टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक मारने वाले प्रथम भारतीय खिलाडी: वीरेन्द्र सहवाग का जीवन परिचय


Famous People: Virender Sehwag Biography



वीरेन्द्र सहवाग का जीवन परिचय: (Biography of Virender Sehwag in Hindi)

वीरेन्द्र सहवाग भारत के पूर्व अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाडी हैं। वे दायें हाथ के आक्रामक सलामी बल्लेबाज थे, किन्तु आवश्यकता के समय दायें हाथ से ऑफ स्पिन गेंदबाज़ी भी कर लेते थे। सहवाग ने भारत की तरफ से कुल 104 टेस्ट, 251 वनडे और 19 टी20 अन्तरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। वीरू के खाते में 17,000 से भी अधिक अंतरराष्ट्रीय रन हैं। वीरेन्द्र सहवाग ने अक्टूबर 2015 को क्रिकेट और आईपीएल के सभी प्रारूपों से सन्यास ले लिया था। वर्तमान (अप्रैल 2018) समय में वह आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब टीम के मेंटर और क्रिकेट कमेंटेटर के रूप में कार्यरत है।

Quick Info about First Indian player to score a triple century in Test cricket:

नाम वीरेन्द्र सहवाग
जन्म तिथि 20 अक्टूबर 1978
जन्म स्थान हरियाणा (भारत)
उपलब्धि टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक मारने वाले प्रथम भारतीय खिलाडी
उपलब्धि वर्ष 2001

वीरेन्द्र सहवाग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य: (Important Facts Related to Virender Sehwag)

  • वीरेन्द्र सहवाग का जन्म 20 अक्टूबर 1978 को हरियाणा के एक जाट परिवार में हुआ था।
  • उनके पिता का नाम किशन सहवाग तथा उनकी माता का नाम कृष्णा सहवाग है। सहवाग अपने माता-पिता के चार बच्चों में तीसरे संतान हैं। सहवाग से बड़ी दो बहनें मंजू और अंजू हैं जबकि उनसे छोटा एक भाई है विनोद।
  • वीरेन्द्र सहवाग को प्यार से “वीरू” ही कहते हैं। वैसे उन्हें “नज़फ़गढ़ के नवाब” व “आधुनिक क्रिकेट के ज़ेन मास्टर” के रूप में भी जाना जाता है।
  • अप्रैल 2009 में वीरेन्द्र सहवाग को “विजडन लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द ईयर” के खिताब से नवाज़ा गया था। वे एकमात्र ऐसे भारतीय जिन्हें इस पुरस्कार से नवाजा गया है। उन्होंने अगले वर्ष भी इस ख़िताब को जीता था।
  • वर्ष 2004 में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान में 309 रनों की पारी खेली और टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में तिहरा शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे।
  • साल 2008 में वीरेन्द्र सहवाग ने चेन्नई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 319 रनों की पारी खेली। इस पारी में सहवाग ने महज 278 गेंदों में तिहरा शतक जड़ डाला जो कि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे तेज तिहरा शतक है।
  • सर डोनाल्ड ब्रेडमैन और ब्रायन लारा के बाद सहवाग दुनिया के तीसरे ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो बार तिहरा शतक बनाने का कीर्तिमान स्थापित किया है।
  • सहवाग ने आठ दिसंबर 2011 को इंदौर के होल्कर स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे क्रिकेट में भी दोहरा शतक जड़ डाला, वह तेंदुलकर के बाद इस उपलब्धि को हासिल करने वाले दूसरे बल्लेबाज रहे। उस समय 149 गेंदों में उनके द्वारा बनाया गया 219 रनों का स्कोर वनडे इंटरनेशनल का सबसे बड़ा स्कोर था। हालांकि बाद में भारत के ही रोहित शर्मा ने 13 नवंबर 2014 को 173 गेंदों में 264 रनों की पारी खेलकर इस रिकॉर्ड को तोड़ा।
  • वर्ष 2002 में भारत सरकार द्वारा वीरेन्द्र सहवाग को ‘अर्जुन पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था।
  • सन्‌ 2011 में सहवाग को सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर के नाते “ईएसपीएन क्रिकीन्फो अवार्ड” से नवाजा गया था।
Spread the love, Like and Share!

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Leave a Reply

Your email address will not be published.