पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता

प्रथम पुरस्कार विजेताओं की सूची: दोस्तों, इस अध्याय के माध्यम से आपको भारत और दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में दिए जाने वाले प्रमुख पुरस्कारों में प्रथम व्यक्तियों के बारे में सामान्य ज्ञान की जानकारी मिलेगी। यहां आप भारत रत्न प्राप्त करने वाली पहली भारतीय महिला संगीतकार, नोबेल पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली महिला, मिस वर्ल्ड से सम्मानित होने वाली पहली भारतीय महिला, ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली साहित्यकार, ऑस्कर प्राप्त करने वाली पहली भारतीय महिला पा सकते हैं। भारत रत्न पाने वाले पहले व्यक्ति। विदेशी, पद्म भूषण से सम्मानित होने वाले पहले खिलाड़ी, व्यास सम्मान से सम्मानित होने वाले पहले भारतीय, रेमन मैग्सेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले भारतीय, अशोक चक्र से सम्मानित होने वाली पहली भारतीय महिला, मिस्टर वर्ल्ड का खिताब जीतने वाली पहली भारतीय और लेनिन से सम्मानित होने वाले पहले व्यक्ति शांति पुरस्कार आदि। आप अन्य उपयोगी पदों से संबंधित ज्ञान अर्जित कर सकते हैं, जिसे पढ़कर आप आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ठीक से तैयारी कर सकते हैं।

📁 पुरस्कारों के प्रथम प्राप्तकर्ता (36 विषय मिले)

02-May-1921 - 23-Apr-1992 - सत्यजीत राय एक प्रसिद्ध भारतीय फ़िल्म निर्देशक थे, जिन्हें 20वीं शताब्दी के सर्वोत्तम फ़िल्म निर्देशकों में गिना जाता है। लेकिन लेखक और साहित्यकार के रूप में भी उन्होंने उल्लेखनीय में ख्याति अर्जित की है। सत्यजित राय फ़िल्म निर्माण से संबंधित कई काम ख़ुद ही करते थे। इनमें निर्देशन, छायांकन, पटकथा, पार्श्व संगीत, कला निर्देशन, संपादन आदि शामिल हैं। फ़िल्मकार के अलावा वह कहानीकार, चित्रकार और फ़िल्म आलोचक भी थे। सत्यजित राय ने अपने जीवन में 37 फ़िल्मों का निर्देशन किया, जिनमें फ़ीचर फ़िल्में, वृत्त चित्र और लघु फ़िल्में शामिल हैं।

01-Jun-1929 - 03-May-1981 - नरगिस दत्त भारतीय हिंदी फिल्मों की एक मशहूर अभिनेत्री और भारतीय फिल्मों के विख्यात अभिनेता सुनील दत्त की पत्नी थी। उनका जन्म 01 जून 1929 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में हुआ था। नरगिस की अभिनेता सुनील दत्त से 11 मार्च 1958 को शादी हुई थी। उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर में कई हिट फिल्मे दी तथा अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किये।

03-Jun-1901 - 02-Feb-1978 - गोविन्द शंकर कुरुप या जी शंकर कुरुप मलयालम भाषा के प्रसिद्ध कवि थे। उनकी प्रसिद्ध रचना ‘ओटक्कुष़ल' अर्थात ‘बाँसुरी' भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले साहित्य के सर्वोच्च सम्मान ‘ज्ञानपीठ पुरस्कार'से सम्मानित हुई थी। ‘महाकवि' गोविंद शंकर कुरुप की 40 से अधिक मौलिक और अनूदित कृतियाँ प्रकाशित हो चुकी हैं। , जिसमें 25 काव्यशास्त्र, लघु कथाएँ, संस्मरण, नाटक और गद्य शामिल हैं इसके पश्चात भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया ।

19-Jun-1945 - आंग सान सून की एक राजनेता, राजनीतिक और लेखक हैं। वे बर्मा के राष्ट्रपिता आंग सान की पुत्री हैं, जिनकी 1947 में राजनीतिक हत्या हुई थी। सू ची ने बर्मा में लोकतन्त्र की स्थापना के लिए लंबा संघर्ष किया था। वह अब बर्मा के स्टेट काउंसलर हैं और इसकी 20 वीं (और पहली महिला) विन माइंट मंत्रिमंडल में विदेश मंत्री हैं ।

