भारत में सुरक्षा श्रेणियां

✅ Published on July 16th, 2021 in भारतीय सेना, सामान्य ज्ञान अध्ययन

भारत में, उच्च जोखिम वाले खतरों को रखने वाले मान्यता प्राप्त व्यक्तियों को सुरक्षा कवर प्रदान किए जाते हैं। खुफिया विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार विभिन्न व्यक्तियों को विभिन्न प्रकार की सुरक्षा दी जाती है। भारत में एक प्रसिद्ध व्यक्ति को खतरे की जानकारी के आधार पर सुरक्षा श्रेणी को 6 श्रेणीयों में अलग-अलग किया गया है:-

भारत में सुरक्षा श्रेणियों के प्रकार:-

  • एसपीजी
  • जेड +
  • जेड
  • वाई
  • वाई +
  • एक्स

यह लेख इसी पर आधारित है-भारत में सुरक्षा श्रेणियाँ (Security categories in India)

किसे दी जाती है सुरक्षा?

देश के सम्मानित लोगों और पॉलिटिशियंस को जान का खतरा है तो उसे इनमें से कोई एक सिक्युरिटी दी जाती है। ये सुरक्षा मिनिस्टर्स को मिलने वाली सिक्युरिटी से अलग होती है। इसमें पहले सरकार को इसके लिए एप्लीकेशन देनी होती है, जिसके बाद सरकार खुफिया एजेंसियों के जरिए होने वाले खतरे का अंदाजा लगाती हैं। खतरे की बात कंफर्म होने पर सुरक्षा दी जाती है। होम सेक्रेटरी, डायरेक्टर जनरल और चीफ सेक्रेटरी की कमेटी ये तय करती है कि संबंधित लोगों को किस कैटेगरी में सिक्युरिटी दी जाए।

1. एसपीजी लेवल की सुरक्षा (Special Security Group Level Security)

विशेष सुरक्षा दल (एसपीजी) संघ की एक विशेष सुरक्षा बल है। इन पर भारत के प्रधानमंत्री, उनका परिवार, तथा पूर्व प्रधानमंत्रीगण, पूर्व राष्ट्रपति की सुरक्षा, इस विशेष सुरक्षा टुकड़ी की ज़िम्मेदार होती है। यह विशिष्ट सेना बल सीधे केंद्र सरकार के मंत्रिमण्डलीय सचिवालय के अधीन है, और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के अंतर्गत उनके एक विभाग के रूप में कार्य करती है। एसपीजी, देश की सबसे पेशेवर एवं आधुनिकतम सुरक्षा बालों में से एक है।

  • एसपीजी एक सशस्त्र इकाई है, जो भारत के प्रधानमंत्री और भारत के पूर्व प्रधानमंत्रियों और दुनिया भर में कहीं भी उनके तत्कालीन परिवारों के सदस्यों को सबसे अधिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए दी गई है।
  • पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या की इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद 1988 में भारत की संसद के एक अधिनियम द्वारा इसका गठन किया गया था।
  • एसपीजी बल समूह केंद्र सरकार की देखरेख में प्रशासित, निर्देशित और नियंत्रित किया जाता है।
  • इकाई बल के प्रमुख, निदेशक के रूप में जाना जाता है, जिसे सचिव के रूप में नामित किया गया है। SPG की इकाई की कमान और कुल पर्यवेक्षण के लिए जिम्मेदार होता है।
  • SPG हमेशा अपने रेंक में 4000 से अधिक व्यक्तियों के साथ आरक्षित होती है।
  • यह सभी सुरक्षा बलों की इकाई में सबसे महंगा सुरक्षा बाल माना जाता है।
  • अब तक केवल 6 लोगों को इस प्रकार की सुरक्षा प्रदान करने का विशेषाधिकार है।

2. जेड + लेवल की सुरक्षा (Z+ level security)

