03 January History in Hindi

03 जनवरी का इतिहास भारत और विश्व में – 3 January in History

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार जनवरी 03 किसी वर्ष में दिन संख्या 337 है और यदि लीप वर्ष है तो दिन संख्या 338 है। भारत और विश्व इतिहास में 03 जनवरी का अपना ही एक खास महत्व है, क्योकि इस दिन कई महत्वपूर्ण घटनाएं घटी जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज होकर रह गईं हैं। आईये जानते हैं 03 जनवरी की ऐसी ही कुछ महत्त्वपूर्ण घटनाएँ जिन्हे जानकर आपका सामान्य ज्ञान बढ़ेगा। एकत्रित तथ्य ऐसे होंगे जैसे : आज के दिन जन्मे चर्चित व्यक्ति, प्रसिद्ध व्यक्तियों के निधन, युद्ध संधि, किसी देश के आजादी, नई तकनिकी का अविष्कार, सत्ता का बदलना, महत्वपूर्ण राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दिवस इत्यादि। Know what happened on December 03 in Indian History and World History.

03 जनवरी की महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाओं की सूची:

वर्षघटना/वारदात/वृत्तांत
1698इटली के लेखक और कवि पीटर मेताज़ ताज़ियो का जन्म हुआ।
1749बेंनिंग वेंटवर्थ ने न्यू हैम्पशायर अनुदानों के पहले मुद्दे पर आगे बढ़ते हुए वर्मोंट की स्थापना की।
1777जार्ज वाशिंगटन की सेना ने ब्रिटिश सेना को न्यूजीलैंड में पराजित किया।
1797त्रिपोली की संधि, संयुक्त राज्य और तुर्क त्रिपोलिटनिया के बीच एक शांति संधि पर अल्जीयर्स में हस्ताक्षर किए गए।
1823स्टीफन एफ. ऑस्टिन ने मेक्सिको की सरकार से अनुदान में रूप में टेक्सास में भूमि प्राप्त की।
1831महाराष्ट्र के सतारा में भारत की पहली महिला शिक्षिका सावित्री बाई फूले का जन्म हुआ।
1833दक्षिण अटलांटिक में फ़ॉकलैंड द्वीप समूह के ऊपर ब्रिटिश संप्रभुता के पुनर्मूल्यांकन किया गया।
1834मैक्सिको की सरकार द्वारा स्टीफन एफ ऑस्टिन की मैक्सिको सिटी में गिरफ्तारी की गयी।
1836एशिया की सबसे पुरानी प्रिंटिंग प्रेस के संस्थापक मुंशी नवल किशोर का उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में जन्म हुआ।
1852चीन का पहला कदम हवाई द्वीप पर पड़ा।
1875फ़्रांस के साहित्यकार और शब्दकोष विशेषज्ञ पियर लारोस का निधन हुआ।
1910रोज काम के लिए 8 घंटे तय करने के लिए ब्रिटेन में हड़ताल हुई।
1910संयुक्त राज्य में पहली बार जूनियर हाई स्कूल की कक्षाएं शुरू हुईं।
1943टेलीविजन पर पहली बार गुमशुदा लोगों के बारे में सूचना का प्रसारण किया गया।
1955जोस रामन गुइजाडो पनामा के राष्ट्रपति बने।
1956फ्रांस में एफिल टॉवर के ऊपरी हिस्से में आग लगने से नुकसान हुआ।
1957अमेरिका के पेनसिल्वेनिया में पहली बार बिजली घड़ी प्रदर्शित की गयी।
1957हैमिल्टन वॉच कंपनी ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक वॉच का उद्घाटन किया।
1959अलास्का को अमेरिका का 49वां राज्य घोषित किया गया।
1971बीबीसी ने विश्वविद्यालय यूनाइटेड किंगडम में शुरू किया।
1998अल्जीरियाई इस्लामी विद्रोह में 412 लोगों की हत्या हुई।
2004मिस्र की विमानन कंपनी फ्लैश एयरलाइंस के बोइंग 737 विमान 604 के दुर्घटनाग्रस्त होने से उसमें सवार सभी 148 लोग मारे गये।
2013इराक के मुसय्यिब क्षेत्र में एक आत्मघाती बम विस्फोट में शिया समुदाय के 27 लोगों की मौत हो गयी और 60 घायल हो गये।

03 जनवरी के राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस - December 03 holidays & observations

दिवस का नामउत्सव का स्तर
शाकम्भरी जयंतीराष्ट्रीय दिवस

03 जनवरी को उल्लेखनीय लोगों की मृत्यु - 03 December notable deaths:

वर्षनाम/वर्ग/देश
2010इयान ब्राउनली / पुरुष / वकील / ग्रेट ब्रिटेन
2011पीट पोस्टलेथवेइट / पुरुष / अभिनेता / ग्रेट ब्रिटेन
2011सुचित्रा मित्र / महिला / गायक / भारत
2013एम. एस. गोपालकृष्‍णन / पुरुष / वादक / भारत
2016पीटर नौर / पुरुष / वैज्ञानिक / डेनमार्क
2017एच एस महादेव प्रसाद / पुरुष / राजनीतिज्ञ / भारत

03 जनवरी को जन्मे प्रसिद्ध व्यक्ति - December 03 famous birthdays :

वर्षनाम/वर्ग/देश
1831सावित्रीबाई फुले / महिला / कवि / भारत
1892जे.आर.आर. टोल्किन / पुरुष / लेखक / दक्षिण अफ़्रीका
1927जानकी बल्लभ पटनायक / पुरुष / राजनीतिज्ञ / भारत
1986नवनीत कौर / महिला / अभिनेत्री / भारत
1979गुल पनाग / महिला / अभिनेत्री / भारत

इस दिन को अन्य महीनों में भी जानें :
जनवरी 03 | फरवरी 03 | मार्च 03 | अप्रैल 03 | मई 03 | जून 03 | जुलाई 03 | अगस्त 03 | सितम्बर 03 | अक्टूबर 03 | नवम्बर 03 | दिसम्बर 03 | तिथि अनुसार इतिहास

Related search terms:- 03 December Major Events Happened in History, 03 December History in Hindi, 03 December in Indian History, December 03 in World History

Explore more:- Famous Person, Wars, Freedom Fighters, Awards, Freedom Fighters, Discovery, Important Days

(Visited 65 times, 1 visits today)
You just read: 03 January Historical Events In Hindi - TODAY IN HISTORY Topic

Like this Article? Subscribe to feed now!

03 Janvari Ka Itihaas : Pramukh Aitihaasik Ghatanaen

Leave a Reply

Scroll to top