21-Jun-1947 - शिरीन एबादी एक ईरानी वकील, एक पूर्व न्यायाधीश और मानवाधिकार कार्यकर्ता और ईरान में मानवाधिकार केंद्र के रक्षकों की संस्थापक हैं। उन्हें साल 1965 में तेहरान विश्वविद्यालय के कानून विभाग में भर्ती कराया गया था। उन्हें 2003 में शान्ति के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह प्रथम मुसलमान महिला थी जो नोबेल पुरस्कार की विजेता थी| 1975 में, वह तेहरान शहर की अदालत की पहली महिला अध्यक्ष बनीं वह ईरान में पहली महिला न्यायाधीश भी थीं।

17-Jul-1959 - डॉ॰ नागराज राव हवलदार भारत के एक प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक हैं। नागराज राव मूर्ति देवी पुरस्कार प्राप्त करने वाले पहले भारतीय व्यक्ति है। वे नियमित रूप से विप्रो, कंप्यूटर एसोसिएट्स, बिरला 3M और खोडेज जैसे कंपनियों के लिए संगीत पर व्याख्यान और वर्कशॉप का आयोजन करते हैं, साथ ही वे कर्नाटक पाठ्यपुस्तक निदेशालय के लिए हिन्दुस्तानी संगीत के लिए पाठ्यपुस्तक समिति के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं।

25-Jul-1956 - फ्रांसिस अर्नोल्ड एक अमेरिकी वैज्ञानिक और इंजीनियर है। उन्होंने विकसित जैविक प्रणालियों का निर्माण करने के तरीकों का विकास किया, जिनमें एंजाइम, चयापचय मार्ग, आनुवंशिक नियामक सर्किट और जीव शामिल हैं। 2018 में इन्हें , इंजीनियर एंजाइमों को निर्देशित विकास के उपयोग के लिए रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

07-May-1861 - 07-Aug-1941 - रविंद्रनाथ टैगोर एक विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार और दार्शनिक थे। वे अकेले ऐसे भारतीय साहित्यकार हैं जिन्हें नोबेल पुरस्कार मिला है। 16 साल की उम्र में ‘भानुसिम्हा' उपनाम से उनकी कवितायेँ प्रकाशित भी हो गयीं। वह घोर राष्ट्रवादी थे और ब्रिटिश राज की भर्त्सना करते हुए देश की आजादी की मांग की। जलिआंवाला बाग हत्याकांड के बाद उन्होंने अंग्रेजों द्वारा दी गयी “नाइटहुड की उपाधि” को भी त्याग दिया था।

19-Aug-1989 - रोहित खंडेलवाल एक भारतीय मॉडल, अभिनेता, और टेलीविजन व्यक्तित्व हैं। रोहित खंडेलवाल, टेडेक्स यूपीईएस में पेट्रोलियम और ऊर्जा अध्ययन विश्वविद्यालय, देहरादून में टेड स्पीकर भी रहे हैं। इन्होने 2016 में मिस्टर वर्ल्ड का ख़िताब को जीता था | इनके नाम मिस्टर वर्ल्ड का ख़िताब हासिल करने का रिकार्ड है जो पहले एशियाई विजेता हैं।

18-Feb-1927 - 19-Aug-2019 - मोहम्मद ज़हूर 'खय्याम' हाशमी एक भारतीय फ़िल्मों के प्रसिद्ध संगीतकार थे। उनकी पहली फिल्म वर्ष 1982 में आयी थी फ़िल्म उमराव जान के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार भी प्राप्त हुआ था| कला क्षेत्र में उनके योगदान के लिए खय्याम को वर्ष 2011 में भारत सरकार द्वारा पदम् भूषण पुरस्कार प्रदान किया गया था|

23-Aug-1943 - रीता फारिया एक भारतीय मॉडल है। उन्होंने वर्ष 1966 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीता था और ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय और एशियाई मूल की महिला वे मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भी बतौर जज शामिल हो चुकी हैं। वर्तमान में वे डबलिन, आयरलैंड में अपने एंडोक्राइनोलॉजिस्ट पति डेविड पॉवेलके साथ रहती है।

26-Aug-1910 - 05-Sep-1997 - मदर टेरसा रोमन कैथोलिक नन थीं, जिन्होंने वर्ष 1948 में स्वेच्छा से भारतीय नागरिकता ले ली थी। उन्होंने 45 सालों तक गरीब, बीमार, अनाथ और मरते हुए लोगों की इन्होंने मदद की और साथ ही मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी के प्रसार का भी मार्ग प्रशस्त किया। इन्हें1979 में नोबेल शांति पुरस्कार और 19800 में भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न प्रदान किया गया। मदर टेरसा की मृत्यु के बाद इन्हें पोप जॉन पॉल द्वितीय ने धन्य घोषित किया और इन्हें कोलकाता की धन्य की उपाधि प्रदान की।

