विश्व के विभिन्न देशों में प्रकशित होने वाले समाचार पत्रों का नाम, प्रकाशन स्थल और उनकी भाषा:  (Leading Newspapers of World Countries in Hindi) समाचार पत्र अथवा अख़बार समाज और देश में हो रही घटनाओं पर आधारित एक प्रकाशन है। इसमें मुख्यत: ताजी घटनाएँ, खेल-कूद, व्यक्तित्व, राजनीति, विज्ञापन की जानकारियाँ सस्ते काग़ज़ पर छपी होती है। समाचार पत्र संचार के साधनों में महत्त्वपूर्ण स्थान रखते हैं। ये काग़ज़ पर शब्दों से बने वाक्यों को लिखकर या छापकर तैयार होते हैं। समाचार पत्र प्रायः दैनिक होते हैं लेकिन कुछ समाचार पत्र साप्ताहिक, मासिक एवं छमाही भी होते हैं। अधिकतर समाचारपत्र स्थानीय भाषाओं में और स्थानीय विषयों पर केन्द्रित होते हैं। विश्व के प्रमुख देशों के समाचार पत्रों के नाम की सूची

समाचार-पत्र प्रकाशन-स्थल भाषा
अर्जेंटीना
ला नेशन (La Nación) ब्यूनस आयर्स स्पेनिश
ऑस्ट्रेलिया
द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड सिडनी अंग्रेजी
ऑस्ट्रिया
डाई प्रेस (Die Presse) वियना जर्मन
बांग्लादेश
द डेली स्टार ढाका अंग्रेजी
ब्राजील
ओ एस्तादो द साओ पाउलो (O Estado de S. Paulo) साओ पाउलो पुर्तगाली
बेल्जियम
द स्टैण्डर्ड (De Standard) ग्रूट बिज्गार्देन (Groot-Bijgaarden) डच
चिली
एल मर्क्युरियो (El Mercurio) सैंटियागो स्पेनिश
चीन (हांग कांग)
साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट हांग कांग अंग्रेजी
मिस्र
अल- अहराम (Al-Ahram) काहिरा अरबी
ग्रीस
काथिमेरिनी (Kathimerini) एथेंस ग्रीक
हंगरी

नेप्स्जाबदसग (Népszabadság) बुडापेस्ट हंगरी
भारत
द टाइम्स ऑफ़ इंडिया मुंबई अंग्रेजी
इंडोनेशिया
मर्डेगा जकार्ता इण्डोनेशियाई
अल  अहराम काहिरा अरबी
कोम्पास जकार्ता इण्डोनेशियाई
ईरान
एतेलात (Ettela'at) तेहरान फारसी
आयरलैंड
द आयरिश टाइम्स डब्लिन अंग्रेजी
इज़रायल
हारेत्ज़ (Haaretz) तेल अवीव हिब्रू और  अंग्रेजी
इटली
कोरिएरे डेल्ला सेरा (Corriere della Sera) मिलान इतालवी
जापान
असाही शिम्बुन (Asahi Shimbun) ओसाका जापानी
केन्या
डेली नेशन नैरोबी अंग्रेजी
मलेशिया
न्यू स्ट्रेट्स टाइम्स (New Straits Times) कुआलालामपुर अंग्रेजी
नीदरलैंड
एनआरसी हन्देल्स्ब्लाद (NRC Handelsblad) एम्सटर्डम डच
नॉर्वे
आफ्तेनपोस्तेन (Aftenposten) ओस्लो रिक्स्मल(Riksmål)
पुर्तगाल
डिअरिओ  डे नोतिसिअस (Diário de Notícias) लिस्बन पुर्तगाली
फ्रांस
ली फिगारो (Le Figaro) पेरिस फ्रेंच
ली मोंडे (Le Monde) पेरिस फ्रेंच
सिंगापुर
द स्ट्रेट्स टाइम्स (The Straits Times) सिंगापुर अंग्रेजी
दक्षिण कोरिया
चोसुन इल्बो (Chosun Ilbo) सियोल कोरियाई
स्पेन
एल पैस (El País) मैड्रिड स्पेनिश
स्वीडन
दजेंस नीहेटर (Dagens Nyheter) स्टॉकहोम स्वीडिश
स्विट्ज़रलैंड
नुए ज़ुर्चेर ज़ितुंग (Neue Zürcher Zeitung) ज्यूरिख जर्मन
तुर्की
हुर्रियत (Hürriyet) इस्तांबुल तुर्की
कनाडा
द ग्लोब एंड मेल टोरंटो अंग्रेजी
ला प्रेस (La Presse) मॉन्ट्रियल फ्रेंच
सर्बिया
डानस (Danas) बेलग्रेड सर्बियाई
पोलिटिका बेलग्रेड सर्बियाई
जर्मनी
फ्रैन्क्फर्टर अल्जेमिएने ज़ितुंग (Frankfurter Allgemeine Zeitung) फ्रैंकफर्ट जर्मन
सुदेउत्स्चे ज़ितुंग (Süddeutsche Zeitung) म्युनिख जर्मन
डाई ज़िट (Die Zeit) हैम्बर्ग जर्मन
यूनाइटेड किंगडम
द डेली टेलीग्राफ लंदन अंग्रेजी
द इंडिपेंडेंट लंदन अंग्रेजी
द टाइम्स लंदन अंग्रेजी
यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका
लॉस एंजेल्स लॉस एंजेल्स अंग्रेजी
द न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूयॉर्क सिटी अंग्रेजी
द वाशिंगटन पोस्ट वाशिंगटन डी.सी. अंग्रेजी
ब्रिटेन
गार्जियन वीकली लन्दन अंग्रेजी
न्यू स्टेट्समैन लन्दन अंग्रेजी
डेली मिरर लन्दन अंग्रेजी
टाइम्स ऑफ़ लन्दन लन्दन अंग्रेजी
मैनचेस्टर गार्जियन मैनचेस्टर अंग्रेजी
डेली टेलीग्राफ लन्दन अंग्रेजी
रूस
प्रावदा मॉस्को रशियन
जेवास्ता मॉस्को रशियन
इजवेस्तिया मॉस्को रशियन
पाकिस्तान
डौन -कराची कराची अंग्रेजी
पाकिस्तान टाइम्स रावलपिंडी अंग्रेजी

