की जिसे बाद में आनन्द मठ नामक उपन्यास में शामिल किया गया था। वन्देमातरम् गीत को सबसे पहले 1896 में कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में गाया गया था।

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय के जीवन का संक्षिप्त विवरण:

नाम बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय (बंकिमचंद्र चटर्जी)
जन्म तिथि 27 जून 1838
जन्म स्थान बंगाल (भारत)
निधन तिथि 08 अप्रैल 1894
उपलब्धि भारत के राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम्’ के रचयिता
उपलब्धि वर्ष 7 नवंबर 1875

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय का प्रारम्भिक जीवन एवं शिक्षा:

चट्टोपाध्याय का जन्म उत्तर परगना के शहर कांठलपारा, नैहाटी में, एक रूढ़िवादी बंगाली ब्राह्मण परिवार में हुआ था बंकिमचन्द्र तीन भाइयों में सबसे छोटे थे, उनके पिता एक सरकारी अधिकारी, मिदनापुर के डिप्टी कलेक्टर बन गए थे। उनके एक भाई, संजीब चंद्र चट्टोपाध्याय भी उपन्यासकार थे और उन्हें उनकी प्रसिद्ध पुस्तक “पलामू” के लिए जाना जाता है। बंकिम चंद्र और उनके बड़े भाई, दोनों ने अपनी स्कूलिंग मिदनापुर कॉलेजिएट स्कूल (तत्कालीन सरकारी स्कूल) से की थी, जहाँ उन्होंने अपनी पहली कविता लिखी थी। उन्होंने हुगली मोहसिन कॉलेज (बंगाली परोपकारी मुहम्मद मोहसिन द्वारा स्थापित) और बाद में प्रेसीडेंसी कॉलेज, कोलकाता में 1858 में कला में स्नातक की उपाधि प्राप्त की थी। बाद में उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय में भाग लिया और जिसके बाद में उन्होंने वर्ष 1869 में लॉ की डिग्री भी हासिल की। ​​वर्ष 1858 में, उन्हें जेसोर के डिप्टी कलेक्टर (उनके पिता द्वारा उसी तरह का पद) नियुक्त किया गया। वर्ष 1891 में सरकारी सेवा से सेवानिवृत्त होकर डिप्टी मजिस्ट्रेट बन गए थे।

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  1. भारत का राष्ट्रगीत लिखने वाले प्रसिद्ध लेखक बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का जन्म बंगाल के 24 परगना ज़िले के कांठल पाड़ा नामक गाँव में एक सम्पन्न परिवार में हुआ था।
  2. बंकिमचंद्र चटर्जी की पहचान बांग्ला कवि, उपन्यासकार, लेखक और पत्रकार के रूप में है। उनकी प्रथम प्रकाशित रचना राजमोहन्स वाइफ थी। इसकी रचना अंग्रेजी में की गई थी।
  3. वर्ष 1872 में इन्होने मासिक पत्रिका बंगदर्शन का भी प्रकाशन किया था। अपनी इस पत्रिका में उन्होंने विषवृक्ष (1873) उपन्यास का क्रमिक रूप से प्रकाशन किया है।
  4. चट्टोपाध्याय के शुरुआती प्रकाशन ईश्वर चंद्र गुप्ता के साप्ताहिक अखबार सांगबेड प्रभाकर में थे। ईश्वर चंद्र गुप्ता के मॉडल के बाद, उन्होंने अपने साहित्यिक करियर की शुरुआत एक कवि के रूप में की थी।
  5. बंकिमचंद्र चटर्जी ने केवल 27 वर्ष की उम्र में उन्होंने ‘दुर्गेश नंदिनी’ नाम का उपन्यास लिखा था। जिससे उन्हें बहुत प्रसिद्धि हासिल हुई थी।
  6. प्रिंट में प्रदर्शित होने वाली उनकी पहली कहानी राजमोहन की पत्नी थी। यह अंग्रेजी में लिखा गया था और इसे अंग्रेजी में लिखा जाने वाला पहला भारतीय उपन्यास माना जाता है। दुर्गेशोन्दिनी, उनका पहला बंगाली रोमांस और बंगाली में पहला उपन्यास, 1865 में प्रकाशित हुआ था।
  7. चट्टोपाध्याय ने अप्रैल 1872 में एक मासिक साहित्यिक पत्रिका बंगदर्शन का प्रकाशन शुरू किया, जिसका पहला संस्करण लगभग पूरी तरह से उनके अपने काम से भरा था। पत्रिका ने धारावाहिक उपन्यासों, कहानियों, विनोदी रेखाचित्रों, ऐतिहासिक और विविध निबंधों, सूचनात्मक लेखों, धार्मिक प्रवचनों, साहित्यिक आलोचनाओं और समीक्षाओं को आगे बढ़ाया। विश्रभक्ष चट्टोपाध्याय का पहला उपन्यास है जो बंगारदर्शन में धारावाहिक रूप से प्रदर्शित हुआ।
  8. राष्ट्रीय दृष्टि से ‘आनंदमठ’ उनका सबसे प्रसिद्ध उपन्यास है। इसी में सर्वप्रथम ‘वन्दे मातरम्’ गीत प्रकाशित हुआ था तथा इसके रचयिता बंकिमचंद्र ही थे।
  9. बंकिमचंद्र के उपन्यासों का भारत की लगभग सभी भाषाओं में अनुवाद किया गया है। बांग्ला में सिर्फ बंकिम और शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय को यह गौरव हासिल है।
  10. 7 नवंबर 1876 में बंगाल के कांतल पाडा गांव में बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय ने ‘वंदे मातरम’ की रचना की थी।
  11. बंकिमचंद्र का विवाह बहुत ही कम उम्र ग्यारह वर्ष की आयु में कर दिया गया था उनकी पत्नी से उन्हें एक पुत्र हुआ था। तथा बाद में उनका दूसरा विवाह राजलक्ष्मी देवी से हुआ था।
  12. आधुनिक बंगला साहित्य के राष्ट्रीयता के जनक तथा राष्ट्रगीत के निर्माता का 8 अप्रैल, 1894 ई. को देहान्त हो गया।

This post was last modified on November 18, 2019 4:27 pm

Recent Posts

13 अगस्त का इतिहास भारत और विश्व में – 13 August in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 13 अगस्त यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

August 13, 2020

भारतीय वायुसेना, उनके प्रमुखों के नाम और उनके कार्यकाल की सूची

भारतीय वायुसेना के प्रमुखों के नाम और उनका कार्यकाल: (List of Indian Air Force Chiefs in Hindi) भारतीय वायुसेना: भारतीय…

August 12, 2020

12 अगस्त का इतिहास भारत और विश्व में – 12 August in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 12 अगस्त यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

August 12, 2020

भारतीय अर्थव्यवस्था से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्यों की सूची

भारतीय अर्थव्यवस्था से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्यों की सूची: (Indian Economics Important GK Facts in Hindi) भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था सामान्य ज्ञान: भारतीय…

August 11, 2020

अन्तरराष्ट्रीय युवा दिवस (12 अगस्त)

अन्तरराष्ट्रीय युवा दिवस (12 अगस्त): (12 August: International Youth Day in Hindi) अन्तरराष्ट्रीय युवा दिवस कब और क्यों मनाया जाता…

August 11, 2020

वित्तीय प्रणाली का अर्थ

वित्तीय प्रणाली क्या है? (What is the financial system?): वित्तीय प्रणाली (financial system) वह प्रणाली है जो जमाकर्ताओं, निवेशकर्ताओं तथा…

August 11, 2020

This website uses cookies.