07-Sep-1963 - 05-Sep-1986 - नीरजा मुंबई में पैन ऍम एयरलाइन्स की विमान परिचारिका (एयर होस्टेस) थीं। नीरजा का जन्म 07 सितंबर 1963 को चंडीगढ़ में हुआ था। नीरजा की प्रारंभिक शिक्षा अपने गृहनगर चंडीगढ़ के सैक्रेड हार्ट सीनियर सेकेण्डरी स्कूल में हुई। इसके पश्चात् उनकी शिक्षा मुम्बई के स्कोटिश स्कूल और सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज में हुई। नीरजा का विवाह वर्ष 1985 में हुआ था।

28-Sep-1982 - अभिनव सिंह बिंद्रा एक रिटायर्ड भारतीय शूटर और 10 मी. एयर राइफल प्रतियोगिता के वर्ल्ड एवं ओलंपिक चैंपियन है। 2008 के बीजिंग ओलंपिक खेल की 10 मी. एयर राइफल में गोल्ड मेडल जीतने के बाद ओलंपिक खेलो में किसी एकल भारतीय द्वारा गोल्ड जीतने वाले वे पहले भारतीय है। वह पहले भारतीय हैं जिन्होंने विश्व और ओलंपिक खिताबों के लिए समवर्ती आयोजन किया है अपने 22 साल के करियर में 150 से अधिक पदकों के साथ, वह भारत सरकार से पद्म भूषण प्राप्त करने वाले हैं और देश में खेल नीति के शीर्ष प्रभावशाली खिलाड़ियों में से एक है| भारतीय खेलों के लिए बिंद्रा की प्राथमिक पहुंच अभिनव बिंद्रा फाउंडेशन के माध्यम से है, जो एक गैर-लाभकारी संगठन है जो खेल, विज्ञान और प्रौद्योगिकी को भारतीय खेलों में एकीकृत करने और उच्च प्रदर्शन वाले शारीरिक प्रशिक्षण को प्रोत्साहित करने के लिए काम करता है ।

10-Oct-1912 - 30-May-2000 - डा० राम विलास शर्मा आधुनिक हिन्दी साहित्य के सुप्रसिद्ध आलोचक, निबंधकार, विचारक एवं कवि थे। वे अंग्रेजी के प्रोफेसर भी थे। डा. रामविलास शर्मा भारत के प्रथम ‘व्यास सम्मान' विजेता थे। रामविलास शर्मा ने अपनी सुदीर्घ लेखन यात्रा में लगभग 100 महत्वपूर्ण पुस्तकों का सृजन किया था। जिनमें ‘भारतेंदु युग', ‘महावीरप्रसाद द्विवेदी और हिन्दी नवजागरण', ‘निराला की साहित्य साधना', ‘भारत में अंग्रेज़ी राज और मार्क्सवाद', ‘पश्चिमी एशिया और ऋग्‍वेद', ‘भारतीय नवजागरण और यूरोप', ‘भारतीय संस्कृति और हिन्दी प्रदेश', ‘गाँधी, आंबेडकर, लोहिया और भारतीय इतिहास की समस्याएँ, जैसी कालजयी रचनाएँ शामिल हैं।

17-Apr-1916 - 10-Oct-200 - सिरिमावो भंडारनायके श्रीलंका की एक प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ और आधुनिक विश्व की पहली महिला प्रधानमंत्री थी। वह श्रीलंका की फ्रीडम पार्टी की नेता थी। साल 1960 में वह दुनिया की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी थी। उनका सामाजिक कार्य श्रीलंका के ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं और लड़कियों के जीवन को बेहतर बनाने पर केंद्रित था।

15-Oct-1957 - मीरा नायर भारतीय-अमेरिकी फिल्म निर्माताहिन्दी फ़िल्मों की एक निर्देशक हैं। उनकी प्रोडक्शन कंपनी, मिराबाई फिल्म्स भारतीय समाज पर अंतरराष्ट्रीय दर्शकों के लिए आर्थिक, सामाजिक या सांस्कृतिक क्षेत्रों की फिल्मों में माहिर हैं।

