राष्ट्रीय युवा संगठन के संस्थापक: शहीद भगत सिंह का जीवन परिचय


Famous People: Bhagat Singh Biography [ID: 13051]



भगत सिंह का जीवन परिचय: (Biography of Bhagat Singh in Hindi)

भगत सिंह भारत के एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे। भगतसिंह संधु जाट सिक्ख थे वे देश की आज़ादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया था उन्हें शायद ही कोई भुला पाए। फांसी के बाद सारे देश ने उनके बलिदान को बड़ी गम्भीरता से याद किया था। भगत सिंह की अंतिम इच्छा थी कि उन्हें गोली मार कर मौत दी जाए। हालांकि, ब्रिटिश सरकार ने उनकी इस इच्छा को भी नज़रअंदाज़ कर दिया।

Quick Info About Bhagat Singh in Hindi:

नाम भगत सिंह
जन्म तिथि 28 सितम्बर 1907
जन्म स्थान लायलपुर, पंजाब (ब्रिटिश भारत)
निधन तिथि 23 मार्च, 1931
उपलब्धि राष्ट्रीय युवा संगठन के संस्थापक

भगत सिंह से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Bhagat Singh)

  • भगत सिंह का जन्म 28 सितम्बर 1907 को लायलपुर, पंजाब में हुआ था।
  • बचपन में जब वह अपने पिता के साथ खेत में जाते थे तो पूछते थे कि हम जमीन में बंदूक क्यों नही उपजा सकते।
  • जलियावाला बाग हत्याकांड के समय भग़त सिंह की उम्र सिर्फ 12 साल थी। इस घटना ने भगत सिँह को हमेशा के लिए क्रांतिकारी बना दिया था।
  • उन्होंने अपने कॉलेज के दिनो में ‘राष्ट्रीय युवा संगठन’ की स्थापना की थी।
  • जब उनके घरवाले उनकी शादी के लिए लड़की ढूंढ रहे थे तो वह घर से भाग गये तथा यह कहा अब तो आजादी ही मेरी दुल्हन बनेगी।
  • वे एक अच्छे लेखक भी थे, वो उर्दू और पंजाबी भाषा में कई अखबारों के लिए नियमित रूप से लिखते थे।
  • भग़त सिंह ने “इंकलाब जिंदाबाद” और “साम्राज्यवाद का नाश हो” जैसे प्रसिद्ध नारे दिए थे।
  • उनके जूते, घड़ी और शर्ट आज भी सुरक्षित हैं।
  • भगत सिंह और उसके साथियों को फाँसी की सजा इसलिए सुनाई गई क्योकिं उन्होनें नेशनल असेम्बली में बम गिराया था।
  • भगत सिंह को फांसी की सजा सुनाने वाला न्यायाधीश जी.सी. हिल्टन था।
जांचें कि आपने ऊपर क्या पढ़ा? प्रश्नोत्तरी:

भगत सिंह ने 'राष्ट्रीय युवा संगठन' की स्थापना कब की थी?

Correct
Incorrect

भगत सिंह को फांसी सुनाने वाला न्यायधीश का नाम क्या था?

Correct
Incorrect

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

One Comment:

  1. Sagar shrivastav

    Thank you so much, such kaha Bhagat singh aese hi the.

Leave a Reply

Your email address will not be published.