इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे सैयद जहूर कासिम (Syed Zahoor Qasim) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए सैयद जहूर कासिम से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Syed Zahoor Qasim Biography and Interesting Facts in Hindi.

सैयद जहूर कासिम का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

नामसैयद जहूर कासिम (Syed Zahoor Qasim)
जन्म की तारीख31 दिसम्बर 1926
जन्म स्थानपेशावर, तत्कालीन ब्रिटिश भारत (वर्तमान पाकिस्तान)
निधन तिथि20 अक्टूबर 2015
उपलब्धि1982 - प्रथम भारतीय अंटार्कटिका अभियान दल के नेता
पेशा / देशपुरुष / जीवविज्ञानी / भारत

सैयद जहूर कासिम (Syed Zahoor Qasim)

प्रसिद्ध सागर वैज्ञानिक डॉ. सैयद जहूर कासिम ‘प्रथम गंगोत्री अभियान" के नाम से प्रसिद्ध अन्टार्कटिक अभियान दल के नेता थे। इस अभियान दल के सदस्यों की संख्या 21 थी। ये भारत की सात भिन्न-भिन्न वैज्ञानिक संस्थाओं से थे। भारत के पास अपना बर्फ-भंजक जलयान ना होने के कारण इस दल को अपनी यात्रा के लिए नोर्वे के एक विशेष जलयान ‘एम.वी. पोलर सर्किल" का उपयोग करना पड़ा था। ये दल 11,000 कि. मी. की दूरी तय करके 09 जनवरी 1982 को मध्य रात्रि के 30 मिनट बाद अन्टार्कटिक जा पहुँचा था।

सैयद जहूर कासिम का जन्म 1926 में रक्षवाड़ा ग्राम, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश में हुआ था। इनके पूर्वज कौशाम्बी के शासक थे।
सैयद जहूर कासिम की मृत्यु 20 अक्टूबर 2015 (आयु 88 वर्ष) को दिल्ली , भारत में हुआ था।
उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा की शुरूआत मजीडिया इस्लामिया इंटरमीडिएट कॉलेज इलाहाबाद से की और फिर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में चले गए, जहां उन्होंने 1949 में बी.एससी की डिग्री और 1951 में जूलॉजी में एम.एससी की डिग्री हासिल की।
सैयद जहूर कासिम वर्ष 1989 से 1991 तक जामिया मिलिया इस्लामिया के कुलपति थे। वह वर्ष 1971 से 1974 तक केंद्रीय समुद्री मत्स्य पालन अनुसंधान संस्थान, कोच्चि, केरल के निदेशक थे। वह 1991 से 1996 तक भारत के योजना आयोग के सदस्य थे।

📅 Last update :