28-Apr-1929 - 15-Oct-2020 - भानु अथैया भारतीय सिनेमा में मशहूर ड्रेस डिज़ाइनर के रूप में जानी जाती हैं। वह ऐसी पहली भारतीय महिला हैं, जिन्हें ‘ऑस्कर अवार्ड' से नवाजा गया है। उन्हें 1983 में गांधी फिल्म के लिए बेस्ट कॉस्टयूम डिजाइनर का अकैडमी अवॉर्ड मिला था। उसी साल म्यूजिक डायरेक्टर रवि शंकर भी नॉमिनेट हुए थे लेकिन वो यह अवॉर्ड जीत नहीं पाए थे। 1983 के ऑस्कर में इस फिल्म को 11 श्रेणियों में नॉमिनेट किया गया था। भानु अथैया साढ़े पाँच दशक से हिन्दी सिनेमा में सक्रिय हैं।

01-Aug-1919 - 31-Oct-2005 - यह एक भारतीय लेखक और कवि थी। अमृता प्रीतम को पंजाबी भाषा की पहली कवयित्री माना जाता है। उन्होंने कुल मिलाकर लगभग 100 पुस्तकें लिखी हैं जिनमें उनकी चर्चित आत्मकथा ‘रसीदी टिकट' भी शामिल है। इनकी कृतियों का अनेक भाषाओं में अनुवाद हुआ था| उन्हें अपनी पंजाबी कविता अज्ज आखाँ वारिस शाह नूँ के लिए बहुत प्रसिद्धी प्राप्त हुई थी| 1982 में इन्हें भारत के सर्वोच्च साहित्त्यिक पुरस्कार ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था|

07-Nov-1867 - 04-Jul-1934 - मैरी क्यूरी विख्यात भौतिकविद और रसायनशास्त्री थी। मेरी ने रेडियम की खोज की थी। मैडम क्युरी एक रशियन महिला थीं। मैरी क्युरी फ्रांस में डॉक्टरेट पूरा करने वाली पहली महिला हैं। उनको पेरिस विश्वविद्यालय में प्रोफेसर बनने वाली पहली महिला होने का भी गौरव प्राप्त हुआ। उन्हें रसायन विज्ञान के क्षेत्र में रेडियम के शुद्धीकरण (आइसोलेशन ऑफ प्योर रेडियम) के लिए रसायनशास्त्र का नोबेल पुरस्कार भी मिला। ये पहली ऐसी पहली महिला वैज्ञानिक हैं जिन्हें विज्ञान की दो शाखाओं में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया हैं।

11-Sep-1895 - 15-Nov-1982 - आचार्य विनोबा भावे एक प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी तथा गांधीवादी नेता थे। उन्हें भारत का राष्ट्रीय आध्यापक और महात्मा गांधी का आध्यातमिक उत्तराधीकारी समझा जाता है। वे जाने-माने समाज सुधारक एवं ‘भूदान यज्ञ' नामक आन्दोलन के संस्थापक थे। उन्होने अपने जीवन के आखरी वर्ष पोनार, महाराष्ट्र के आश्रम में गुजारे। उनकी रसायन विज्ञान में रुचि थी|

19-Nov-1917 - 31-Oct-1984 - इन्दिरा गाँधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थी। इन्दिरा गाँधी वर्ष 1966 से 1977 तक लगातार 3 बार देश की प्रधानमन्त्री रहीं और उसके बाद चौथी पारी में 1980 से लेकर 1984 में उनकी राजनैतिक हत्या तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं। वे भारत की प्रथम और अब तक की एकमात्र महिला प्रधानमंत्री रहीं।

19-Nov-1975 - सुष्मिता सेन एक प्रसिद्ध भारतीय फिल्म अभिनेत्री और मॉडल हैं। सुष्मिता सेन भारत की प्रथम मिस यूनीवर्स हैं। इन्होंने 1994 में मिस इंडिया और ब्रह्माण्ड सुन्दरी का खिताब जीता था। इन्होने मिस इंडिया स्पर्धा में भारत की ऐश्वर्या राय को हराया था।

24-Nov-1961 - अरुंधति राय अंग्रेजी की सुप्रसिद्ध भारतीय लेखिका और समाजसेवी हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत अभिनय से की थी। उन्होंने मैसी साहब फिल्म में प्रमुख भूमिका निभाई हैं। अरुंधति राय ने लेखन के अलावा नर्मदा बचाओ आंदोलन समेत भारत के दूसरे जनांदोलनों में भी हिस्सा लिया है। हाल ही में उनकी पुस्तक 'The Doctor and the saint:the ambedkar-Gandhi Debate' पुस्तक बहुत चर्चा में है जिसका हिन्दी अनुवाद 'एक था डॉक्टर एक था सन्त' है|