  • यह एसपीजी सुरक्षा इकाई के बाद आती है भारत में एक उच्च स्तरीय सुरक्षा के रूप जानी जाती है। जो भारत के प्रधानमंत्री को दि जाती है
  • इस श्रेणी में संबंधित विशिष्ट व्यक्ति की सुरक्षा में 55 सदस्य कार्यबल का एक सुरक्षा कवच प्रदान करता है।, जिसमे 10+ NSG कमांडों +पुलिसकर्मी शामिल होते हैं।
  • हर एक कमांडों को पेशेवर रूप से मार्शल आर्ट और निहत्थे कोम्बेटिंग का प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • भारत में यह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, केंद्रीयमंत्री वित्त मंत्री एवं कुछ अन्य महत्वपूर्ण लोगों को यह Z+ की सुरक्षा श्रेणी की सुरक्षा दि गई है।

3. जेड लेवल की सुरक्षा (Z level security)

  • यह भारत की सुरक्षा श्रेणी में तीसरे स्तर पर आती है।
  • ज़ेड लेवल प्रोटेक्शन कवर में 22 सदासीय कार्यबल होते हैं। जिसमे 4-5 NSG कमांडों + ITBP या CRPF के कमांडो व स्थानीय पुलिसकर्मी भी शामिल होते हैं।
  • Z स्तर की सुरक्षा दिल्ली पुलिस या भारत-तिब्बत पुलिस (ITBP) या CRPF के लोगों को एक एस्कॉर्ट कार के साथ प्रदान की जाती है।
  • भारत में बाबा रामदेव और अभिनेता आमिर खान को Z सिक्योरिटी गार्ड की सुरक्षा दि गई है।

4. वाई लेवल की सुरक्षा (Y level security)

  • यह भारत में सुरक्षा स्तर का चौथा स्तर माना जाता है।
  • वाई लेवल प्रोटेक्शन कवर में 11 सदस्यीय कार्यबल होता है, जिसमे 1-2 NSG कमांडों + पुलिस के जवान शामिल होटेन हैं।
    यह दो निजी सुरक्षा अधिकारी (PSO) भी प्रदान करता है।

5. वाई + लेवल की सुरक्षा (Y + level security)

  • यह भारत में सुरक्षा स्तर का पंचवा स्तर माना जाता है।
  • इसमें 11 सुरक्षाकर्मी मिले होते हैं। इनमें 1 या 2 कमांडो और 2 पीएसओ भी शामिल होते है।
  • इस सुरक्षा के तहत कपिल मिश्रा को 24 घंटे दिल्ली पुलिस का एक सिपाही बतौर निजी सुरक्षा अधिकारी के तौर पर मिला है।

6. एक्स लेवल की सुरक्षा (X + level security)

  • यह भारत में सुरक्षा स्तर का पंचवा स्तर माना जाता है।
  • X लेवल प्रोटेक्शन कवर में 2 सुरक्षाकर्मी होते हैं। जिसमें सस्शत्र पुलिस कर्मी होते हैं।
  • यह 1 व्यक्ति सुरक्षा अधिकारी द्वारा देश के विभिन्न लोगों को प्रदान किया जाता है।

SPG (विशेष सुरक्षा समूह), NSG (राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड), ITBP (भारत-तिब्बत सीमा पुलिस) और CRPF (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल) CISF (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) राजनेता, हाई-प्रोफाइल हस्तियां और खिलाड़ी VVIPs, VIPs को प्रतिभूतियां प्रदान करने के लिए जिम्मेदार एजेंसियां हैं।

राष्ट्रपति की सुरक्षा

भारत के राष्ट्रपति की सुरक्षा राष्ट्रपति के अंगरक्षक (PBG) द्वारा सुनिश्चित की जाती है। PBG न केवल भारतीय सशस्त्र बलों की सबसे वरिष्ठ इकाई है, बल्कि सबसे पुरानी भी है। यह दुनिया में एकमात्र सेवारत घुड़सवारी सैन्य इकाई भी है। शांति के दौरान, PBG एक औपचारिक इकाई के रूप में कार्य करता है, लेकिन युद्ध के दौरान भी तैनात किया जा सकता है क्योंकि वे भी प्रशिक्षित पैराट्रूपर्स हैं।


You just read: Bharat Mein Kul Surksha Shreniyan
Previous « Next »