प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल: भारत रत्न चक्रवर्ती राजगोपालाचारी का जीवन परिचय


Famous People: Chakravarti Rajagopalachari Biography



चक्रवर्ती राजगोपालाचारी का जीवन परिचय: (Biography of first Indian Governor General of India Chakravarti Rajagopalachari in Hindi)

चक्रवर्ती राजगोपालाचारी एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, राजनेता, लेखक और वकील थे। चक्रवर्ती राजगोपालाचारी का जन्म मद्रास के थोराप्पली गांव में 10 दिसंबर, 1878 को वैष्णव ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम चक्रवर्ती वेंकटआर्यन और माता का नाम सिंगारम्मा था। वे स्वतन्त्र भारत के द्वितीय गवर्नर जनरल और प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल थे। वे दक्षिण भारत के कांग्रेस के प्रमुख नेता थे, किन्तु बाद में वे कांग्रेस के प्रखर विरोधी बन गए तथा सन् 1959 में उन्होंने एक अलग ‘स्वतंत्रता पार्टी’ का गठन भी किया।

संक्षिप्त विवरण (Quick Info):

नाम चक्रवर्ती राजगोपालाचारी
जन्म तिथि 10 दिसम्बर 1978
जन्म स्थान थोरापल्ली, मद्रास (दक्षिण भारत)
निधन तिथि 25 दिसम्बर 1972
उपलब्धि प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल
उपलब्धि वर्ष 1948

चक्रवर्ती राजगोपालाचारी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Chakravarti Rajagopalachari)

  1. चक्रवर्ती राजगोपालाचारी को राजाजी के नाम से भी जाना जाता है।
  2. चक्रवर्ती राजगोपालाचारी का प्राथमिक शिक्षण होसुर के सरकारी स्कूल में हुआ। तत्पश्चात बेंगलोर के सेंट्रल कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरा करके मद्रास के प्रेसीडेंसी कॉलेज से लॉ की पढ़ाई की और वकालत करते हुए खूब नाम कमाया।
  3. उनका विवाह सन् 1897 में अलामेलू मंगम्मा से संपन्न हुआ।
  4. सन् 1904 में देशसेवा की भावना से वे कांग्रेस में सम्मिलित हुए। उन्होंने राजनीतिक समस्याओं के साथ-साथ सांस्कृतिक विषयों पर भी लेखन किया। रामायण, महाभारत और गीता का अनुवाद अपने ढंग से किया।
  5. चक्रवर्ती राजगोपालाचारी गांधीजी के समधी थे (राजाजी की पुत्री लक्ष्मी का विवाह गांधीजी के सबसे छोटे पुत्र देवदास गांधी से हुआ था)।
  6. साहित्य अकादमी द्वारा उन्हें पुस्तक ‘चक्रवर्ती थिरुमगम्’ पर सम्मान भी मिला।
  7. नेहरूजी के नेतृत्व में सन् 1946 में जब अंतरिम सरकार बनी तो उन्हें उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री बनाया गया।
  8. स्वराज्य मिलने के बाद राजगोपालाचारी को भारत का प्रथम गवर्नर जनरल मनोनीत किया गया तत्पश्चात वे सरदार पटेल के निधन के बाद गृहमंत्री भी बने।
  9. 1954 में भारतीय राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले चक्रवर्ती राजगोपालाचारी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया। भारत रत्न पाने वाले वे पहले व्यक्ति थे।
  10. 28 दिसंबर 1972 को 92 वर्ष की उम्र में चेन्नई में उनका निधन हो गया।
Spread the love, Like and Share!

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.