बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के संस्थापक: मदन मोहन मालवीय का जीवन परिचय

मदन मोहन मालवीय का जीवन परिचय: (Biography of Madan Mohan Malaviya in Hindi)

मदन मोहन मालवीय महान् स्वतंत्रता सेनानी, राजनीतिज्ञ और शिक्षाविद ही नहीं, बल्कि एक बड़े समाज सुधारक भी थे। इतिहासकार वीसी साहू के अनुसार हिन्दू राष्ट्रवाद के समर्थक मदन मोहन मालवीय देश से जातिगत बेड़ियों को तोड़ना चाहते थे।

Quick Info About Madan Mohan Malaviya in Hindi

नाम मदन मोहन मालवीय
जन्म तिथि 25 दिसम्बर 1861
जन्म स्थान इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश (भारत)
निधन तिथि 12 नवम्बर 1946
उपलब्धि बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के संस्थापक
उपलब्धि वर्ष 1916

मदन मोहन मालवीय से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Madan Mohan Malaviya)

  • मदन मोहन मालवीय का जन्म 25 दिसम्बर 1861 को इलाहाबाद में हुआ था।
  • मदन मोहन मालवीय अपने महान् कार्यों के चलते ‘महामना’ कहलाते थे।
  • इनके पिता का नाम ब्रजनाथ और माता का नाम भूनादेवी था।
  • मदनमोहन मालवीय की प्राथमिक शिक्षा इलाहाबाद के ही श्री धर्मज्ञानोपदेश पाठशाला में हुई जहाँ सनातन धर्म की शिक्षा दी जाती थी।
  • मदन मोहन मालवीय ने ‘सत्यमेव जयते‘ का नारा दिया था।
  • जीवनकाल के प्रारम्भ से ही मालवीय जी राजनीति में रुचि लेने लगे और 1886 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दूसरे अधिवेशन में सम्मिलित हुए थे।
  • मालवीय जी दो बार 1909 तथा 1918 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष भी चुने गए थे।
  • वर्ष 1902 में मालवीय जी उत्तर प्रदेश ‘इंपीरियल लेजिस्लेटिव काउंसिल’ के सदस्य और बाद में ‘सेंट्रल लेजिस्लेटिव असेंबली’ के सदस्य चुने गये थे।
  • मालवीय जी ने गांधी जी के असहयोग आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लिया। 1928 में उन्होंने लाला लाजपत राय, जवाहर लाल नेहरू और अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के साथ मिलकर साइमन कमीशन का ज़बर्दस्त विरोध किया और इसके ख़िलाफ़ देशभर में जनजागरण अभियान भी चलाया।
  • मालवीय जी आजीवन देश सेवा में लगे रहे और 12 नवम्बर, 1946 ई. को इलाहाबाद में उनका निधन हो गया था।

This post was last modified on December 26, 2018 10:58 am

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):

  • प्रश्न: मदन मोहन मालवीय अपने महान् कार्यों के चलते क्या कहलाते थे?
    उत्तर: महामना
  • प्रश्न: सत्यमेव जयते का नारा किसने दिया था?
    उत्तर: मदन मोहन मालवीय
  • प्रश्न: मदन मोहन मालवीय कब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के दूसरे अधिवेशन में सम्मिलित हुए थे।
    उत्तर: 1886
  • प्रश्न: वे कौन है जो दो बार 1909 तथा 1918 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए थे?
    उत्तर: मदन मोहन मालवीय
  • प्रश्न: सन 1928 में मदन मोहन मालवीय ने लाला लाजपत राय, जवाहरलाल नेहरु और अन्य स्वतंत्रता सेनानियों के साथ मिलकर किसका विरोध किया था?
    उत्तर: साइमन कमीशन
You just read: Madan Mohan Malaviya Biography - FAMOUS PEOPLE Topic

Recent Posts

18 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 18 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 18 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 18, 2020

जैव विकास – Organic Evolution

जैव विकास क्या है? What is Organic Evolution पृथ्वी पर वर्तमान जटिल प्राणियों का विकास प्रारम्भ में पाए जाने वाले…

September 17, 2020

भगवान विश्वकर्मा जयन्ती (17 सितम्बर)

विश्वकर्मा जयन्ती (17 सितम्बर): (17 September: Vishwakarma Jayanti in Hindi) विश्वकर्मा जयन्ती कब मनाई जाती है? प्रत्येक वर्ष देशभर में 17…

September 17, 2020

मानव शरीर के अंगो के नाम हिंदी व अंग्रेजी में – Parts of Body Name in Hindi

मानव शरीर के अंगो के नाम की सूची: (Names of Human Body Parts in Hindi) शरीर के अंगों के नाम…

September 17, 2020

विश्व के सबसे ऊँचे झरनों के नाम एवं देश पर आधारित सामान्य ज्ञान

विश्व के सबसे ऊँचे झरने, ऊँचाई एवं देश: (List of top Waterfall in the World in Hindi) झरना एक जलस्रोत…

September 17, 2020

17 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 17 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 17 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 17, 2020

This website uses cookies.