भारत के प्रमुख बांधों के नाम, प्रकार, फायदे, नुकसान और उनके स्थान की सूची


General Knowledge: List Of Largest Dams Of India In Hindi
Bharat Ka Kaun-sa Baandh Kis Raajy Mein Sthit Hai Par Aadhaarit Samanya Gyan


भारत के सबसे बड़े बांधो की सूची: (List of Largest Dams of India in Hindi)

बाँध किसे कहते है?

बाँध की परिभाषा: बाँध एक अवरोध होता है, जो पानी को बहने से रोकता है और एक जलाशय बनाने में मदद करता है। इससे बाढ़ आने से तो रुकती ही है, जमा किये गया जल सिंचाई, जलविद्युत, पेय जल की आपूर्ति, नौवहन आदि में भी सहायक होती है।

बांध के प्रकार:

आवश्यकता के अनुसार बांध कई प्रकार के होते हैं, जैसे:-

  • अर्क बांध।
  • ग्रेविटी बांध।
  • अर्क-ग्रेविटी बांध।
  • बर्रगेस बांध।
  • तटबन्ध बांध।
  • रॉक फिल।
  • कंक्रीट फेस रॉक फिल बांध।
  • धरती भरने के बांध।

बांध के लाभ (फायदे):

बांध और जलाशय निम्‍नलिखित मानवीय मूलभूल आवश्‍यकताओं की पूर्ति करने में उल्‍लेखनीय योगदान देते हैं:-

  • उचित रूप से अभिकल्पित तथा सुनिर्मित किए गए बांध लोगों की पेयजल की आवश्‍यकताओं और औद्योगिक आवश्‍यकताओं की पूर्ति करने में जलाशयों में संचित जल का अत्‍य अधिक प्रयोग किया जाता है।
  • बांध और जलाशयों एक निर्माण से वर्षा ऋतु के दौरान अतिरिक्‍त जल का उपयोग शुष्‍क भूमि पर सिंचाई हेतु किया जा सकता है।
  • इस प्रकार की योजनाएं बाढ़ जैसे भयानक खतरे को रोकने में सहायक है।
  • बांध में एकत्रित पानी से विद्युत का उत्पादन होता है।  ऊर्जा देश के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती है। जल विद्युत ऊर्जा का सस्‍ता, स्‍वच्‍छ और नवीनीकरणीय स्‍त्रोत है।
  • बांध के निर्माण से आसपास का स्थान एक झील की तरह सुन्‍दर प्रस्‍तुत करता है,जो एक मनोरंजन का स्‍त्रोत बन जाता हैं। इसके अलावा लोग झील से नौकायन, तैराकी, मत्‍स्‍य पालन इत्‍यादि का भी लाभ उठा सकते हैं।

बांध से होने वाले नुकसान (हानियाँ):

  • नदी पर बांध बनने से नदी के जल का प्रवाह बाधित होता है।
  • बाँध से नदी की शाखाएँ बट जाती है, जो जल में रहने वाले वनस्पति को स्थानांतरित करता है।
  • बाढ़ निर्मित मैदान में बने जल भंडारों में वनस्पति डूब जाती है तथा मृदा विघटित हो जाती है।
  • बहुउद्देशीय परियोजनाएं तथा बड़े बांध नर्मदा बचाओ आंदोलन और टिहरी बांध आंदोलन के जन्मदाता बन गये है क्योंकि लोगो को इनके कारण अपने घरो से पलायन करना पड़ा।
  • बांधों के कारण पानी रुकने से मछलियों की कई प्रजाति समाप्त हो जाती है जिससे जलीय जैव विविधता को नुकसान होता है।
  • बांधो के जलाशयों में रुके पानी में मलेरिया की कीटाणु पनपते हैं. जो जलाशयों के नजदीकी क्षेत्र में रह रहे लोगों की बीमारियाँ बढ़ाते हैं।
  • बाँध के जलाशयों में पत्ते, टहनियां और जानवरों की लाशें नीचे जमती हैं और सड़ने लगती है. तालाब के नीचे इन्हें ऑक्सीजन नहीं मिलती है जिस कारण मीथेन गैस बनती है जो कार्बन डाई ऑक्साइड से ज्यादा ग्लोबल वार्मिंग को बढ़ाती है।

इन्हें भी पढे: नदियों के किनारे बसे भारत के प्रमुख शहर

भारत के प्रमुख बांधों के बारे में रोचक तथ्य:

