मेघालय सामान्य ज्ञान

मेघालय सामान्य ज्ञान (Meghalaya General Knowledge):

मेघालय भारत के उत्तर पूर्व में स्थित एक राज्य है। मेघालय की राजधानी और राज्य का सबसे बड़ा शहर शिलांग है। राज्य के उत्तर में असम और दक्षिण में बांग्लादेश स्थित है। मेघालय का कुल क्षेत्रफल लगभग 22,429 वर्ग किलोमीटर है।

मेघालय का इतिहास (Meghalaya History):

साल 1905 में बंगाल के बंटवारे के दौरान मेघालय असम और पूर्वी बंगाल का हिस्सा बना था। बंगाल के विभाजन के लिए लार्ड कर्जन जिम्मेदार थे। सन् 1912 में जब विभाजन रद्द हुआ तब मेघालय असम राज्य का एक अभिन्न हिस्सा बन गया। सन् 1947 में भारत की आजादी के समय दो जिलों वाले मेघालय को असम के अंदर ही सही मायनों में स्वायत्ता का आनंद मिला। सन् 1971 में उत्तर-पूर्व अधिनियम क्षेत्र की मंजूरी के बाद मेघालय को राज्य के रुप में मान्यता मिली। पूर्ण राज्य का दर्जा पाने के पहले मेघालय को सन् 1970 में अर्ध-स्वायत्त राज्य का दर्जा दिया गया था। 21 जनवरी 1972 को जयंतिया हिल्स और यूनाइटेड खासी हिल्स को मिला कर मेघालय राज्य बनाया गया था।

मेघालय का भूगोल (Meghalaya Geography):

मेघालय का अर्थ मेघो का आलय अर्थात बादलों का फघर होता है। यहां कई नदियां हैं जिनमें गनोल, उमियाम, मिनगोत, मिखेम और दारेंग शामिल हैं। इन नदियों के अलावा आपको यहां और भी ढेरों नदियां जैसे उमियाम, मावपा और खरी मिल सकती हैं। यहाँ विस्‍तृत मैदान, पहाडियां और नदी, घाटियां हैं। पहाड की तलहटी पर समतल भूमि की संकरी पट्टी बांग्लादेश की अंतरराष्‍ट्रीय सीमा के साथ लगी है। मेघालय का राजकीय फूल ‘लेडी स्लिपर आर्किड’ है। मेघालय का राजकीय पक्षी ‘पहाड़ी मैना’ है। मेघालय का राजकीय पेड ‘सफेद सागौन’ है। मेघालय का राजकीय पशु ‘मलिन तेंदुआ’ है। मेघालय का सबसे ऊँचा पर्वत शिलांग शिखर, जिसकी ऊँचाई 1966 मीटर है।

मेघालय की जलवायु (Meghalaya Climate):

मेघालय की जलवायु उपोष्ण (उष्ण और शीत के मध्य) तथा आर्द्र है। राज्य में सालाना वार्षिक वर्षा 1200 से॰मी॰ तक होती है जिसके कारण इस राज्य देश का सबसे “नम” राज्य कहा जाता है। यहां पर ग्रीष्म ऋतु में तापमान 20 डिग्री से 29 डिग्री तक और सर्दियों में तापमान 11 डिग्री से 21 डिग्री के बीच रहता है।

मेघालय की सरकार और राजनीति (Meghalaya Government and Politics):

मेघालय के मुख्यमंत्री उत्तर-पुर्व राज्य के सरकार के प्रमुख हैं। भारत के संविधान के मुताबिक, मेघालय के राज्यपाल राज्य के न्यायपालिक है, लेकिन वास्तविक कार्यकारी प्राधिकारी मुख्यमंत्री होता है। मिज़ोरम में विधानसभा की 60, लोक (संसदीय) सभा की 02 और राज्य सभा की 01 सीट है।

मेघालय के प्रमुख राजनीतिक दल (Political Parties of Meghalaya):

राज्य की प्रमुख राजनीतिक दलों में यूनाइटेड लोकतांत्रिक पार्टी, मेघालय लोकतांत्रिक पार्टी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस हैं।

राज्य में वर्तमान में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सरकार है। मेघालय के वर्तमान मुख्‍यमंत्री डॉ. मुकुल संगमा है। मेघालय के मुख्‍यमंत्री बनने वाले प्रथम व्यक्ति विलियमसन ए. संगमा थे। उन्होंने 02 अप्रैल 1970 को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

मेघालय के वर्तमान राज्यपाल गंगा प्रसाद है। गंगा प्रसाद ने अक्टूबर 2017 को मेघालय के राज्यपाल के रूप में शपथ ग्रहण की है।

मेघालय की अर्थव्यवस्था (Meghalaya Economy):

कृषि (Agriculture):

मेघालय की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार कृषि है। मेघालय के लगभग 80% लोग कृषि तथा संबंधित गतिविधियों पर आश्रित हैं। चावल और मक्का इस राज्य के प्रमुख फसलों में से एक है। राज्य की अन्य फसलों में आलू, हल्दी, अदरक, काली मिर्च, सुपारी, पान टैपियोका, छोटे रेशे वाली कपास, पटसन और मेस्‍टा, सरसों और तोरिया ,तिलहनों (मूँगफली, सोयाबीन और सूरजमुखी), काजू, स्‍ट्रॉबरी, चाय और कॉफी, मशरूम, जड़ी-बूटियों, ऑर्किड आदि की खेती भी की जाती है। राज्य में विभिन्न फलों में संतरे (खासी मेंडेरियन), अनन्नास, केला, कटहल और आलू बुखारा, नाशपाती तथा आड़ू की फसलें भी उगाई जाती है।

खनिज पदार्थ (Minerals):

राज्य में कई प्रकार के प्राकृतिक संसाधन भी पाए जाते है, जिनमे मुख्य रूप से सिलिमेनाइट, चूना, कोयला और ग्रेनाइट शामिल है।

मेघालय के उद्योग (Meghalaya Industry) :

राज्य के प्रमुख उद्यगों में लोहे, इस्‍पात सामग्री, सीमेंट उद्योग शामिल है।

मेघालय की जनसंख्या या आबादी (Meghalaya Population):

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार मेघालय की आबादी 2,966,889 करोड़ है। जिसमे पुरुषों की जनसंख्या 1,475,057 और महिलाओं की जनसंख्या राज्य की जनसंख्या का 27.82% है।

मेघालय की जनजातियां (Meghalaya Tribes):

मेघालय की ज्यादातर आबादी आदिवासी लोगों की है। राज्य में सबसे ज्यादा संख्या में खासी समूह के लोग हैं। खासी के बाद दूसरा सबसे बड़ा समूह गारो है। यहाँ पाई जाने वाली अन्य जनजातियों में खासी, जैंतिया और गारों आदिवासी समुदाय के लोग मुख्यत: रहते हैं। इसके अतिरिक्त जयंतिया तथा हजोंग लोग भी हैं। लगभग 15% आबादी अजनजातीय है जिसमें बंगाली तथा शेख़ शामिल हैं। मेघालय भारत के उन 3 राज्यों में शामिल है जिसमें ईसाई समुदाय की आबादी लगभग 70.3% है।

शिक्षा (Education):

सन् 2011 की जनगणना के अनुसार इस राज्य की साक्षरता दर 75.48% है। मेघालय भारत के सबसे कम विकसित राज्यों में से एक है।राज्य में लगभग 5,517 शिक्षण संस्थाएं हैं। राज्य में एक पाॅलिटेक्निक और यूनिवर्सिटी भी है। यहां कई माध्यमिक और उच्च स्तर के शैक्षिक स्कूल भी हैं।

भाषा (Languages):

यहां की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। मेघालय के लोगों द्वारा बोले जाने वाली अन्य भाषाओं में गारो, खासी, वार, चेरापूंजी, हिन्रिआम और नार शामिल हैं।

मेघालय की संस्कृति और वेशभूषा (Meghalaya Culture and Costumes):

मेघालय में मुख्य रुप से तीन प्रमुख जनजातियों का दबदबा है। कुछ ऐसे नृत्य रुप हैं जो मेघालय की संस्कृति का अभिन्न अंग हैं जैसे लाहो, शाद नोंगक्रेम, डोरेराता, शाद सुकमिनसीम और डोकरुसुआ। बड़ी संख्या में लोग मानते हैं कि शाद सुकमिनसिम ‘सुखी दिल’ का नृत्य है।भैंस के सींगों, बाँसुरी और मृदंगों से निकली स्वर लहरियों के साथ नृत्य और मदिरापान यहाँ के सामाजिक समारोहों व धार्मिक अनुष्ठानों का अभिन्न अंग है। मेघालय की परंपरागत पोशाक जिमफोंग है।

मेघालय के मुख्य त्यौहार (Meghalaya Famous Festivals):

