केंद्र सरकार ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम बदल दिया है. सरकार ने इसे हॉकी के 'जादूगर' कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखने का फ़ैसला किया गया है। 6 अगस्त 2021 को प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (पहले राजीव गाँधी खेल रत्न)

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न जिसे पहले राजीव गाँधी खेल रत्न के नाम से जाना जाता था, भारत का खेल जगत में दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है। इस सम्मान का नाम पहले पूर्व प्रधानमन्त्री राजीव गाँधी के नाम पर रखा गया गया था लेकिन 6 अगस्त 2021 को पुरस्कार का नाम बदलकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार का दिया गया है। यह सम्मान 1991-92 में शुरू किया गया। खेल के क्षेत्र में सराहना और जागरूकता के लिए इस सम्मान की स्थापना की गयी थी। इसका उद्देश्य खिलाड़ियों को सम्मानित कर उनकी प्रतिष्ठा बढ़ाना है ताकि वे समाज में अधिक सम्मान प्राप्त कर सकें। भारत का राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार खेल में उपलब्धि के लिए मिलना सम्मान की बात है।

मेजर ध्यानचंद कौन थे?

मेजर ध्यानचंद एक भारतीय हॉकी खिलाडी एवं कप्तान थे, जिनकी गिनती दुनिया के श्रेष्ठतम खिलाडियों में होती है। मेजर ध्यान चन्द को हॉकी का जादूगर कहा जाता था। हॉकी के खेल में ध्यान चन्द ने लोकप्रियता का जो कीर्तिमान स्थापित किया है, उसके आसपास भी आज तक दुनिया का कोई खिलाड़ी नहीं पहुँच सका है। वे रात में भी बहुत अभ्यास करते थे, इसलिए उन्हें उनके साथी चाँद कहकर पुकारते थे। वे तीन बार ओलम्पिक के स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य रहे| उनकी जन्मतिथि को भारत में ""राष्ट्रीय खेल दिवस"" के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने अपने खेल जीवन में 1000 से अधिक गोल दागे।

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के बारे में संक्षिप्त जानकारी

पुरस्कार का वर्ग खेल
स्थापना वर्ष 1991-92
पुरस्कार राशि 7,50,000
प्रथम विजेता विश्वनाथन आनन्द
राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 2022 के विजेता शरथ कमल (टेबल टेनिस)
पिछला/पिछले विजेता (2021) नीरज चोपड़ा (एथलेटिक्स), रवि कुमार (कुश्ती), लवलीना बोरगोहेन (मुक्केबाजी), पीआर श्रीजेश (हॉकी), अवनि लेखारा (पैरा शूटिंग), सुमित अंतिल (पैरा एथलेटिक्स), प्रमोद भगत (पैरा बैडमिंटन), कृष्णा नागर (पैरा बैडमिंटन), मनीष नरवाल (पैरा शूटिंग), मिताली राज (क्रिकेट), सुनील छेत्री (फुटबॉल), मनप्रीत सिंह (हॉकी)
विवरण भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार 2022

शरथ कमल को भारत के सर्वोच्च खेल सम्मान खेल रत्न पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया। शरथ कमल, एक भारतीय पेशेवर टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। वह दस बार सीनियर नेशनल चैंपियन बनने वाले पहले भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं और इस तरह उन्होंने आठ बार के नेशनल चैंपियन कमलेश मेहता का रिकॉर्ड तोड़ा। 2019 में उन्हें भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार की पुरस्कार राशि