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

विश्व के प्रमुख समाचार पत्र से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

प्रमुख समाचार पत्र प्रश्नोत्तर (FAQs):

समाचार पत्रों को 'बाइबिल ऑफ डेमोक्रेसी' शब्द अमेरिकी पत्रकार, समाजशास्त्री और लेखक वाल्टर लिपमैन द्वारा गढ़ा गया था। वाल्टर लिपमैन ने इस उपनाम का प्रयोग अपनी पुस्तक "पब्लिक ओपिनियन" में किया है। उन्होंने लोकतंत्र की नींव के रूप में समाचार पत्रों के महत्व को समझा और जनता के ज्ञान और विचारों को व्यक्त करने में समाचार पत्रों को महत्वपूर्ण माना।

देवकृष्ण व्यास ने लगभग 29 वर्षों तक दैनिक समाचार पत्र हिंदुस्तान में वरिष्ठ पत्रकार के रूप में काम किया और वर्ष 1989 में सहायक संपादक के रूप में सेवानिवृत्त हुए। व्यास का बीमारी के बाद 19 सितंबर 2016 को नई दिल्ली में 89 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

सुरेंद्रनाथ बनर्जी ब्रिटिश राज के दौरान शुरुआती भारतीय राजनीतिक नेताओं में से एक थे। सुरन्द्रनाथ बनर्जी ने 1879 में "द बाइलॉन्ग" नामक समाचार पत्र शुरू किया।

भारत का पहला अखबार "बंगाल गजट" जो कोलकाता में प्रकाशित हुआ था, 29 जनवरी 1780 को शुरू किया गया था। पुर्तगाली भारत में प्रिंटिंग प्रेस स्थापित करने वाले पहले लोग थे। 1557 में गोवा के पादरी ने भारत में पहली पुस्तक छापी।

उदंत मार्तंड भारत का पहला हिंदी भाषा का समाचार पत्र है, जो पहली बार 30 मई 1826 को प्रकाशित हुआ था। साप्ताहिक समाचार पत्र 30 मई 1826 को प्रत्येक मंगलवार को पंडित जुगल किशोर शुक्ल द्वारा कोलकाता से प्रकाशित किया जाता था।

  Last update :  Wed 10 Aug 2022
  Download :  PDF
  Post Views :  17885