डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जीवन परिचय – Dr. Sarvepalli Radhakrishnan Biography in Hindi


Famous People: Dr Sarvepalli Radhakrishnan Biography [ID: 12134]



भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति: डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जीवन परिचय (Biography of First Vice President of India Dr. Sarvepalli Radhakrishnan in Hindi)

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन स्वतंत्र भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे। उनका कार्यकाल 13 मई, 1962 से 13 मई, 1967 तक रहा। वह देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित होने वाले प्रथम भारतीय व्यक्ति भी है। डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 05 सितम्बर 1888 को तमिलनाडु के तिरूतनी ग्राम में हुआ था। इनके पिता का नाम ‘सर्वपल्ली वीरास्वामी’ और माता का नाम ‘सीताम्मा’ था। सन 1903 में महज 16 वर्ष की उम्र में ही इनकी शादी इनकी दूर की चचेरी बहन से कर दी गयी, जिनसे इनके 4 बेटी तथा 1 बेटा हुआ। वे भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद, महान दार्शनिक और एक आस्थावान हिन्दू विचारक थे।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जीवन परिचय का संक्षिप्त विवरण:

नाम डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन
जन्म तिथि 05 सितम्बर 1888, तिरूतनी (तमिलनाडु)
निधन तिथि 17 अप्रैल 1975
उपलब्धि भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति, ‘भारत रत्न’ से सम्मानित प्रथम भारतीय
उपलब्धि वर्ष 1952

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Dr. Sarvepalli Radhakrishnan)

  • वर्ष 1952 में सोवियत संघ से आने के बाद डॉक्टर राधाकृष्णन देश के प्रथम उपराष्ट्रपति निर्वाचित किए गए।
  • डॉक्टर राधाकृष्णन वर्ष 1931 से 1936 तक वाल्टेयर विश्वविद्यालय, आंध्र प्रदेश के वाइस चांसलर रहे।
  • सन 1940 में प्रथम भारतीय के रूप में ब्रिटिश अकादमी में चुने गए थे।
  • भारतीय क्रिकेटर वी. वी. एस लक्ष्‍मण भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के भतीजे हैं।
  • डॉ. राधाकृष्णन वर्ष 1936 से 1952 तक आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर भी रहे थे।
  • डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन (05 सितम्बर) भारत में ‘शिक्षक दिवस‘ के रूप में मनाया जाता है।
  • वर्ष 1953 से 1962 तक डॉ. राधाकृष्णन दिल्ली विश्वविद्यालय के चांसलर पद पर कार्यरत रहे थे।
  • डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 13 मई 1962 में दूसरे भारतीय राष्‍ट्रपति के रूप में भी नियुक्‍त किया गया था।
  • वर्ष 1954 में शिक्षा और राजनीति में योगदान के लिए सर्वपल्ली राधाकृष्णन को देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘भारत रत्‍न’ से सम्‍मानित किया गया था। वह ‘भारत रत्न’ से सम्मानित होने वाले प्रथम भारतीय व्यक्ति है।
  • सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन का 17 अप्रैल, 1975 को लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया।
जांचें कि आपने ऊपर क्या पढ़ा? प्रश्नोत्तरी:

डॉ. राधाकृष्णन वर्ष 1936 से 1952 तक किस विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रहे है?

Correct
Incorrect

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन किस रूप में मनाया जाता है?

Correct
Incorrect

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.