पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता

पुरस्कारों के प्रथम विजेता (First person in awards GK in Hindi): दोस्तो आप इस अध्याय के माध्यम से भारत और विश्व के अलग-अलग क्षेत्रों में दिये जाने वाले प्रमुख पुरस्कारों में प्रथम व्यक्तियों के बारे में सामान्य ज्ञान जानकारी प्राप्त करेंगे। यहाँ आप भारत रत्न प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला संगीतकार, नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाली प्रथम महिला, मिस वर्ल्ड से सम्मानित प्रथम भारतीय महिला, ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम साहित्यकार, ऑस्कर पुरस्कार प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला, भारत रत्न प्राप्त करने वाले प्रथम विदेशी, पदम् भूषण से सम्मानित प्रथम खिलाडी, व्यास सम्मान से सम्मानित प्रथम भारतीय, रेमन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रथम भारतीय,अशोक चक्र से सम्मानित भारतीय प्रथम महिला, मिस्टर वर्ल्ड खिताब जीतने वाले प्रथम भारतीय तथा लेनिन शांति पुरस्कार से सम्मानित प्रथम पुरुष आदि जैसे अन्य उपयोगी पोस्ट्स से संबन्धित ज्ञान अर्जित कर सकते है, जिन्हें पढ़कर आप आगामी प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी उचित प्रकार से कर सकते है।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (1)

25-Jul-1956 – फ्रांसिस अर्नोल्ड एक अमेरिकी वैज्ञानिक और इंजीनियर है। उन्होंने विकसित जैविक प्रणालियों का निर्माण करने के तरीकों का विकास किया, जिनमें एंजाइम, चयापचय मार्ग, आनुवंशिक नियामक सर्किट और जीव शामिल हैं। 2018 में इन्हें , इंजीनियर एंजाइमों को निर्देशित विकास के उपयोग के लिए रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (2)

17-Jul-1959 – डॉ॰ नागराज राव हवलदार भारत के एक प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक हैं। नागराज राव मूर्ति देवी पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले भारतीय व्यक्ति है। वे नियमित रूप से विप्रो, कंप्यूटर एसोसिएट्स, बिरला 3M और खोडेज जैसे कंपनियों के लिए संगीत पर व्याख्यान और वर्कशॉप का आयोजन करते हैं, साथ ही वे कर्नाटक पाठ्यपुस्तक निदेशालय के लिए हिन्दुस्तानी संगीत के लिए पाठ्यपुस्तक समिति के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (3)

08-Jan-1909 – 13-Jul-1995 – आशापूर्णा देवी एक प्रसिद्ध बंगाली कवयित्री और उपन्यासकार थीं। इनका परिवार एक मध्यमवर्गीय परिवार था। इनके पिता एक अच्छे चित्रकार थे और इनकी माता की बांग्ला साहित्य में गहरी रुचि थी। पिता की चित्रकारी में रुचि और माँ के साहित्य प्रेम की वजह से आशापूर्णा देवी को उस समय के जाने-माने साहित्यकारों और कला शिल्पियों से निकट परिचय का अवसर मिला। उनकी प्रमुख रचनाएँ निम्न है जैसे; स्वर्णलता, प्रथम प्रतिश्रुति, प्रेम और प्रयोजन, बकुलकथा, गाछे पाता नील, जल, आगुन आदि। उन्हें 1976 में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। यह पुरस्कार प्राप्त करने वाली वे पहली महिला हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (4)

07-Nov-1867 – 04-Jul-1934 – मैरी क्यूरी विख्यात भौतिकविद और रसायनशास्त्री थी। मेरी ने रेडियम की खोज की थी। मैडम क्युरी एक रशियन महिला थीं। मैरी क्युरी फ्रांस में डॉक्टरेट पूरा करने वाली पहली महिला हैं। उनको पेरिस विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने वाली पहली महिला होने का भी गौरव प्राप्त हुआ। उन्हें रसायन विज्ञान के क्षेत्र में रेडियम के शुद्धीकरण (आइसोलेशन ऑफ प्योर रेडियम) के लिए रसायनशास्त्र का नोबेल पुरस्कार भी मिला। ये पहली ऐसी पहली महिला वैज्ञानिक हैं जिन्हें विज्ञान की दो शाखाओं में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (5)

21-Jun-1947 – शिरीन एबादी एक ईरानी वकील, एक पूर्व न्यायाधीश और मानवाधिकार कार्यकर्ता और ईरान में मानवाधिकार केंद्र के रक्षकों की संस्थापक हैं। उन्हें साल 1965 में तेहरान विश्वविद्यालय के कानून विभाग में भर्ती कराया गया था। उन्हें 2003 में शान्ति के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह प्रथम मुसलमान महिला थी जो नोबेल पुरस्कार की विजेता थी| 1975 में, वह तेहरान शहर की अदालत की पहली महिला अध्यक्ष बनीं वह ईरान में पहली महिला न्यायाधीश भी थीं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (6)

19-Jun-1945 – आंग सान सून की एक राजनेता, राजनीतिक और लेखक हैं। वे बर्मा के राष्ट्रपिता आंग सान की पुत्री हैं, जिनकी 1947 में राजनीतिक हत्या हुई थी। सू ची ने बर्मा में लोकतन्त्र की स्थापना के लिए लंबा संघर्ष किया था। वह अब बर्मा के स्टेट काउंसलर हैं और इसकी 20 वीं (और पहली महिला) विन माइंट मंत्रिमंडल में विदेश मंत्री हैं ।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (7)

