लोकसभा हेतु निर्वाचित प्रथम भारतीय वैज्ञानिक: मेघनाद साहा का जीवन परिचय

Famous People: Meghnad Saha Biography

मेघनाद साहा का जीवन परिचय: (Biography of Meghnad Saha in Hindi)

मेघनाद साहा भारत के एक महान खगोल वैज्ञानिक थे। डॉ. मेघनाद साहा ने तारों के ताप और वर्णक्रम के निकट संबंध के भौतकीय कारणों को खोज निकाला था। भारतीय कैलेंडर के क्षेत्र में भी उनका महत्त्वपूर्ण योगदान था। वह साल 1952 में हुए संसदीय चुनावों में एक स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में खड़े हुए और उनकी बड़े अंतर से चुनाव में जीत हुई, इसके साथ ही वे लोकसभा हेतु निर्वाचित होने वाले देश के प्रथम भारतीय वैज्ञानिक बन गए।

Quick Info about First Indian Scientist elected to the Lok Sabha:

नाम मेघनाद साहा
जन्म तिथि 06 अक्टूबर, 1893
जन्म स्थान शाओराटोली, ढाका (वर्तमान बांग्लादेश)
निधन तिथि 16 फ़रवरी, 1956
उपलब्धि लोकसभा हेतु निर्वाचित प्रथम भारतीय वैज्ञानिक
उपलब्धि वर्ष 1952

मेघनाद साहा से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Meghnad Saha)

  1. मेघनाद साहा का जन्म 06 अक्टूबर 1893 को ढाका (वर्तमान बांग्लादेश) से लगभग 45 किलोमीटर दूर शाओराटोली गाँव में एक गरीब परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम जगन्नाथ साहा तथा माता का नाम भुवनेश्वरी देवी था।
  2. मेघनाद साहा की आरम्भिक शिक्षा ढाका कॉलेजिएट स्कूल में हुई। इण्ट्रेंस में पूर्वी बंगाल मे प्रथम रहे। इसके बाद वे ढाका कालेज में पढ़े। वहीं पर विएना से़ डाक्टरेट करके आए प्रो नगेन्द्र नाथ सेन से उन्होंने जर्मन भाषा सीखी।
  3. वर्ष 1917 में साहा कोलकाता के यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ़ साइंस में प्राध्यापक के तौर पर नियुक्त हो गए। वहां वो क्वांटम फिजिक्स पढ़ाते थे।
  4. सन् 1918 में उनकी ‘थीसिस ऑफ रेडियेशन, प्रेशर एंड इलेक्ट्रोमैगनेटिक थ्योरी’ के लिए साहा को कलकत्ता विश्वविद्यालय ने डी.एससी. की उपाधि दी।
  5. वर्ष 1927 में उन्हें लंदन की ‘रॉयल एशियाटिक सोसायटी’ का फ़ैलो  चुना गया।
  6. वर्ष 1934 में उन्होंने ‘भारतीय विज्ञान कांग्रेस’ की अध्यक्षता की।
  7. भारत सरकार ने कलैण्डर सुधार के लिए जो समिति गठित की थी, उसके अध्यक्ष भी मेघनाद साहा ही थे।
  8. इन्होंने साहा नाभिकीय भौतिकी संस्थान तथा इण्डियन एसोसियेशन फॉर द कल्टिवेशन ऑफ साईन्स नामक दो महत्त्वपूर्ण संस्थाओं की स्थापना की।
  9. उन्होंने वर्ष 1947 में इंस्टिट्यूट ऑफ़ नुक्लेअर फिजिक्स की स्थापना की थी, जो बाद में उनके नाम पर ‘साहा इंस्टिट्यूट ऑफ़ नुक्लेअर फिजिक्स’ हो गया।
  10. 16 फ़रवरी, 1956 ई. को दिल का दौरा पड़ने से मेघनाद साहा का निधन हो गया।

सामान्य ज्ञान अपनी ईमेल पर पाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.