इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे महाशय धर्मपाल गुलाटी (Mahashay Dharampal Gulati) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए महाशय धर्मपाल गुलाटी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Mahashay Dharampal Gulati Biography and Interesting Facts in Hindi.

महाशय धर्मपाल गुलाटी का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

नाममहाशय धर्मपाल गुलाटी (Mahashay Dharampal Gulati)
उपनामदेगी मिर्च वाले
जन्म की तारीख27 मार्च
जन्म स्थानसियालकोट (वर्तमान पाकिस्तान में)
निधन तिथि03 दिसंबर
पिता का नाम महाशय चुन्नी लाल गुलाटी
उपलब्धि1953 - एम. डी. एच. कंपनी के मालिक
पेशा / देशपुरुष / व्यवसायी / भारत

महाशय धर्मपाल गुलाटी - एम. डी. एच. कंपनी के मालिक (1953)

महाशय धर्मपाल गुलाटी एक भारतीय व्यापारी थे। वे एम. डी. एच. (MDH)मसाला कंपनी के मालिक थे। एम. डी. एच. एक भारतीय मसाला कंपनी है। किसी समय धर्मपाल तांगा चलाकर पेट भरने को मजबूर थे, और वर्तमान में 2000 करोड़ रुपयों के बिजनेस ग्रुप के मालिक थे।

धर्मपाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1923 को पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था। उनके पिता का नाम महाशय चुन्नी लाल गुलाटी था, जो एम. डी. एच. कंपनी के संस्थापक थे। उनका परिवार भारत के विभाजन के दौरान भारत आ गया था। परिवार ने कुछ समय अमृतसर में एक शरणार्थी शिविर में बिताया, और फिर वे काम की तलाश में दिल्ली चले गए।
गुलाटी का 26 नवंबर 2020 से पिछले तीन हफ्तों से दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। 26 नवंबर 2020 की गुरुवार की सुबह उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ। उन्होंने 3 दिसंबर 2020 को सुबह 5:21 बजे अंतिम सांस ली।
धर्मपाल गुलाटी ने 5वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी होने से पहले ही स्कूल छोड़ दिया था। साल 1937 में, उन्होंने अपने पिता द्वारा शुरू किए गए छोटे से व्यापार में मदद करने लगाए थे।
धर्मपाल गुलाटी के पिता ने पाकिस्तान के सियालकोट में साल 1922 में एक छोटी सी दुकान से इस सफर की शुरुआत की थी। भारत-पाकिस्तान विभाजन के बाद उनका परिवार दिल्ली आ गया और 27 सितंबर 1947 को उनके पास केवल 1500 रुपये थे। भारत आकर इन्होंने दिल्ली में करोल बाग से अपना व्यापार प्रारंभ किया था। साल 2017 में उन्हें इंडिया में किसी भी FMCG कंपनी का सबसे ज्यादा वेतन पाने वाला CEO भी घोषित किया गया था। धर्मपाल गुलाटी अपनी मृत्यु के समय 2000 करोड़ रुपयों के बिजनेस ग्रुप के मालिक थे।
2019 में, भारत सरकार ने धर्मपाल गुलाटी को भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया था।

महाशय धर्मपाल गुलाटी प्रश्नोत्तर (FAQs):

महाशय धर्मपाल गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1923 को सियालकोट (वर्तमान पाकिस्तान में) में हुआ था।

महाशय धर्मपाल गुलाटी को 1953 में एम. डी. एच. कंपनी के मालिक के रूप में जाना जाता है।

महाशय धर्मपाल गुलाटी की मृत्यु 03 दिसंबर 2020 को हुई थी।

महाशय धर्मपाल गुलाटी के पिता का नाम महाशय चुन्नी लाल गुलाटी था।

महाशय धर्मपाल गुलाटी को देगी मिर्च वाले के उपनाम से जाना जाता है।

  Last update :  Tue 28 Jun 2022
  Post Views :  2571