पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता

पुरस्कारों के प्रथम विजेता (First person in awards GK in Hindi): दोस्तो आप इस अध्याय के माध्यम से भारत और विश्व के अलग-अलग क्षेत्रों में दिये जाने वाले प्रमुख पुरस्कारों में प्रथम व्यक्तियों के बारे में सामान्य ज्ञान जानकारी प्राप्त करेंगे। यहाँ आप भारत रत्न प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला संगीतकार, नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाली प्रथम महिला, मिस वर्ल्ड से सम्मानित प्रथम भारतीय महिला, ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार, ऑस्कर पुरस्कार प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला, भारत रत्न प्राप्त करने वाले प्रथम विदेशी, पदम् भूषण से सम्मानित प्रथम खिलाडी, व्यास सम्मान से सम्मानित प्रथम भारतीय, रेमन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रथम भारतीय,अशोक चक्र से सम्मानित भारतीय प्रथम महिला, मिस्टर वर्ल्ड खिताब जीतने वाले प्रथम भारतीय तथा लेनिन शांति पुरस्कार से सम्मानित प्रथम पुरुष आदि जैसे अन्य उपयोगी पोस्ट्स से संबन्धित ज्ञान अर्जित कर सकते है, जिन्हें पढ़कर आप आगामी प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी उचित प्रकार से कर सकते है।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (1)

07-May-1861 – 07-Aug-1941 – रविंद्रनाथ टैगोर एक विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार और दार्शनिक थे। वे अकेले ऐसे भारतीय साहित्यकार हैं जिन्हें नोबेल पुरस्कार मिला है। 16 साल की उम्र में ‘भानुसिम्हा” उपनाम से उनकी कवितायेँ प्रकाशित भी हो गयीं। वह घोर राष्ट्रवादी थे और ब्रिटिश राज की भर्त्सना करते हुए देश की आजादी की मांग की। जलिआंवाला बाग हत्याकांड के बाद उन्होंने अंग्रेजों द्वारा दी गयी “नाइटहुड की उपाधि” को भी त्याग दिया था।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (2)

01-Jun-1929 – 03-May-1981 – नरगिस दत्त भारतीय हिंदी फिल्मों की एक मशहूर अभिनेत्री और भारतीय फिल्मों के विख्यात अभिनेता सुनील दत्त की पत्नी थी। उनका जन्म 01 जून 1929 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुआ था। नरगिस की अभिनेता सुनील दत्त से 11 मार्च 1958 को शादी हुई थी। उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर में कई हिट फिल्मे दी तथा अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किये।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (3)

02-May-1921 – 23-Apr-1992 – सत्यजीत राय एक प्रसिद्ध भारतीय फ़िल्म निर्देशक थे, जिन्हें 20वीं शताब्दी के सर्वोत्तम फ़िल्म निर्देशकों में गिना जाता है। लेकिन लेखक और साहित्यकार के रूप में भी उन्होंने उल्लेखनीय में ख्याति अर्जित की है। सत्यजित राय फ़िल्म निर्माण से संबंधित कई काम ख़ुद ही करते थे। इनमें निर्देशन, छायांकन, पटकथा, पार्श्व संगीत, कला निर्देशन, संपादन आदि शामिल हैं। फ़िल्मकार के अलावा वह कहानीकार, चित्रकार और फ़िल्म आलोचक भी थे। सत्यजित राय ने अपने जीवन में 37 फ़िल्मों का निर्देशन किया, जिनमें फ़ीचर फ़िल्में, वृत्त चित्र और लघु फ़िल्में शामिल हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (4)

28-Apr-1929 – 15-Oct-2020 – भानु अथैया भारतीय सिनेमा में मशहूर ड्रेस डिज़ाइनर के रूप में जानी जाती हैं। वह ऐसी पहली भारतीय महिला हैं, जिन्हें ‘ऑस्कर अवार्ड” से नवाजा गया है। उन्हें 1983 में गांधी फिल्म के लिए बेस्ट कॉस्टयूम डिजाइनर का अकैडमी अवॉर्ड मिला था। उसी साल म्यूजिक डायरेक्टर रवि शंकर भी नॉमिनेट हुए थे लेकिन वो यह अवॉर्ड जीत नहीं पाए थे। 1983 के ऑस्कर में इस फिल्म को 11 श्रेणियों में नॉमिनेट किया गया था। भानु अथैया साढ़े पाँच दशक से हिन्दी सिनेमा में सक्रिय हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (5)

17-Apr-1916 – 10-Oct-200 – सिरिमावो भंडारनायके श्रीलंका की एक प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ और आधुनिक विश्व की पहली महिला प्रधानमंत्री थी। वह श्रीलंका की फ्रीडम पार्टी की नेता थी। साल 1960 में वह दुनिया की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी थी। उनका सामाजिक कार्य श्रीलंका के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं और लड़कियों के जीवन को बेहतर बनाने पर केंद्रित था।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (6)

