मोतीलाल नेहरू का जीवन परिचय | Biography of Motilal Nehru in Hindi

मोतीलाल नेहरू का जीवन परिचय – Motilal Nehru Biography in Hindi

स्वराज पार्टी के पहले अध्यक्ष: मोतीलाल नेहरू का जीवन परिचय: (Biography of Motilal Nehru in Hindi)

मोतीलाल नेहरु भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के पिता थे। यह एक कश्मीरी ब्राह्मण थे। वे भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के आरम्भिक कार्यकर्ताओं में से थे। मोतीलाल नेहरु आज़ादी के पहले देश में सबसे बुद्धिमान वकीलों में से एक थे। उन्हें सम्मान से पंडित मोतीलाल नेहरू बुलाया जाता था।

मोतीलाल नेहरू के जीवन परिचय का संक्षिप्त विवरण:

नाम मोतीलाल नेहरु
जन्म तिथि 06 मई 1861
जन्म स्थान आगरा (भारत)
निधन तिथि 06 फरवरी 1931
उपलब्धि स्वराज पार्टी के पहले सचिव एवं अध्यक्ष
उपलब्धि वर्ष  1923

मोतीलाल नेहरु से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Motilal Nehru)

  1. मोतीलाल नेहरू का जन्म 06 मई, 1861 को आगरा में एक कश्मीरी पंडित परिवार में हुआ था।
  2. मोतीलाल नेहरु के पिता का नाम गंगाधर और माता का नाम जानुरानी (इंद्राणी) नेहरू था।
  3. मोतीलाल नेहरू के जन्म के तुरंत बाद ही उनकी माता का देहांत हो गया था।
  4. मोतीलाल नेहरू के पिता पहले दिल्ली में ही रहते थे जहाँ वह कोतवाल का कार्य करते थे परंतु 1857  के स्वतंत्रता संग्राम के बाद वह आगरा चले गए थे।
  5. मोतीलाल नेहरू के दो बड़े भाई बंसीधर नेहरू और नंदलाल नेहरू थे और दो बड़ी बहने पटरानी और महारानी थी।
  6. आगरा जाने के बाद जब मोतीलाल मात्र तीन महीने के ही थे, उनकी दोनों बहनों की शादी कर दी गई, जिसके तुरंत बाद मोतीलाल के पिता गंगाधर का भी देहांत हो गया था। मोतीलाल नेहरू का पालन-पोषण उनके दोनों बड़े भाइयों ने ही किया था।
  7. मोतीलाल ने वर्ष 1883 में वकील की परीक्षा उत्तीर्ण की और कानपुर में एक वकील के रूप में अभ्यास करना शुरू कर दिया था।
  8. मोतीलाल ने कई मुकदमों में बड़े जीत हासिल की और जल्द ही उन्होंने इलाहाबाद के कानूनी पेशे में खुद की एक नई पहचान बनाई। जिसके उन्होने वर्ष 1900 में, शहर के सिविल लाइंस क्षेत्र में एक बड़े घर को खरीदा, और उसका नाम आनंद भवन (जॉय हाउस) रखा।
  9. मोतीलाल नेहरू की पत्नी नाम स्वरुप्रानी थसु था।
  10. मोतीलाल ही भारत के पहले प्रधान प० जवाहरलाल नेहरू, यू.एन.ओ. के जनरल असेंबली की प्रथम महिला अध्यक्ष विजय लक्ष्मी पंडित और कृष्णा हुसंगी के पिता है।
  11. 1918 में मोतीलाल नेहरू महात्मा गांधी के विचारों से अत्यंत प्रभावित हुये जिसके बाद उन्होने पश्चिमी जीवन शैली और भौतिक वस्तुओं को त्याग कर भारतीय मूल जीवन शैली को पूर्णत: अपना लिया।
  12. द लीडर के निदेशक मंडल के पहले अध्यक्ष भी रह चुके थे, जो इलाहाबाद से प्रकाशित होने वाला एक दैनिक समाचार पत्र था।
  13. 5 फरवरी 1919 को, उन्होंने द लीडर के प्रतिपक्ष के रूप में एक नया दैनिक समाचार पत्र ” द इंडिपेंडेंट” लॉन्च किया जो 1919 में मोतीलाल के मानक और स्पष्ट विचार के लिए बहुत उदार था।
  14. नेहरू ने स्वराज भवन में भी कार्य किया था जोकि मूल रूप से 19 वीं शताब्दी के मुस्लिम नेता और शिक्षाविद् सर सैयद अहमद खान का था।
  15. भारत में जब पहली ‘बाइसिकल’ आई तो मोतीलाल नेहरू ही इलाहाबाद के पहले व्यक्ति थे जिन्होंने बाइसिकल ख़रीदी थी।
  16. मोतीलाल नेहरू की पढ़ाई भले ही अधूरी रह गई थी लेकिन वे आरम्भ से ही अत्यन्त कुशाग्र बुद्धि थे।
  17. मोतीलाल नेहरू ने दो बार कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया, एक बार अमृतसर में वर्ष 1919 में और दूसरी बार कलकत्ता में वर्ष 1928 में।
  18. 1928 से लेकर 1929 तक पूरे दो वर्ष तक वे काँग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे थे।
  19. वर्ष 1923 में उन्होने देशबंधु चित्तरंजन दास के साथ काँग्रेस पार्टी से अलग होकर अपनी स्वराज पार्टी की स्थापना की थी।
  20. मोतीलाल नेहरू का 1931 में इलाहाबाद में निधन हुआ था।
(Visited 45 times, 1 visits today)
You just read: Motilal Nehru Biography - FAMOUS PEOPLE Topic

Like this Article? Subscribe to feed now!

Leave a Reply

Scroll to top