वरिष्ठ पदाधिकारी

वरिष्ठ पदाधिकारी सामान्य ज्ञान (Superior Positions biography in Hindi): दोस्‍तो इस पोस्ट के माध्यम से आप भारत और विश्व के विभिन्न कार्यालय, संस्थाओं, आयोगों, बैंकों, राजनीतिक पार्टी, राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संगठन, न्यायालयों के वरिष्ठ पदों पर आसीन व्यक्तियों के बारे में महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान जानकारी प्राप्त कर सकते है, जिससे आप आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं में देश और दुनिया के वरिष्ठ पदों पर कार्यरत चर्चित व्यक्तियों से सम्‍बन्धित पूछे जाने प्रश्‍नों की तैयारी ठीक प्रकार से कर सके।

25-Nov-1926 – 13-Sep-2012 – रंगनाथ मिश्र देश के सर्वोच्च न्यायालय के भूतपूर्व न्यायाधीश रहे हैं। रंगनाथ मिश्र वर्ष 1993 में भारत के राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के पहले अध्यक्ष चुने गए थे।वह इस्लाम के बाद राज्यसभा सदस्य बनने वाले दूसरे सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश हैं

28-Aug-0195 – जस्ट‍िस जेएस खेहर भारत के 44वें मुख्य न्यायाधीश हैं। उन्होंने 04 जनवरी 2017 को प्रधान न्यायाधीश के पद की शपथ ग्रहण की और 27 अगस्त 2017 तक वे इस पद पर रहे। जस्टिस खेहर देश के पहले सिख चीफ जस्ट‍िस हैं। 64 साल के जस्टिस जे एस खेहर का पूरा नाम जगदीश सिंह खेहर है और लोग इन्हें इनके सख्त मिजाज की वजह से भी जानते हैं।

1947 – 26-Aug-2019 – कंचन चौधरी उत्तराखंड पुलिस की पूर्व महानिदेशक है। कुछ समय पहले इन्होंने राजनीति में कदम रखा था और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में हरिद्वार, उत्तराखंड से 2014 के भारतीय आम चुनाव में भाग लिया था।

28-Feb-1952 – 24-Aug-2019 – अरुण जेटली एक भारतीय राजनीतिज्ञ और वकील थे, जो 2014 से 2019 तक भारत सरकार के वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री थे। अरुण जेटली ने स्वास्थ्य मुद्दों के कारण 2019 में मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने का फैसला किया। उनका निधन 24 अगस्त 2019 को एम्स , नई दिल्ली में दोपहर 12: 07 बजे हो गया। उन्हें सार्वजनिक मामलों के क्षेत्र में 2020 में मरणोपरांत भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया ।

21-Aug-1947 – मारग्रेट चान एक चीनी-कनाडाई चिकित्सक है, उन्होंने 2006-2017 तक विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक के रूप में कार्य किया था।

09-Jun-1949 – डॉ॰ किरण बेदी भारतीय पुलिस सेवा की सेवानिवृत्त अधिकारी, सामाजिक कार्यकर्ता, भूतपूर्व टेनिस खिलाड़ी एवं राजनेता हैं। जुलाई 1972 में, वह भारतीय पुलिस सेवा में शामिल हो गई, ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला बनी। किरण बेदी वर्तमान में पुडुचेरी की उप-राज्यपाल है। उन्होंने ‘इट्स ऑलवेज़ पॉसीबल” और ‘लीडर एंड गवर्नेंस” नाम की दो किताबें भी लिखी हैं।

03-Feb-1821 – 31-May-1910 – एलिजाबेथ ब्लैकवेल संयुक्त राज्य अमेरिका में मेडिकल स्कूल से स्नातक होने वाली पहली महिला थी। वह अपने जीवनकाल के दौरान एक अग्रणी सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता बन गई थी। उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम दोनों में एक सामाजिक जागरूकता और नैतिक सुधारक के रूप में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी | इनके योगदान के लिए , प्रतिवर्ष एक महिला को एलिजाबेथ ब्लैकवेल मेडल दिया जाता है जो चिकित्सा में महिलाओं के प्रोत्साहन के लिए महत्वपूर्ण योगदान देता है।

07-Apr-1932 – एक भारतीय सांसद और राष्ट्रीय महिला आयोग से जुड़ी सामाजिक कार्यकर्ता है। तथा वे राष्ट्रीय महिला आयोग की पहली अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। उनका कार्यकाल 3 फरवरी 1992 से 30 जनवरी 1995 तक रहा हैउनकी प्रारंभिक शिक्षा हरिहर हाई स्कूल, अस्का में हुयी। तत्पश्चात उन्होने उत्कल विश्वविद्यालय कटक से स्नातकोत्तर कला की पढ़ाई पूरी की।

31-Mar-1945 – मीरा कुमार एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं और पांच बार लोकसभा सदस्य रही हैं। वह 2017 के भारतीय राष्ट्रपति चुनाव में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के उम्मीदवार थी। मीरा कुमार का जन्म 31 मार्च 1945 को पटना में हुआ था। वे पूर्व भारतीय उपप्रधानमंत्री श्री जगजीवन राम की सुपुत्री हैं। उन्होंने साल 1985 में हुए बिजनौर लोकसभा उपचुनाव में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और कद्दावर दलित नेता रामविलास पासवान को हराकर पहली बार संसद में आई थी।

08-Oct-1911 – 21-Jan-1983 – वाइस एडमिरल रामदास कटारी एक भारतीय नौसेना अधिकारी थे। वह पद धारण करने वाले पहले भारतीय थे। वाईस एडमिरल रामदास कटारी 22 अप्रैल 1958 से 04 जून 1962 तक भारतीय नौसेना के तीसरे अध्यक्ष के रूप में कार्यरत थे। उनका जन्म 08 अक्टूबर 1911 को चिंगलेप, मद्रास प्रेसीडेंसी में हुआ था। उन्होंने अपना बचपन हैदराबाद में बिताया था। उन्होंने महबूब कॉलेज हाई स्कूल और हैदराबाद में निजाम कॉलेज से शिक्षा प्राप्त की थी।

10-Dec-1945 – रंजना कुमार एक प्रसिद्ध भारतीय बैंकर हैं। कृषि और ग्रामीण विकास के लिए राष्ट्रीय बैंक (नाबार्ड) के अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवानिवृत्ति के बाद रंजना कुमार केन्द्रीय सतर्कता आयोग में सतर्कता आयुक्त थी। जिन्होंने 1966 में बैंक ऑफ इंडिया में प्रोबेशनरी ऑफिसर के रूप में अपना बैंकिंग करियर शुरू किया था

03-Nov-1890 – 06-Nov-1951 – एच. जे. कनिया भारत के सर्वोच्च न्यायालय के भूतपूर्व न्यायाधीश रहे हैं। 26 जनवरी को जब स्वतंत्र भारत एक गणराज्य बना तो हरिलाल जेकिसुनदास कनिया देश के सर्वोच्च न्यायालय के पहले मुख्य न्यायाधीश बने और उन्होने भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद के सामने अपनी शपथ ग्रहण की। उनका कार्यकाल 26 जनवरी 1950 से 06 नवम्बर 1951 तक रहा।

संबंधित खोज शब्द: महत्वपूर्ण वरिष्ठ पदाधिकारी से संबंधित संग्रह, वरिष्ठ पदाधिकारी सामान्य ज्ञान, वरिष्ठ पदाधिकारी रोचक ज्ञान, वरिष्ठ पदाधिकारी वस्तुनिष्ठ प्रश्नोत्तरी, वरिष्ठ पदाधिकारी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अध्ययन सामग्री