डॉ. ज़ाकिर हुसैन का जीवन परिचय | Biography of Dr. Zakir Hussian in Hindi

भारत रत्न डॉ. ज़ाकिर हुसैन का जीवन परिचय – Dr. Zakir Hussian Biography

इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे डॉ. ज़ाकिर हुसैन (Zakir Hussain) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए डॉ. ज़ाकिर हुसैन से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Zakir Hussain Biography and Interesting Facts in Hindi.

डॉ. ज़ाकिर हुसैन के बारे में संक्षिप्त जानकारी

नामडॉ. ज़ाकिर हुसैन (Zakir Hussain)
जन्म की तारीख08 फरवरी 1897
जन्म स्थानहैदराबाद , हैदराबाद राज्य , ब्रिटिश भारत
मृत्यु तिथि03 मई 1969
माता व पिता का नामनाजनीन बेगम / फिदा हुसैन खान
उपलब्धि1967 हैदराबाद , हैदराबाद राज्य , ब्रिटिश भारत
लिंग / पेशा / देशपुरुष / राजनीतिज्ञ / भारत

डॉ. ज़ाकिर हुसैन (Zakir Hussain)

डॉक्टर ज़ाकिर हुसैन भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे, जिनका कार्यकाल 13 मई 1967 से 03 मई 1968 तक था। उनका जन्म 08 फरवरी, 1897 ई. में हैदराबाद, तेलंगाना के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम फ़िदा हुसैन खान था। डॉ० जाकिर हुसैन की प्रारंभिक शिक्षा इस्लामिया हाई स्कूल, इटावा में हुई थी, इसके बाद वह आगे की पढ़ाई के लिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी गए। उन्होंने जर्मनी विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में पी.एच.डी की डिग्री भी प्राप्त की। वे एक व्यावहारिक और आशावादी व्यक्तित्व के इंसान थे।

डॉ. ज़ाकिर हुसैन का जन्म

डॉ. ज़ाकिर हुसैन का जन्म 08 फरवरी, 1897 ई. में हैदराबाद, तेलंगाना के धनाढ्य पठान परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम फ़िदा हुसैन खान और माता का नाम नाजनीन बेगम था| जाकिर हुसैन के माता पिता के सात पुत्र थे जिसमे जाकिर हुसैन दूसरे थे। इनके पिता ने कानून के क्षेत्र में शिक्षा प्राप्त कर रक्खी थी|

डॉ. ज़ाकिर हुसैन की मृत्यु

डॉ. ज़ाकिर हुसैन का निधन 3 मई 1969 (आयु 72 वर्ष) को नई दिल्ली , भारत में हुआ था। ये भारत के पहले ऐसे राष्ट्रपति थे। जिनकी मृत्यु इनके कार्यकाल के समय इनके ऑफिस में हुई थी। इन्हें नई दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया के परिसर में उनकी पत्नी (जो कुछ साल बाद मर गई) के साथ दफनाया गया था।

डॉ. ज़ाकिर हुसैन की शिक्षा

हुसैन की प्रारंभिक प्राथमिक शिक्षा हैदराबाद में पूरी हुई, उन्होंने इस्लामिया हाई स्कूल, इटावा से हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की और फिर क्रिश्चियन डिग्री कॉलेज, लखनऊ विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक किया। ग्रेजुएशन के बाद, वह मुहम्मद एंग्लो-ओरिएंटल कॉलेज में चले गए, फिर इलाहाबाद विश्वविद्यालय से जुड़े, जहां वे एक प्रमुख छात्र नेता थे। उन्होंने 1926 में बर्लिन विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। 1915 में, 18 वर्ष की आयु में, उन्होंने शाहजहाँ बेगम से शादी की और उनकी दो बेटियाँ, सईदा खान और साफिया रहमान थीं।

