भारत के आखिरी वायसराय: लॉर्ड लुई माउंटबेटन का जीवन परिचय


Famous People: Lord Mountbatten Biography



लॉर्ड लुई माउंटबेटन का जीवन परिचय (Biography of Last Viceroy of India Lord Mountbatten in Hindi)

लॉर्ड लुई माउंटबेटन एक ब्रिटिश राजनीतिज्ञ और नौसैनिक अधिकारी थे। लॉर्ड माउंटबेटन का जन्म 25 जून, 1900 ई. में फ़्रॉगमोर हाउस, विंडसर इंग्लैण्ड में हिज सीरीन हाइनेस बैटनबर्ग के राजकुमार लुइस के रूप में हुआ था। लॉर्ड माउंटबेटन भारत के आखिरी वायसराय (1947) थे और स्वतंत्र भारतीय संघ के पहले गवर्नर-जनरल (1947-48) थे।

संक्षिप्त विवरण (Quick Info):

नाम लॉर्ड लुई माउंटबेटन
जन्म तिथि 25 जून, 1900
जन्म स्थान फ़्रॉगमोर हाउस, विंडसर इंग्लैण्ड
निधन तिथि 27 अगस्त, 1979
उपलब्धि भारत के आखिरी वायसराय (20 फरवरी 1947) और स्वतंत्र भारतीय संघ के पहले गवर्नर-जनरल (1948)
उपलब्धि वर्ष (1947-1948)

लॉर्ड लुई माउंटबेटन से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Lord Mountbatten)

  • लॉर्ड माउण्टबेटेन का मूल नाम ‘लुई फ़्राँसिस एल्बर्ट विक्टर निकोलस’ था।
  • यह बैटनबर्ग के राजकुमार ‘लुई’, बाद में ‘मिलफ़ोर्ड हैवन’ के मार्क्विस और उनकी पत्नी हेस-डार्मस्टैट की राजकुमारी विक्टोरिया, ब्रिटिश महारानी विक्टोरिया की पड़पोती की चौथी सन्तान थे।
  • लॉर्ड माउंटबेटन ने प्रथम विश्व युद्ध के समय शाही नौसेना में एक मिडशिपमैन के रूप में सेवा दी थी।
  • सन 1922 में माउंटबेटन भारत के एक शाही दौरे पर प्रिंस ऑफ़ वेल्स एडवर्ड के साथ आये थे। अपनी यात्रा के दौरान ही वह अपनी होने वाली पत्नी एडविना से मिले और उन्होंने 18 जुलाई 1922 को शादी की।
  • लॉर्ड लुइस माउंटबेटन को 1926 में एडमिरल सर रोजर कीज के कमान वाले भूमध्य बेड़े के सहायक फ्लीट वायरलेस और सिग्नल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था।
  • द्वितीय विश्वयुद्ध छिड़ने पर ध्वंसक कैली और पाँचवें ध्वंसक बेड़े की कमान में उन्हें 1941 ई. में एक विमानवाहक पोत का कमाण्डर नियुक्त किया गया।
  • सन 1940 में लॉर्ड माउण्टबेटेन ने सेना के काम आने वाले एक छलावरण का अविष्कार किया, जिसका नाम ‘माउंटबेटन पिंक नेवल केमोफ्लाज पिगमेंट’ था।
  • 20 फरवरी 1947 में लॉर्ड लुइस माउंटबेटन को भारत का आखिरी वायसराय नियुक्‍त किया गया था।
  • लॉर्ड माउण्टबेटेन सन 1959-65 ई. में यूनाइटेड किंगडम डिफ़ेन्स स्टाफ़ के प्रमुख एवं चीफ़्स ऑफ़ स्टाफ़ कमिटी के अध्यक्ष बने।
  • 27 अगस्त, 1979 ई. में प्रोविज़िनल आइरिश रिपब्लिकन आर्मी के आतंकवादियों ने माउण्ट बेटेन की नौका में बम लगाकर उनकी हत्या कर दी।
Spread the love, Like and Share!
  • 20
    Shares

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.