विश्व हेपेटाइटिस दिवस (28 जुलाई)


Inter National Days: World Hepatitis Day In Hindi



विश्व हेपेटाइटिस दिवस (28 जुलाई): (28 July World Hepatitis Day Information in Hindi)

विश्व हेपेटाइटिस दिवस कब मनाया जाता है?

हर साल 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस यानी वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य हेपेटाइटिस के बारे में लोगों को जागरूक करना है। हेपेटाइटिस वायरस से होना वाला रोग है, जो लीवर को प्रभावित करता है, रोग बढ़ने पर सिरोसिस, लिवर कैंसर या जिगर फेल जैसी घटक बीमारियाँ भी हो सकती है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस का इतिहास:

वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे मनाने की शुरुआत वर्ष 2010 में की गयी थी। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मई 2010 में 63वें विश्व स्वास्थ्य सम्मेलन के दौरान हेपेटाइटिस-बी वायरस के खोजकर्ता व नोबेल पुरस्कार विजेता प्रो. बारूच सैमुएल ब्लूमबर्ग के जन्मदिवस को ‘विश्व हेपेटाइटिस दिवस’ के रूप में मनाने का प्रस्ताव पारित किया गया था। प्रोफेसर बारूक ब्लमबर्ग को वर्ष 1976 में फिजियोलॉजी या चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। तब से हर साल सम्पूर्ण विश्व में 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा चिह्नित किए गए 8 वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य अभियानों में से एक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (W.H.O.) के अनुसार, दुनियाभर में करीब 400 मिलियन लोग हेपेटाइटिस ‘बी’ व ‘सी’ से संक्रमित हैं तथा इस बीमारी से हर साल लगभग 14 लाख लोगों की मृत्यु होती है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2018:

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे पी नड्डा ने विश्व हेपेटाइटिस दिवस के मौके पर 28 जुलाई 2018 को नई दिल्ली में ‘राष्ट्रीय वायरल हेपेटाइटिस नियंत्रण कार्यक्रम’ शुरूआत की। इस कार्यक्रम से 5 करोड़ से ज्यादा मरीज़ों को लाभ मिलेगा। इसी मौके पर एक यादगार टिकट भी जारी की गई है। भारत में दूषित पानी की वजह से हेपेटाइटिस ई ज्यादा फैल रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तैयार हेपेटाइटिस की नई गाइडलाइन के तहत वर्ष 2021 तक 42 लाख मरीजों को घर बैठे उपचार देने के लिए योजना तैयार की है। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक नेटवर्क भी बनाया है और साथ ही अस्पतालों को विशेष निर्देश भी दिए जा रहे हैं।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस के विषय (थीम):

  • वर्ष 2018 में इस वैश्विक अभियान के लिए विषय (थीम)- “जांचे, उपचार करें, हेपेटाइटिस (Test, Treat, Hepatitis)” है।
  • वर्ष 2017 में इस वैश्विक अभियान के लिए विषय (थीम)- “हेपेटाइटिस को खत्म करें (Eliminate Hepatitis)” है।
  • वर्ष 2016 में इस वैश्विक अभियान के लिए विषय (थीम)- “हेपेटाइटिस को जानें-अभी कदम बढ़ाएं (Know Hepatitis-Act Now)” है।

हेपेटाइटिस क्या है?

हेपेटाइटिस (Hepatitis) एक जानलेवा और खतरनाक रोग जिसके कारण लीवर प्रभावित होता है। यह रोग वायरल इन्फेक्शन होने के कारण होता है। इस रोग के कारण आमतौर पर जिगर (लीवर) सूज जाता है।

हेपेटाइटिस के लक्षण:

हेपेटाइटिस रोग के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:-

    • कम भूख लगना अथवा जी मिचलाना।
    • उल्टी होना।
    • अत्यधिक थकान।
    • मतली।
    • पेट दर्द और सूजन।
    • अनेक मामलों में पीलिया होना या बुखार आना।
    • रोग की गंभीर स्थिति में पैरों में सूजन होना और पेट में तरल पदार्थ का संचित होना।
    • रोग की अत्यंत गंभीर स्थिति में कुछ रोगियों के मुंह या नाक से खून की उल्टी हो सकती है।
    • खुजलाहट।
    • वज़न का घटना।
    • मूत्र का रंग गहरा हो जाना।

हेपेटाइटिस के प्रकार:

हेपाटाइटिस को मुख्यतः 5 निम्नलिखित प्रकारों में विभाजित किया गया है:-

  • हेपेटाइटिस ए: डब्ल्यूए के अनुसार हर साल 1.4 मिलयन लोग हेपेटाइटिस-ए का शिकार बन रहे हैं। यह आम तौर पर दूषित खान-पान खाने से फैलता है।
  • हेपेटाइटिस बी: इन्फेक्टेड ब्लड के ट्रांसफ्यूशन और सिमन और दूसरे फ्लूइड के इक्सपोशर के कारण यह संक्रमित होता है।
  • हेपेटाइटिस सी: यह हेपेटाइटिस सी वायरस (HCV) के कारण होता है। यह खून (रक्त) और संक्रमित इन्जेक्शन के उपयोग से होता है।
  • हेपेटाइटिस डी: यह हेपेटाइटिस डी वायरस (HDV) के कारण होता है। जो लोग पहले से एचबीवी वायरस के इन्फेक्टेड होते हैं वे ही इस वायरस से संक्रमित होते हैं। एचडीवी और एचबीवी दोनों के एक साथ होने के कारण स्थिति और भी बदतर हो जाती है।
  • हेपेटाइटिस ई: हेपेटाइटिस ई वायरस (HEV) के कारण यह होता है। विश्व के अधिकतर देशों में हेपेटाइटिस के संक्रमण का यही कारण है। यह दूषित पानी और खाना के कारण ज्यादा फैलता है।

हेपेटाइटिस रोग से बचाव (रोकथाम) के उपाय:

  • स्वच्छ व ताज़ा भोजन खाएं।
  • बाजार के कटे फल व सलाद न खाएं।
  • पानी को उबालकर पिएं।
  • कभी भी अपने सेविंग रेजर, टूथब्रश और सूई को किसी से शेयर न करें, इससे इन्फेक्शन के खतरे को कम किया जा सकता है।
  • टैटू करने के वक्त उपकरणों से सावधान रहें।
  • कान को छेद करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि वह साफ हो।
  • सुरक्षित यौन सम्बन्ध।
  • गर्भवती महिला को संक्रमण होने पर इलाज ज़रूरी।
  • हेपेटाइटिस के विषय में युवाओं को जानकारी देना।
  • शौच के बाद हाथों को स्वच्छ पानी व साबुन से अच्छी तरह धोएं।

जुलाई माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
01 जुलाईचिकित्सक दिवस (डॉक्टर दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
02 जुलाईअन्तरराष्ट्रीय खेल पत्रकार दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
09 जुलाईराष्ट्रीय विद्यार्थी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
11 जुलाईविश्व जनसंख्या दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
18 जुलाईअन्तरराष्ट्रीय नेल्सन मंडेला दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
23 जुलाईराष्ट्रीय प्रसारण दिवस - राष्ट्रीय दिवस
24 जुलाईआयकर दिवस - राष्ट्रीय दिवस
26 जुलाईविजय दिवस (कारगिल / शौर्य / स्मृति दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
28 जुलाईविश्व प्रकृति सरंक्षण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
Spread the love, Like and Share!
  • 23
    Shares

Like this Article? Subscribe to Our Feed!

Comments are closed