डॉ. ज़ाकिर हुसैन का करियर

उन्होंने अलीगढ़ में साल 1920 में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की नींव रखी, जो बाद में दिल्ली आ गया। विश्वविद्यालय वर्ष 1927 में बंद होने के कगार पर पहुँच था, लेकिन डॉ॰ जाकिर हुसैन के प्रयासों की वजह यह शैक्षिक संस्थान अपनी लोकप्रियता बरकरार रखने में कामयाब रहा था। उन्होंने लगातार अपना समर्थन देना जारी रखा, इस प्रकार उन्होंने इक्कीस वर्षों तक संस्था को अपना शैक्षिक और प्रबंधकीय नेतृत्व प्रदान किया। वर्ष 1948 में जाकिर हुसैन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति बने और 4 वर्ष के बाद उन्होंने राज्यसभा में प्रवेश किया। वर्ष 1957 में डॉ. जाकिर हुसैन को बिहार राज्य के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया। डॉ. जाकिर हुसैन वर्ष 1962 से 1967 तक भारत के उप-राष्ट्रपति भी रहे है। डॉ० जाकिर हुसैन 13 मई, 1967 को देश के तीसरे राष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित हुए। वे भारत के पहले मुस्लिम राष्ट्रपति थे। देश के युवाओं से सरकारी संस्थानों का बहिष्कार की गाँधी की अपील का हुसैन ने पालन किया। उन्होंने अलीगढ़ में मुस्लिम नेशनल यूनिवर्सिटी (बाद में दिल्ली ले जायी गई) की स्थापना में मदद की और 1926 से 1948 तक इसके कुलपति रहे। महात्मा गाँधी के निमन्त्रण पर वह प्राथमिक शिक्षा के राष्ट्रीय आयोग के अध्यक्ष भी बने, जिसकी स्थापना 1937 में स्कूलों के लिए गाँधीवादी पाठ्यक्रम बनाने के लिए हुई थी। 1948 में हुसैन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति बने और चार वर्ष के बाद उन्होंने राज्यसभा में प्रवेश किया। 1956-58 में वह संयुक्त राष्ट्र शिक्षा, विज्ञान और संस्कृति संगठन (यूनेस्को) की कार्यकारी समिति में रहे। 1957 में उन्हें बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया और 1962 में वह भारत के उपराष्ट्रपति निर्वाचित हुए।

डॉ. ज़ाकिर हुसैन के पुरस्कार

वर्ष 1957 में डॉ. जाकिर हुसैन को बिहार राज्य के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया। डॉ० जाकिर हुसैन को वर्ष 1963 में शिक्षा और राजनीति के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए वर्ष देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न" से सम्मानित किया गया।


नीचे दिए गए प्रश्न और उत्तर प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रख कर बनाए गए हैं। यह भाग हमें सुझाव देता है कि सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। यह प्रश्नोत्तरी एसएससी (SSC), यूपीएससी (UPSC), रेलवे (Railway), बैंकिंग (Banking) तथा अन्य परीक्षाओं में भी लाभदायक है।

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):


  • प्रश्न: अलीगढ़ में साल 1920 में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की नींव किसने रखी, जो बाद में दिल्ली आ गया?
    उत्तर: ज़ाकिर हुसैन
  • प्रश्न: वर्ष 1948 में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति कौन बने थे?
    उत्तर: ज़ाकिर हुसैन
  • प्रश्न: ज़ाकिर हुसैन को पद्द विभूषण से कब सम्मानित किया गया था?
    उत्तर: 1954
  • प्रश्न: वर्ष 1957 में डॉ. जाकिर हुसैन को किस राज्य का राज्यपाल नियुक्त किया गया था?
    उत्तर: बिहार
  • प्रश्न: डॉ.ज़ाकिर हुसैन कब से कब तक भारत के उप-राष्ट्रपति भी रहे है?
    उत्तर: 1962 से 1967

You just read: Zakir Hussain Biography - FAMOUS PEOPLE Topic

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *