मैरी कॉम का जीवन परिचय | Biography of M.C. Mary Kom in Hindi

ओलम्पिक खेलों में मुक्‍केबाजी में पदक विजेता प्रथम भारतीय महिला: मैरी कॉम का जीवन परिचय

मैरी कॉम का जीवन परिचय: (Biography of Mary Kom in Hindi)

एम. सी. मैरी कॉम जिन्हें मैरी कॉम के नाम से भी जाना जाता है, एक भारतीय महिला मुक्केबाज हैं। 01 अक्टूबर 2014 को इन्होने विश्व इतिहास रचते हुए एशियाई खेलो में स्वर्ण पदक जीतने के साथ वे भारत के पहली मुक्केबाज बनी।

Quick Info about First Indian woman to win Medal in Boxing at Olympic Games:

नाम एम.सी. मैरी कॉम
जन्म तिथि 01 मार्च 1983
जन्म स्थान चुराचांदपुर, मणिपुर भारत
उपलब्धि ओलम्पिक खेलों में मुक्‍केबाजी में पदक विजेता प्रथम भारतीय महिला
उपलब्धि वर्ष 2012

मैरी कॉम से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Mary Kom)

  1. मैरी कॉम का जन्म 01 मार्च 1983 में पश्चिमी भारत के मणिपुर के चुराचांदपुर जिले के काङथेइ ग्राम में हुआ था।
  2. इनकी माता का नाम मांगते अक्हम कोम तथा पिता का नाम मांगते तोंपा कोम है।
  3. मैरी कॉम का पूरा नाम मंगटे चुंगनेइजंग मैरी कॉम है।
  4. मैरी कॉम अपनी 9-10 कक्षा भी पास नही कर सकी थी, फिर भी उन्होंने एनआईओएस से अपनी आगे की पढाई पूरी की।
  5. मैरी कॉम विश्व मुक्केबाजी प्रतियोगिता में 5 बार विजेता रही है।
  6. यह अकेली ऐसी महिला मुक्केबाज़ हैं, जिन्होंने अपनी सभी 6 विश्व प्रतियोगिताओं में पदक जीता है।
  7. सन् 2001 में प्रथम बार नेशनल वुमन्स बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीतने वाली मैरी कॉम अब तक 10 राष्ट्रीय खिताब जीत चुकी हैं।
  8. वर्ष 2006 में ‘पद्मश्री’ और 2009 में उन्हें देश के सर्वोच्च खेल सम्मान ‘राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया।
  9. मुक्केबाजी में देश को गौरवान्वित करने वाली मैरी को भारत सरकार ने वर्ष 2003 में ‘अर्जुन पुरस्कार’ से सम्मानित किया।
  10. उनके जीवन पर एक फिल्म भी बनी जिसका प्रदर्शन 2014 मे हुआ। इस फिल्म में उनकी भूमिका प्रियंका चोपड़ा ने निभाई।
  11. 17 जून 2018 में विश्व प्रसिद्ध मुक्केबाज श्रीमती एमसी मैरी कॉम को वीरांगना सम्मान से अपने शौर्य बल से नए प्रतिमान को गढ़ने के लिए विभूषित किया गया था।
  12. 24 नवंबर, 2018 को नई दिल्ली में आयोजित 10वीं AIBA महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में उन्होंने 6 विश्व चैंपियनशिप जीतने वाली पहली महिला बनकर इतिहास बनाया।
(Visited 14 times, 1 visits today)

Like this Article? Subscribe to feed now!

Leave a Reply

Scroll to top