  • उत्तराखंड में भारत का सबसे ऊंचा और विशाल टिहरी बांध है।
  • टिहरी बांध एशिया का दूसरा सबसे ऊँचा बांध और दुनिया में आठवाँ सबसे ऊँचा बांध है।
  • इस बांध की ऊंचाई 857 फीट (260.5 मीटर) है जबकि इसकी लंबाई 575 मीटर है तथा इससे 2400 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है।
  • सरदार सरोवर बांध भारत का सबसे बड़ा और विश्व का दूसरा सबसे बड़ा बांध है। गुजरात में वडोदरा जिले के दभोई में स्थित सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई 138.68 मीटर और लंबाई 1210 मीटर है।
  • दुनिया के सबसे लंबे बांधों में से एक हीराकुंड बांध ओडिशा के संबलपुर में है। साल 1956 में महानदी पर बने इस बांध की लंबाई 26 किलोमीटर है, जो देश का सबसे लंबा और दुनिया के लंबे बांधों में से एक है।
  • आधुनिक तकनीक से बना नागार्जुन सागर बांध अपनी मजबूती के साथ-साथ अपनी भव्य बनावट और खूबसूरती के लिए भी प्रसिद्ध है। आंध्र प्रदेश के नलगोंडा जिले में कृष्णा नदी पर बना यह बांध आंध्र प्रदेश के लिए सिंचाई का अहम साधन है। नागार्जुन सागर डैम की ऊंचाई 124 मीटर और लंबाई 1450 मीटर है।

आइये जानते है कि भारत का कौन-सा बांध किस नदी पर बना हुआ है तथा किस राज्य में स्थित है:-

भारत के सबसे बड़े बांधो की सूची:

बांध का नाम किस नदी पर बना हुआ है किस राज्य में स्थित है
सरदार सरोवर बांध नर्मदा नदी वडोदरा,गुजरात
टेहरी बांध भागीरथी नदी प्रतापनगर, उत्तराखंड
लखवार बांध यमुना नदी देहरादून, उत्तराखंड
इडुक्की (एब)/इडुक्की आर्च बांध पेरियार नदी तोडुपुलै, केरल
भाखडा बांध सतलुज नदी बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश
पकाल दुल बांध मरुसूदर नदी किश्तवाड़, जम्मू कश्मीर
सरदार सरोवर गुजरात बांध नर्मदा नदी राजपीपल, गुजरात
श्रीसैलम बांध कृष्णा नदी नन्दीकोटकुर, आंध्र प्रदेश
रंजीत सागर बांध रवि नदी पठानकोट, पंजाब
बगलिहार बांध चेनाब नदी रामबाण, जम्मू कश्मीर
चेमेराई बांध रवि नदी भटियात, हिमाचल प्रदेश
चेरुठोणी बांध चेरुठोणी नदी तोडुपुलै, केरला
पांग बांध बीस नदी गोपीपुर, हिमाचल प्रदेश
जमरनी बांध गोला नदी नैनीताल, उत्तराखंड
सुबनसिरी लोअर बांध सुबनसिरी नदी सुबनसिरी, अरुणाचल प्रदेश
रामगंगा बांध रामगंगा नदी लैंसडौन, उत्तराखंड
नागार्जुन सागर बांध कृष्णा नदी गुरुजला, आंध्र प्रदेश
कक्की (एब) बांध कक्की नदी रानी, केरल
नगी बांध नगी नदी जमुई, बिहार
सलाल (रॉकफिल एंड कंक्रीट) बांध चेनाब नदी गुलाब गढ़, जम्मू कश्मीर
लख्या बांध लख्या होल नदी मुदिगेरे, कर्नाटक
शोलयर बांध शोलयर नदी पोलाची, तमिलनाडु
कोयना बांध कोयना नदी पतन, महाराष्ट्र
इदमलयर (एब) बांध इदमलयर नदी देवीकोलम, केरल
सुपा बांध काली नदी सुपा, कर्नाटक
कर्जन बांध कर्जन नदी राजपीपला, गुजरात
धारोई बांध साबरमती नदी मेहसाणा, गुजरात

ऐसे ही अन्य ज्ञान के लिए अभी सदस्य बनें, तथा अपनी ईमेल पर नवीनतम अपडेट प्राप्त करें!

7 Comments:

  1. thanks for such article, very useful.

Comments are closed