07-Apr-1920 - 11-Dec-2012 - पण्डित रवि शंकर एक विश्वविख्यात भारतीय सितार वादक और संगीतज्ञ थे। उन्हें पूरी दुनिया में शास्त्रीय संगीत में भारत का दूत माना जाता था। भारतीय संगीत को दुनिया भर में सम्मान दिलाने वाले पंडित रविशंकर को भारतरत्न, पद्म भूषण, पद्मविभूषण, मैगसैसे, तीन ग्रैमी अवॉर्ड सहित देश-विदेश के न जाने कितने पुरस्कार मिले।

16-Sep-1916 - 11-Dec-2004 - एम. एस. सुब्बुलक्ष्मी कर्णाटक की मशहूर संगीतकार थीं। इनका पूरा नाम मदुरै षण्मुखवडिवु सुब्बुलक्ष्मी है। वह देश की प्रथम गायिका थीं, जिन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक अलंकरण ‘भारत रत्न' से सम्मानित किया गया। उनके गाये हुए गाने, ख़ासकर भजन आज भी लोगों के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं। वह पहली भारतीय थीं जिन्होंने 1966 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रदर्शन किया। उनकी पहली रिकॉर्डिंग तब जारी की गई थी जब वह मात्र 10 साल की थीं। एमएस ने अपनी युवावस्था में कुछ तमिल फिल्मों में भी काम किया । उनकी पहली फिल्म का नाम सेवासदनम था जो 2, मई 1938 को रिलीज़ हुई थी

20-May-1990 - 28-Dec-1997 - सुमित्रानंदन पंत हिंदी साहित्य के एक मशहूर कवि थे। इस युग को जयशंकर प्रसाद, महादेवी वर्मा, सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला' और रामकुमार वर्मा जैसे कवियों का युग कहा जाता है। सुमित्रानंदन पंत को हिन्दी का ‘वर्डस्वर्थ' कहा जाता है। सुमित्रानंदन पंत ऐसे साहित्यकारों में गिने जाते हैं, जिनका प्रकृति चित्रण समकालीन कवियों में सबसे बेहतरीन था। वर्ष 1968 में सुमित्रानंदन पंत को उनकी प्रसिद्ध कविता संग्रह “चिदम्बरा” के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

06-Jan-1967 - ए. आर. रहमान एक प्रसिद्ध भारतीय संगीतकार हैं। इनका पूरा नाम अल्लाह रक्खा रहमान हैं। सुरों के बादशाह रहमान ने हिंदी के अलावा अन्य कई भाषाओं की फ़िल्मों में भी संगीत दिया है। रहमान ने संगीत की आरंभिक शिक्षा मास्टर धनराज से प्राप्त की और 11 साल की अल्पायु में ही वे अपने पिता के करीबी दोस्त एम.के. अर्जुन के साथ मलयालम ऑर्केस्ट्रा बजाना आरम्भ कर दिया था। रहमान एक ही वर्ष में दो ऑस्कर पुरस्कार जितने वाले वे पहले एशियाई व्यक्ति है। रहमान को साल 2009 में आई उनकी फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर' के गीत ‘जय हो' के लिए बेस्ट ऑरिजिनल स्कोर और बेस्ट ऑरिजिनल सॉन्ग के लिए ऑस्कर पुरस्कार से नवाजा गया था।

08-Jan-1909 - 13-Jul-1995 - आशापूर्णा देवी एक प्रसिद्ध बंगाली कवयित्री और उपन्यासकार थीं। इनका परिवार एक मध्यमवर्गीय परिवार था। इनके पिता एक अच्छे चित्रकार थे और इनकी माता की बांग्ला साहित्य में गहरी रुचि थी। पिता की चित्रकारी में रुचि और माँ के साहित्य प्रेम की वजह से आशापूर्णा देवी को उस समय के जाने-माने साहित्यकारों और कला शिल्पियों से निकट परिचय का अवसर मिला। उनकी प्रमुख रचनाएँ निम्न है जैसे; स्वर्णलता, प्रथम प्रतिश्रुति, प्रेम और प्रयोजन, बकुलकथा, गाछे पाता नील, जल, आगुन आदि। उन्हें 1976 में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। यह पुरस्कार प्राप्त करने वाली वे पहली महिला हैं।

