इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे फहमिदा मिर्जा (Fahmida Mirza) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए फहमिदा मिर्जा से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Fahmida Mirza Biography and Interesting Facts in Hindi.

फहमिदा मिर्जा का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

नामफहमिदा मिर्जा (Fahmida Mirza)
वास्तविक नामफ़हमीदा ज़ुल्फ़िकार अली मिर्ज़ा
जन्म की तारीख20 दिसंबर
जन्म स्थानकराची, सिंध, पाकिस्तान
पिता का नाम काजी अब्दुल मजीद आबिद
उपलब्धि2008 - पाकिस्तान की पहली महिला स्पीकर
पेशा / देशमहिला / राजनीतिज्ञ / पाकिस्तान

फहमिदा मिर्जा - पाकिस्तान की पहली महिला स्पीकर (2008)

फहमिदा मिर्जा एक पाकिस्तानी महिला राजनीतिज्ञ है। वह सिंध नेशनल असेंबली की 18वीं अध्यक्ष तथा पाकिस्तान की पहली महिला स्पीकर (अध्यक्ष) थी। मिर्जा ने 1972 में हैदराबाद में सेंट मैरी कान्वांट से स्कूली शिक्षा प्राप्त की थी। उन्होंने मेडिकल ग्रेजुएशन की है और साल 1982 में जमशोरो में लीआकेट मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की उपाधि भी हासिल की थी।

फहमिदा मिर्जा का जन्म 20 दिसंबर 1956 को कराची, पाकिस्तान में हुआ था। इनके पिता का नाम काजी अब्दुल माजीद अबिद था।
मिर्ज़ा ने अपनी स्कूली शिक्षा 1972 में हैदराबाद में सेंट मैरी कॉन्वेंट से की। वह एक मेडिकल ग्रेजुएट हैं और उन्होंने 1982 में जमशेदो में लियाकत मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया। वह पेशे से एक कृषक और व्यवसायी हैं। वह कराची स्थित एक विज्ञापन कंपनी के मुख्य कार्यकारी और मिर्ज़ा शुगर मिल्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भी थीं।
1997 में मिर्जा पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (PPP) में शामिल हो गई और 1997 के पाकिस्तानी आम चुनाव में संविधान सभा NA-173 (Badin-II) से PPP के उम्मीदवार के रूप में पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के लिए चुने गए। वह 2002 के पाकिस्तानी आम चुनाव में संविधान सभा NA-225 (Badin-II) से PPP के उम्मीदवार के रूप में नेशनल असेंबली के लिए फिर से चुनी गई। उन्होंने 71,537 वोट प्राप्त किए और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (क्यू) (पीएमएल-क्यू) के उम्मीदवार खान मोहम्मद हलीपोटा को हराया। वह 2008 के पाकिस्तानी आम चुनाव में संविधान सभा NA-225 (Badin-cum-Tando मुहम्मद खान- II) से PPP के उम्मीदवार के रूप में नेशनल असेंबली के लिए फिर से चुनी गई। उन्हें 88,983 वोट मिले और उन्होंने पीएमएल-क्यू की उम्मीदवार बीबी यासमीन शाह को हराया। मार्च 2008 में, उन्हें पाकिस्तान की नेशनल असेंबली की 18 वीं और पहली महिला स्पीकर के रूप में चुना गया। उन्हें 249 वोट मिले और उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी मुहम्मद इसरार तारेन को हराया जिन्होंने 70 वोट हासिल किए। 2013 के आम चुनाव में वह संविधान सभा (बैडिन-कम-टंडो मुहम्मद खान-द्वितीय) से पीपीपी के उम्मीदवार के रूप में नेशनल असेंबली में फिर से चुनी गई। उसे 110,738 वोट मिले और उसने पाकिस्तान मुस्लिम लीग (FML) (PML-F) की उम्मीदवार बीबी यासमीन शाह को हराया। जून 2018 में, मिर्जा और उनके पति जुल्फिकार मिर्जा दोनों को स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान द्वारा ऋण चूककर्ता घोषित किया गया था। यह नोट किया गया था कि दंपति ने विभिन्न बैंकों से लाखों ऋण प्राप्त करने के लिए राजनीतिक प्रभाव का इस्तेमाल किया था जो बाद में लिखा गया था। वह 2018 के पाकिस्तानी आम चुनाव में संविधान सभा NA-230 (Badin-II) से GDA के उम्मीदवार के रूप में नेशनल असेंबली के लिए फिर से चुनी गई। 18 अगस्त को, इमरान खान ने औपचारिक रूप से अपनी संघीय कैबिनेट संरचना की घोषणा की और मिर्जा को अंतर प्रांत समन्वय के लिए मंत्री के रूप में नामित किया गया। 20 अगस्त 2018 को, उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान के संघीय मंत्रिमंडल में अंतर प्रांतीय समन्वय के लिए संघीय मंत्री के रूप में शपथ ली।

फहमिदा मिर्जा प्रश्नोत्तर (FAQs):

फहमिदा मिर्जा का जन्म 20 दिसंबर 1956 को कराची, सिंध, पाकिस्तान में हुआ था।

फहमिदा मिर्जा को 2008 में पाकिस्तान की पहली महिला स्पीकर के रूप में जाना जाता है।

फहमिदा मिर्जा का पूरा नाम फ़हमीदा ज़ुल्फ़िकार अली मिर्ज़ा था।

फहमिदा मिर्जा के पिता का नाम काजी अब्दुल मजीद आबिद था।

  Last update :  Tue 28 Jun 2022
  Post Views :  1991