07-Apr-1920 – 11-Dec-2012 – पण्डित रवि शंकर एक विश्वविख्यात भारतीय सितार वादक और संगीतज्ञ थे। उन्हें पूरी दुनिया में शास्त्रीय संगीत में भारत का दूत माना जाता था। भारतीय संगीत को दुनिया भर में सम्मान दिलाने वाले पंडित रविशंकर को भारतरत्न, पद्म भूषण, पद्मविभूषण, मैगसैसे, तीन ग्रैमी अवॉर्ड सहित देश-विदेश के न जाने कितने पुरस्कार मिले।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (7)

30-Mar-1908 – 08-Mar-1994 – देविका रानी हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। इनका योगदान भारतीय सिनेमा के लिये बहुत महत्वपूर्ण रहा है। स्कूल की शिक्षा समाप्त करने के बाद 1920 के दशक के आरंभिक वर्षों में देविका रानी नाट्य शिक्षा ग्रहण करने के लिये लंदन चली गईं और वहाँ वे ‘रॉयल एकेडमी ऑफ ड्रामेटिक आर्ट” (RADA) और रॉयल ‘एकेडमी ऑफ म्युजिक” नामक संस्थाओं में भर्ती हो गईं। जिस जमाने में भारत की महिलायें घर की चारदीवारी के भीतर भी घूंघट में मुँह छुपाये रहती थीं,उस समय देविका रानी ने चलचित्रों में काम करके अदम्य साहस का प्रदर्शन किया था। उन्हें उनके अद्वितीय सुंदरता के लिये भी हमेशा याद किया जाता रहेगा।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (8)

31-Jan-1923 – 03-Nov-1947 – मेजर सोमनाथ शर्मा भारतीय सेना की कुमाऊँ रेजिमेंट की चौथी बटालियन की डेल्टा कंपनी के कंपनी-कमांडर थे जिन्होंने अक्टूबर-नवम्बर, 1947 के भारत-पाक संघर्ष में अपनी वीरता से शत्रु के छक्के छुड़ा दिये। साल 1950 में भारत सरकार ने उन्हें मरणोपरान्त भारत की सेना का सबसे बड़ा अलंकरण ‘परमवीर चक्र‘ से सम्मानित किया था।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (9)

21-Jan-1944 – प्रतिभा राय ओड़िया भाषा की एक मशहूर लेखिका हैं। उन्होंने अपने उपन्यासों के माध्यम से सामाजिक अन्याय और भष्ट्राचार के विरुद्ध आवाज़ बुलंद की। उन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय साहित्यिक और शैक्षिक सम्मेलनों में भाग लेने के लिए भारत के अंदर बहुत बड़े पैमाने पर यात्रा की है। इनको 2011में 47वें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।इनके अब तक 20 उपन्यास, 24 लघुकथा संग्रह, 10 यात्रा वृत्तांत, दो कविता संग्रह और कई निबंध प्रकाशित हो चुके हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (10)

06-Feb-1890 – 20-Jan-1988 – ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ान एक महान् राजनेता थे जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया था। ब्रिटिश सरकार से आजादी के लिए संघर्षरत ‘स्वतंत्र पख्तूनिस्तान” आंदोलन के प्रणेता थे। अब्दुल गफ्फार खान एक राजनैतिक और आध्यात्मिक नेता थे जिन्हें महात्मा गाँधी की तरह उनके अहिंसात्मक आन्दोलन के लिए जाना जाता है। उनका लक्ष्य संयुक्त, स्वतन्त्र और धर्मनिरपेक्ष भारत बनाने का था। इसके लिये उन्होने 1930 में खुदाई खिदमतगार नाम के संग्ठन की स्थापना की। और यह संगठन “सुर्ख पोश”(या लाल कुर्ती दल ) के नाम से भी जान जाता है।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (11)

15-Jan-1888 – 09-Oct-1963 – सैफुद्दीन किचलू एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, वकील, व भारतीय राष्ट्रवादी मुस्लिम नेता थे। एक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनेता, वह पहली बार पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख बने और बाद में 1924 में एआईसीसी के महासचिव बने।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (12)

02-Oct-1904 – 11-Jan-1966 – लाल बहादुर शास्त्री स्वतंत्र भारत के दूसरे प्रधानमंत्री एवं स्वतंत्रता सेनानी थे। वह 09 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 तक लगभग 18 महीने देश के प्रधानमंत्री रहे। शारीरिक कद में छोटे होने के बावजूद भी वह महान साहस और इच्छाशक्ति के व्यक्ति थे। वर्ष 1966 में लाल बहादुर शास्त्री को उनकी सादगी, देशभक्ति और ईमानदारी के लिये मरणोपरान्त देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न‘ से सम्मानित किया गया था।

संबंधित खोज शब्द: महत्वपूर्ण पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता से संबंधित संग्रह, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता सामान्य ज्ञान, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता रोचक ज्ञान, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता वस्तुनिष्ठ प्रश्नोत्तरी, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अध्ययन सामग्री