09-Jan-1922 - 09-Nov-2011 - डॉ. हरगोविंद खुराना एक भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिक थे, जिन्हें सन 1968 में प्रोटीन संश्लेषण में न्यूक्लिटाइड की भूमिका का प्रदर्शन करने के लिए चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार साझा तौर पर दो और अमेरिकी वैज्ञानिकों के साथ दिया गया।

02-Oct-1904 - 11-Jan-1966 - लाल बहादुर शास्त्री स्वतंत्र भारत के दूसरे प्रधानमंत्री एवं स्वतंत्रता सेनानी थे। वह 09 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 तक लगभग 18 महीने देश के प्रधानमंत्री रहे। शारीरिक कद में छोटे होने के बावजूद भी वह महान साहस और इच्छाशक्ति के व्यक्ति थे। वर्ष 1966 में लाल बहादुर शास्त्री को उनकी सादगी, देशभक्ति और ईमानदारी के लिये मरणोपरान्त देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न‘ से सम्मानित किया गया था।

15-Jan-1888 - 09-Oct-1963 - सैफुद्दीन किचलू एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, वकील, व भारतीय राष्ट्रवादी मुस्लिम नेता थे। एक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनेता, वह पहली बार पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख बने और बाद में 1924 में एआईसीसी के महासचिव बने।

06-Feb-1890 - 20-Jan-1988 - ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ान एक महान् राजनेता थे जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया था। ब्रिटिश सरकार से आजादी के लिए संघर्षरत ‘स्वतंत्र पख्तूनिस्तान' आंदोलन के प्रणेता थे। अब्दुल गफ्फार खान एक राजनैतिक और आध्यात्मिक नेता थे जिन्हें महात्मा गाँधी की तरह उनके अहिंसात्मक आन्दोलन के लिए जाना जाता है। उनका लक्ष्य संयुक्त, स्वतन्त्र और धर्मनिरपेक्ष भारत बनाने का था। इसके लिये उन्होने 1930 में खुदाई खिदमतगार नाम के संग्ठन की स्थापना की। और यह संगठन 'सुर्ख पोश'(या लाल कुर्ती दल ) के नाम से भी जान जाता है।

21-Jan-1944 - प्रतिभा राय ओड़िया भाषा की एक मशहूर लेखिका हैं। उन्होंने अपने उपन्यासों के माध्यम से सामाजिक अन्याय और भष्ट्राचार के विरुद्ध आवाज़ बुलंद की। उन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय साहित्यिक और शैक्षिक सम्मेलनों में भाग लेने के लिए भारत के अंदर बहुत बड़े पैमाने पर यात्रा की है। इनको 2011में 47वें ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।इनके अब तक 20 उपन्यास, 24 लघुकथा संग्रह, 10 यात्रा वृत्तांत, दो कविता संग्रह और कई निबंध प्रकाशित हो चुके हैं।

31-Jan-1923 - 03-Nov-1947 - मेजर सोमनाथ शर्मा भारतीय सेना की कुमाऊँ रेजिमेंट की चौथी बटालियन की डेल्टा कंपनी के कंपनी-कमांडर थे जिन्होंने अक्टूबर-नवम्बर, 1947 के भारत-पाक संघर्ष में अपनी वीरता से शत्रु के छक्के छुड़ा दिये। साल 1950 में भारत सरकार ने उन्हें मरणोपरान्त भारत की सेना का सबसे बड़ा अलंकरण ‘परमवीर चक्र‘ से सम्मानित किया था।

30-Mar-1908 - 08-Mar-1994 - देविका रानी हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री हैं। इनका योगदान भारतीय सिनेमा के लिये बहुत महत्वपूर्ण रहा है। स्कूल की शिक्षा समाप्त करने के बाद 1920 के दशक के आरंभिक वर्षों में देविका रानी नाट्य शिक्षा ग्रहण करने के लिये लंदन चली गईं और वहाँ वे ‘रॉयल एकेडमी ऑफ ड्रामेटिक आर्ट' (RADA) और रॉयल ‘एकेडमी ऑफ म्युजिक' नामक संस्थाओं में भर्ती हो गईं। जिस जमाने में भारत की महिलायें घर की चारदीवारी के भीतर भी घूंघट में मुँह छुपाये रहती थीं,उस समय देविका रानी ने चलचित्रों में काम करके अदम्य साहस का प्रदर्शन किया था। उन्हें उनके अद्वितीय सुंदरता के लिये भी हमेशा याद किया जाता रहेगा।