03-Jun-1901 – 02-Feb-1978 – गोविन्द शंकर कुरुप या जी शंकर कुरुप मलयालम भाषा के प्रसिद्ध कवि थे। उनकी प्रसिद्ध रचना ‘ओटक्कुष़ल” अर्थात ‘बाँसुरी” भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले साहित्य के सर्वोच्च सम्मान ‘ज्ञानपीठ पुरस्कार”से सम्मानित हुई थी। ‘महाकवि” गोविंद शंकर कुरुप की 40 से अधिक मौलिक और अनूदित कृतियाँ प्रकाशित हो चुकी हैं। , जिसमें 25 काव्यशास्त्र, लघु कथाएँ, संस्मरण, नाटक और गद्य शामिल हैं इसके पश्चात भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया ।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (8)

01-Jun-1929 – 03-May-1981 – नरगिस दत्त भारतीय हिंदी फिल्मों की एक मशहूर अभिनेत्री और भारतीय फिल्मों के विख्यात अभिनेता सुनील दत्त की पत्नी थी। उनका जन्म 01 जून 1929 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुआ था। नरगिस की अभिनेता सुनील दत्त से 11 मार्च 1958 को शादी हुई थी। उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर में कई हिट फिल्मे दी तथा अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किये।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (9)

10-Oct-1912 – 30-May-2000 – डा० राम विलास शर्मा आधुनिक हिन्दी साहित्य के सुप्रसिद्ध आलोचक, निबंधकार, विचारक एवं कवि थे। वे अंग्रेजी के प्रोफेसर भी थे। डा. रामविलास शर्मा भारत के प्रथम ‘व्यास सम्मान” विजेता थे। रामविलास शर्मा ने अपनी सुदीर्घ लेखन यात्रा में लगभग 100 महत्वपूर्ण पुस्तकों का सृजन किया था। जिनमें ‘भारतेंदु युग”, ‘महावीरप्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण”, ‘निराला की साहित्य साधना”, ‘भारत में अंग्रेज़ी राज और मार्क्सवाद”, ‘पश्चिमी एशिया और ऋग्‍वेद”, ‘भारतीय नवजागरण और यूरोप”, ‘भारतीय संस्कृति और हिन्दी प्रदेश”, ‘गाँधी, आंबेडकर, लोहिया और भारतीय इतिहास की समस्याएँ, जैसी कालजयी रचनाएँ शामिल हैं।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (10)

20-May-1990 – 28-Dec-1997 – सुमित्रानंदन पंत हिंदी साहित्य के एक मशहूर कवि थे। इस युग को जयशंकर प्रसाद, महादेवी वर्मा, सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला” और रामकुमार वर्मा जैसे कवियों का युग कहा जाता है। सुमित्रानंदन पंत को हिन्दी का ‘वर्डस्वर्थ” कहा जाता है। सुमित्रानंदन पंत ऐसे साहित्यकारों में गिने जाते हैं, जिनका प्रकृति चित्रण समकालीन कवियों में सबसे बेहतरीन था। वर्ष 1968 में सुमित्रानंदन पंत को उनकी प्रसिद्ध कविता संग्रह “चिदम्बरा” के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (11)

07-May-1861 – 07-Aug-1941 – रविंद्रनाथ टैगोर एक विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार और दार्शनिक थे। वे अकेले ऐसे भारतीय साहित्यकार हैं जिन्हें नोबेल पुरस्कार मिला है। 16 साल की उम्र में ‘भानुसिम्हा” उपनाम से उनकी कवितायेँ प्रकाशित भी हो गयीं। वह घोर राष्ट्रवादी थे और ब्रिटिश राज की भर्त्सना करते हुए देश की आजादी की मांग की। जलिआंवाला बाग हत्याकांड के बाद उन्होंने अंग्रेजों द्वारा दी गयी “नाइटहुड की उपाधि” को भी त्याग दिया था।

पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता, प्रसिद्ध व्यक्ति (12)

02-May-1921 – 23-Apr-1992 – सत्यजीत राय एक प्रसिद्ध भारतीय फ़िल्म निर्देशक थे, जिन्हें 20वीं शताब्दी के सर्वोत्तम फ़िल्म निर्देशकों में गिना जाता है। लेकिन लेखक और साहित्यकार के रूप में भी उन्होंने उल्लेखनीय में ख्याति अर्जित की है। सत्यजित राय फ़िल्म निर्माण से संबंधित कई काम ख़ुद ही करते थे। इनमें निर्देशन, छायांकन, पटकथा, पार्श्व संगीत, कला निर्देशन, संपादन आदि शामिल हैं। फ़िल्मकार के अलावा वह कहानीकार, चित्रकार और फ़िल्म आलोचक भी थे। सत्यजित राय ने अपने जीवन में 37 फ़िल्मों का निर्देशन किया, जिनमें फ़ीचर फ़िल्में, वृत्त चित्र और लघु फ़िल्में शामिल हैं।

संबंधित खोज शब्द: महत्वपूर्ण पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता से संबंधित संग्रह, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता सामान्य ज्ञान, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता रोचक ज्ञान, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता वस्तुनिष्ठ प्रश्नोत्तरी, पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अध्ययन सामग्री