मेघालय का ‘पांबलांग-नोंगक्रेम’ खासियों का एक प्रमुख धार्मिक त्यौहार है। जो पांच दिन तक मनाया जाता है। इसे ‘नोंगक्रेम’ के नाम से भी जाना जाता है। राज्य के अन्य प्रमुख त्यौहारों में वांगला, बेहदीनखलम जयंतिया और शाद सुक मिनसीम शामिल है।

मेघालय का खानपान (Meghalaya Food):

मेघालय के खाने के अपनी ही अलग विशेषता है। मेघालय का स्थानीय जदोह विथ पोर्क व्यंजन है। अन्य मुख्य व्यंजनों मेंजदोह, नखम बितची और पुमालोई शामिल है।

मेघालय के पर्यटन स्थल (Meghalaya Tourist Places):

पर्यटन मेघालय की अर्थव्यवस्था का बहुत अहम हिस्सा है। मेघालय में बहुत सारे पर्यटन स्थल है, जो सैलानियों अपनी ओर आकर्षित करते है। यहाँ के महत्‍वपूर्ण पर्यटन स्थलों में शिलांग, उमियाम झील, चेरापूँजी, मॉसिनराम, जाक्रीयम, माईरांग, जोवाई, नार्तियांग, थदलाशीन, तुरा, सीजू और बलपाक्रम राष्ट्रीय उद्यान, नरतियांग दुर्गा मंदिर, श्री रामकृष्ण मंदिर, मातृ मंदिर, श्री रामकृष्ण मंदिर, महादेव खोला धाम, शिलांग चोटी, वार्डस लेक, उमियाम झील, पोलो ग्राउंड,हाथी झरना, बालपक्रम राष्ट्रीय उद्यान, नोकरेक राष्ट्रीय उद्यान, लेडी हैदरी उद्यान, मिनी चिडियाघर और सीजू पक्षी अभयारण्य है।

मेघालय के जिले (Meghalaya Districts):

मेघालय राज्य में कुल 08 जिले हैं, जनसँख्या के आधार पर पूर्वी खासी हिल्स राज्य का सबसे बड़ा जिला है, जिसकी आबादी 825922 है, जबकि क्षेत्रफल के आधार पर सबसे बड़ा जिला पश्चिम खासी हिल्स हैं।

मेघालय में निम्नलिखित 08 जिले हैं:- पूर्व गारो हिल्स, पश्चिमी गारो हिल्स, उत्तर गारो हिल्स, दक्षिण गारो हिल्स, दक्षिण पश्चिम गारो हिल्स, पूर्व जयंतिया हिल्स, पश्चिम जैंतिया हिल्स, पूर्वी खासी हिल्स, दक्षिण पश्चिम खासी हिल्स, पश्चिम खासी हिल्स और री भोई हैं।

This post was last modified on July 27, 2019 9:16 pm

You just read: Meghalaya - INDIA GK Topic

Recent Posts

26 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 26 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 26 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 26, 2020

सितंबर 2020 समसामयिकी घटना चक्र – Current Affairs September 2020

सितंबर 2020 समसामयिकी घटना चक्र हिंदी में: (September 2020 Current Affairs in Hindi) इस अध्याय में आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं के…

September 25, 2020

भारत की पहली महिला डॉक्टर: रखमाबाई राऊत का जीवन परिचय

रखमाबाई राऊत का जीवन परिचय: (Biography of Rukhmabai Raut in Hindi) रखमाबाई राऊत भारत की प्रथम महिला चिकित्सक थीं। रखमाबाई का जन्म…

September 25, 2020

25 सितम्बर का इतिहास भारत और विश्व में – 25 September in History

आईये जानते हैं भारत और विश्व इतिहास में 25 सितम्बर यानि आज के दिन की महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में।…

September 25, 2020

भारत के संविधान में अब तक किए गए प्रमुख संविधान संशोधनों की सूची

भारतीय संविधान के संशोधन:  (Amendment of Indian Constitution in Hindi) भारतीय संविधान में अब तक कुल 126 संविधान संशोधन विधेयकों…

September 24, 2020

भारत की प्रथम क्रान्तिकारी महिला: मैडम भीकाजी कामा का जीवन परिचय

भीकाजी कामा का जीवन परिचय: (Biography of Bhikaiji Cama in Hindi) भीकाजी कामा एक महान महिला स्वतंत्रता सेनानी थी। जिन्होंने…

September 24, 2020

This website uses cookies.