भारतीय राज्यों के राजकीय पुष्पों/फूलों के नाम की सूची

भारतीय राज्यों के राजकीय पुष्पों की सूची: (National Flowers of Indian States in Hindi)

यहाँ पर भारत के राष्ट्रीय पुष्प सहित 22 भारतीय राज्यों के राज्य पुष्पों का परिचय दिया गया है। शेष राज्यों और सभी केन्द्रशासित प्रदेशों ने अभी तक अपने राज्य पुष्प घोषित नहीं किए हैं। भारत में राष्ट्रीय पुष्प कमल सहित 17 ऐसे फूल हैं, जिन्हेें राजकीय सम्मान प्राप्त है। कमल को राष्ट्रीय पुष्प होने के साथ ही उड़ीसा, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर और हरियाणा का राज्य पुष्प होने का भी गौरव प्राप्त है। इसके साथ तीन ऐसे फूल हैं, जिन्हें दो-दो राज्यों ने अपना राज्य पुष्प माना है। ये पुष्प हैं—लेडी स्लिपर आर्किड, ब्रह्मकमल और बुरांश। लेडी स्लिपर आर्किड अरुणाचल प्रदेश और मेघालय का, ब्रह्मकमल उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड का तथा बुरांश नागालैंड और हिमाचल प्रदेश का राज्य पुष्प है। इनमें उत्तर प्रदेश का राज्य पुष्प ब्रह्मकमल एवं उत्तराखंड का राज्य पुष्प ब्रह्मकमल दोनों एक ही फूल हैं। इसी प्रकार नागालैंड का राज्य पुष्प बुरांश तथा हिमाचल प्रदेश का राज्य पुष्प बुरांश दोनों एक ही हैं। किन्तु अरुणाचल प्रदेश का राज्य पुष्प लेडी स्लिपर आर्किड और मेघालय का राज्य पुष्प लेडी स्लिपर आर्किड दोनों अलग-अलग फूल हैं। अरुणाचल प्रदेश के राज्य पुष्प लेडी स्लिपर आर्किड का वैज्ञानिक नाम पैफिओपैडिलम फैरिएनम है एवं मेघालय के राज्य पुष्प लेडी स्लिपर आर्किड का वैज्ञानिक नाम पैफिओपैडिलम इन्सिग्ने है। ये दोनों फूल एक ही वंश के हैं, किन्तु दोनों में बहुत-सी असमानताएँ पाई जाती हैं।

भारत के पुष्प:

पुष्प को मनुष्य के द्वारा सजावट और औषधि के लिए उपयोग में लाया जाता है। इसके अलावा घरों और कार्यालयों को सजाने में भी इनका उपयोग बहुतायत से होता है। भारत में पुष्प की खेती एक लंबे अरसे से होती रही है, लेकिन आर्थिक रूप से लाभदायक एक व्यवसाय के रूप में पुष्पों का उत्पादन पिछले कुछ सालों से ही प्रारंभ हुआ है। समकालिक पुष्प जैसे गुलाब, कमल ग्लैडियोलस, रजनीगंधा, कार्नेशन आदि के बढ़ते उत्पादन के कारण गुलदस्ते और उपहारों के स्वरूप देने में इनका उपयोग काफ़ी बढ़ा है। मध्यम वर्ग के जीवनस्तर में सुधार और आर्थिक संपन्नता के कारण पुष्प बाज़ार के विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया और फूलों की खेती को एक विशाल बाज़ार का स्वरूप प्रदान कर दिया है। भारत ने पुष्प उत्पादन में उल्लेखनीय प्रगति की है। देश के लगभग 1.14 लाख हेक्टेयर भूमि पर पुष्प कृषि की जाती है। देश में 6,70,000 मैट्रिक टन फूलों का उत्पादन होता है इसके अलावा 13,009.3 मिलियन काटे गए फूलों का उत्पादन होता है।

भारत के राज्यकीय पुष्पों की सूची:

भारतीय राज्यों के नाम राजकीय पुष्प का नाम पुष्प का वैज्ञानिक नाम
आंध्र प्रदेश नीलकमल
अरुणाचल प्रदेश लेडी स्लिपर आर्किड पैफिओपैडिलम फैरिएनम
असम द्रौपदी माला द्रौपदी माला
बिहार कचनार बहिनिया अकुमिनेटा
छत्तीसगढ़
गोआ
गुजरात
हरियाणा कमल कमल
हिमाचल प्रदेश बुरांश
जम्मू और कश्मीर कमल राहोडोडेंड्रॉन पोंटिकम (एक प्रकार का फल)
झारखंड पलाश पलाश
कर्नाटक कमल कमल
केरल अमलतास अमलतास
लक्षद्वीप
मेघालय लेडी स्लिपर आर्किड पैफिओपैडिलम इन्सिग्ने
मध्य प्रदेश पलाश पलाश
महाराष्ट्र जरुल जरुल
मणिपुर सिरोय कुमुदिनी सिरोय कुमुदिनी
मिज़ोरम लाल वांडा
नागालैंड बुरांश
उड़ीसा सीता अशोक Saraca इंडिका
पॉण्डिचेरी
पंजाब
राजस्थान रोहेड़ा रोहेड़ा
सिक्किम येरूम लेयी (मणिपूरी भाषा मे) येरूम लेयी
तमिलनाडु करी हरी कलिहारी
त्रिपुरा नाग केसर नाग केसर
उत्तराखण्ड (पूर्व नाम उत्तरांचल) बुरांस राहोडोडेंड्रॉन अरबोरिम (एक प्रकार का फल)
उत्तर प्रदेश ब्रह्म कमल ब्रह्म कमल
पश्चिम बंगाल प्राजक्ता प्राजक्ता

इन्हें भी पढे: भारत के राज्यों के राजकीय पक्षियों की सूची

This post was last modified on August 19, 2017 9:45 am

You just read: National Flowers Of Indian States In Hindi - BANKING GK Topic

Recent Posts

22 अक्टूबर का इतिहास भारत और विश्व में – 22 October in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 22 अक्टूबर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

October 22, 2020

भारत और विश्व के अन्य देशों के बीच हुए प्रमुख संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यासों की सूची

भारत के महत्वपूर्ण संयुक्त सैन्य अभ्यास: (List of Important Joint Military Exercises of India in Hindi) सैन्य अभ्यास या परीक्षण किसे कहते…

October 21, 2020

भारतीय थलसेना के अध्‍यक्षों के नाम और उनके कार्यकाल की सूची

भारतीय थलसेना के प्रमुखों के नाम और उनका कार्यकाल: (List of Indian Army Chiefs in Hindi) भारतीय थल सेना: संख्या के…

October 21, 2020

मानव शरीर में होने विभिन्न प्रकार रोगों के नाम हिंदी व अंग्रेजी में

भिन्न प्रकार रोगों के हिन्दी और अंग्रेजी नाम: (Name of Different Diseases in English and Hindi ) रोग किसे कहते है?…

October 21, 2020

21 अक्टूबर का इतिहास भारत और विश्व में – 21 October in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 21 अक्टूबर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

October 21, 2020

विश्व आयोडीन अल्पता दिवस (21 अक्टूबर)

विश्व आयोडीन अल्पता दिवस (21 अक्टूबर): (21 October: World Iodine Deficiency Day in Hindi) विश्व आयोडीन अल्पता दिवस कब मनाया जाता है?…

October 20, 2020

This website uses cookies.