टॉवर ब्रिज लंदन संक्षिप्त जानकारी

स्थानलंदन (यूनाइटेड किंगडम)
निर्माण1886 से 1894
वास्तुकारजॉर्ज डी स्टीवनसन और होरेस जोन्स
अभियंताजॉन वोल्फ बैरी
प्रकारयातायात पुल

टॉवर ब्रिज लंदन का संक्षिप्त विवरण

विश्व में कई स्थानों पर अलग-अलग प्रकार के पुल मौजूद है परंतु टावर ब्रिज जैसा अनोखा व अद्भुत पुल शायद ही विश्व में दूसरा कंही होगा। इस पुल की अनोखी संरचना इसे दुनिया के कई पुलों से पृथक करती। यह पुल ब्रिटेन की सुन्दरता को और भी ज्यादा बढ़ा देता है।

टॉवर ब्रिज लंदन का इतिहास

लंदन शहर के दो क्षेत्र टॉवर हैमलेट्स और साउथवार्क थेम्स नदी के कारण एक दूसरे से जुड़ नही पा रहे थे क्यूंकि यह नदी जहाजो के आवागमन के लिए उपयोग की जाती थी अगर इस पर कोई स्थाई पुल का निर्माण कर दिया जाता तो इससे जहाजो के आवागमन अवरुद्ध हो जाते।

इस समस्या का समाधान ढूंढ़ने के लिए सर अल्बर्ट जोसेफ अल्टमैन की अध्यक्षता में 1877 में एक विशेष पुल कमेटी का गठन किया गया, जिसमे 50 से अधिक पुलों के डिजाईन को लेकर बहस चली परंतु कोई डिजाईन तय नही हुआ अंत जॉर्ज डी स्टीवनसन, होरेस जोन्स और जॉन वोल्फ बैरी ने एक अनोखे बेसकूल पुल का सुझाव दिया जिसे स्वीकार कर लिया गया और पुल को गॉथिक शैली अनुसार बनाने का आदेश दिया गया। पुल का निर्माण 1886 में शुरू हुआ और उसे 1894 तक पूर्ण कर लिया गया।

टॉवर ब्रिज लंदन के रोचक तथ्य

  1. इस पुल के निर्माण में लगभग 8 वर्षो का समय लगा था। इसका निर्माण 21 जून 1886 में शुरू किया गया था और इसे 30 जून 1894 तक बनाकर जनता के लिए खोल दिया गया था।
  2. यह विश्व के विशाल पुलों में से एक है। इसकी कुल लंबाई 244 मीटर व कुल ऊंचाई 65 मीटर है।
  3. इस पुल के निर्माण के लिए लगभग 400 से अधिक श्रमिकों को नियुक्त किया गया था।
  4. इस पुल के आधार के निर्माण के लिए लगभग 70000 टन से अधिक कंक्रीट थेम्स नदी में डाला गया था।
  5. यह पुल लंदन के सबसे व्यस्त पुलों में से एक है जिसका प्रत्येक दिन लगभग 40,000 से अधिक लोग उपयोग करते हैं।
  6. इस पुल के टॉवर्स और सायादार रास्ते के ढांचे का निर्माण करने के लिए लगभग 11,000 टन स्टील का उपयोग किया गया था।
  7. यह पुल थेम्स नदी के ऊपर बना है जो लंदन के उत्तर में स्थित टॉवर हैमलेट्स को लंदन के दक्षिण में स्थित साउथवार्क से जोड़ता है।
  8. साल 1910 के बाद पहली बार टॉवर ब्रिज प्रदर्शनी (Tower Bridge Exhibition) को 1982 में स्थायी प्रदर्शनी के साथ जनता के लिए खोला गया था।

  Last update :  Wed 3 Aug 2022
  Post Views :  9899
उत्तराखंड के गंगोत्री मंदिर धाम का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
औरंगाबाद महाराष्ट्र के एलोरा की गुफाएं का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
औरंगाबाद महाराष्ट्र के अजंता की गुफाएं का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
रायसेन मध्य प्रदेश के भीमबेटका गुफ़ाएँ का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
राजपथ नई दिल्ली के मुगल गार्डन का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
हिमाचल प्रदेश के की गोम्पा की मोनेस्ट्री का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
छतरपुर मध्य प्रदेश के खजुराहो स्मारक समूह का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
कैलिफ़ोर्निया संयुक्त राज्य अमेरिका के गोल्डन गेट ब्रिज का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
बीजिंग चीन के चीन की विशाल दीवार का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
माआन गोवेर्नोराते जॉर्डन के पेट्रा का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी
राजपथ मार्ग नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी