चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय


Famous People: Chandra Shekhar Azad Biography [Post ID: 13052]



चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय: (Biography of Chandra Shekhar Azad in Hindi)

चंद्रशेखर आजाद भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध क्रांतिकारी थे। 17 वर्ष के चंद्रशेखर आज़ाद क्रांतिकारी दल ‘हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन’ में सम्मिलित हो गए थे दल में उनका नाम ‘क्विक सिल्वर’ (पारा) रखा गया था।

Quick Info About Chandra Shekhar Azad in Hindi:

नाम चंद्रशेखर आजाद
जन्म तिथि 23 जुलाई 1906
जन्म स्थान आदिवासी गाँव भावरा, मध्य प्रदेश (भारत)
निधन तिथि 27 फ़रवरी, 1931
उपलब्धि हिंदुस्तान रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य
उपलब्धि वर्ष

चंद्रशेखर आजाद से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Chandra Shekhar Azad)

  1. चंद्रशेखर आजाद का पूरा नाम पंडित चंद्रशेखर तिवारी था।
  2. इनका जन्म 23 जुलाई 1906 को आदिवासी गाँव भावरा में हुआ था।
  3. इनके माता-पिता का नाम जगरानी देवी और सीताराम तिवारी था।
  4. असहयोग आंदोलन बंद होने के बाद चंद्रशेखर आजाद ‘हिंदुस्तान रिपब्लिकन पार्टी‘ के सदस्य बन गए। आगे चलकर वे इस पार्टी में कमांडर-इन-चीफ़ भी बनें।
  5. चंद्रशेखर आजाद अपने साथ हमेशा एक माउज़र रखते थे, ये पिस्टल आज भी इलाहाबाद के म्यूजियम में रखी हुई है।
  6. आजाद एक शेर बोला करते थे “दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे”।
  7. 1925 में रामप्रसाद बिस्मिल के साथ मिलकर किए गए काकोरी कांड के पीछे चंद्रशेखर आजाद का ही दिमाग था।
  8. आजाद ने अपनी जिंदगी के 10 साल फरार रहते हुए बिताए। एक समय में चंद्रशेखर आजाद झाँसी के पास 8 फीट गहरी और 4 फीट चौड़ी गुफा में सन्यासी के वेश में रहते थे।
  9. आजाद चाहते थे कि उनकी एक भी तस्वीर अंग्रेजो के हाथ न लगे, लेकिन ऐसा संभव न हो सका था।
  10. 27 फ़रवरी, 1931 को चन्द्रशेखर आज़ाद एक महान क्रांतिकारी शहीद हो गए।
जांचें कि आपने ऊपर क्या पढ़ा? प्रश्नोत्तरी:

यह कौन बोलते थे दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे?

Correct
Incorrect

1925 में रामप्रसाद बिस्मिल के साथ मिलकर किए गए काकोरी कांड के पीछे किसका दिमाग था?

Correct
Incorrect

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Comments are closed