आईटीएलओएस की न्यायाधीश बनने वाली पहली भारतीय महिला: नीरू चड्ढा का जीवन परिचय


Famous People: Neeru Chadha Biography [Post ID: 12403]



नीरू चड्ढा का जीवन परिचय: (Biography of Neeru Chadha in Hindi)

नीरू चड्ढा एक प्रसिद्ध वकील हैं। वह समुद्र संबंधी कानून से जुड़े विवादों से निपटने वाली संयुक्त राष्ट्र न्यायिक संस्था ‘इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर द लॉ ऑफ द सी’ की न्यायाधीश बनने वाली पहली भारतीय है। नीरू को 9 साल के कार्यकाल के लिए निर्वाचित हुईं।

Quick Info about

नाम नीरू चड्ढा
जन्म तिथि 1996
जन्म स्थान भारत
निधन तिथि
उपलब्धि ‘इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर द लॉ ऑफ द सी’ की न्यायाधीश बनने वाली पहली भारतीय
उपलब्धि वर्ष 2017

नीरू चड्ढा से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Neeru Chadha)

  1. ‘इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर लॉ ऑफ द सी’ (आईटीएलओएस) की स्थापना वर्ष 1996 में हुई थी, जिसका केंद्र जर्मनी के हैमबर्ग में है।
  2. 14 जून 2017 को एक सीट के चुनाव आयोजित हुआ था, जिसमें नीरू चड्ढा को इंटरनेशनल ट्रिब्‍यूनल फॉर द लॉ ऑफ द सी (आइटीएलओएस) की पहली भारतीय महिला के सदस्‍य के रूप में निर्वाचित किया गया।
  3. नीरू चड्ढा 21 सदस्यीय अदालत में स्थान पाने वाली पहली भारतीय महिला न्यायाधीश बनी है।
  4. उन्हें एशिया प्रशांत समूह में सर्वाधिक 120 मत मिले। इस मतदान में 168 देशो ने भाग लिया था।
  5. इससे पहले यह उपलब्धि दिवंगत विजय लक्ष्‍मी पंडित के नाम थी।
  6. नीरू विदेश मामलों के मंत्रालय की मुख्य कानूनी सलाहकार चुनी जाने वाली पहली भारतीय महिला हैं।
  7. नीरू विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव और संयुक्त राष्ट्र मिशन में भारत की सलाहकार रह चुकी हैं।
  8. नीरू चड्ढा ने यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन स्कूल ऑफ लॉ और यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली से कानून में पीएचडी की डिग्री प्राप्त हैं।
  9. नीरू चड्ढा पहली ऐसी एकमात्र उम्मीदवार थीं, जिन्होंने मतदान के पहले चरण में ही चुनाव जीत लिया।
जांचें कि आपने ऊपर क्या पढ़ा? प्रश्नोत्तरी:

इंटरनेशनल ट्रिब्यूनल फॉर लॉ ऑफ द सी (आईटीएलओएस) की स्थापना कब हुई थी?

Correct
Incorrect

14 जून 2017 को हुए एक सीट के चुनाव आयोजन के दौरान इंटरनेशनल ट्रिब्‍यूनल फॉर द लॉ ऑफ द सी (आइटीएलओएस) की पहली भारतीय महिला के सदस्‍य के रूप किसे चुना गया था?

Correct
Incorrect

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.