इस सम्मान में एक पदक, सम्मान सहित एक प्रमाण पत्र और नक़द इनाम मिलता है। सन् 2004-05 तक, नक़द रुपयों की संख्या 5,00,000/- थी। अब यह संख्या 5,00,000 से बढ़ाकर 7,50,000 कर दी गयी है। मेजर ध्यानचंद खेल रत्न (पूर्ण राजीव गांधी खेल रत्न) खिलाड़ी को प्रतिवर्ष दिया जाता है जिसमें उत्कृष्ट खेल प्रदर्शन के लिए व्यक्ति या दल को सम्मानित किया जाता है। भारत सरकार द्वारा सम्मानित व्यक्तियों को रेलवे की मुफ्त पास सुविधा प्रदान की जाती है जिसके तहत राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार विजेता राजधानी या शताब्दी गाड़ियों में प्रथम और द्वितीय श्रेणी वातानुकूलित कोचों में फ्री यात्रा कर सकते हैं। यहाँ राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों की सूची दी गई है। (Rajiv Gandhi Khel Ratna Awards Winners List in Hindi)

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों की सूची: (Major Dhyan Chand Khel Ratna Award Winners List in Hindi)

वर्ष पुरस्‍कार पाने वाले खिलाड़ी का नाम खेल
1991-92 विश्वनाथन आनन्द शतरंज
1992-93 गीत सेठी बिलियर्ड्स
1993-94 होमी मोतीवाला (संयुक्त) नौकायन
1993-94 पुष्पेन्द्र कुमार गर्ग (संयुक्त) नौकायन
1994-95 कर्णम मल्लेश्वरी भारोत्तोलन
1995-96 कुंजारानी देवी (संयुक्त) भारोत्तोलन
1996-97 लिएंडर पेस (संयुक्त) टेनिस
1997-98 सचिन तेंदुलकर क्रिकेट
1998-99 ज्योतिर्मय सिकदार एथलेटिक्स (ट्रैक और फील्ड)
1999-2000 धनराज पिल्लै हॉकी
2000-01 पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन
2001 अभिनव बिंद्रा शूटिंग
2002 अंजली वेद पाठक (संयुक्त) शूटिंग
2002 के.एम. बीनामोल (संयुक्त) एथलेटिक्स (ट्रैक और फील्ड)
2003 अंजू बॉबी जॉर्ज एथलेटिक्स (ट्रैक और फील्ड)
2004 राज्यवर्धन सिंह राठौर शूटिंग (निशानेबाज़ी)
2005 पंकज आडवाणी बिलियर्ड्स और स्नूकर
2006 मानवजीत सिंह संधू शूटिंग
2007 महेन्द्र सिंह धोनी क्रिकेट
2009 मैरी कॉम (संयुक्त) बाक्सिंग (मुक्केबाज़ी)
2009 विजेन्द्र कुमार सिंह (संयुक्त) बाक्सिंग (मुक्केबाज़ी)
2009 सुशील कुमार (संयुक्त) कुश्ती
2010 साइना नेहवाल बैडमिंटन
2011 गगन नारंग निशानेबाज़ी
2012 विजय कुमार निशानेबाज़ी
2012 योगेश्वर दत्त कुश्ती
2013 रोंजन सोढ़ी निशानेबाज़ी
2015 सानिया मिर्जा टेनिस
2016 पी.वी. सिंधु बैडमिंटन
2016 दीपा करमाकर जिम्नास्टिक
2016 जीतू राय निशानेबाज़ी
2016 साक्षी मलिक कुश्ती
2017 सरदार सिंह हॉकी
2017 देवेंद्र झांझरिया जेवलिन थ्रो
2018 विराट कोहली क्रिकेट
2018 साइखोम मीराबाई चानू भारोत्तोलन
2019 बजरंग पूनिया कुश्ती
2019 दीपा मलिक पैरा एथलेटिक्स
2020 रोहित शर्मा क्रिकेट
2020 विनेश फोगाट कुश्ती
2020 मनिका बत्रा टेबल टेनिस
2020 रानी रामपाल हॉकी
2020 मरियप्पन थंगवेलु पैरा एथलीट
2021 नीरज चोपड़ा एथलेटिक्स
2021 रवि कुमार कुश्ती
2021 लवलीना बोरगोहेन मुक्केबाजी
2021 पीआर श्रीजेश हॉकी
2021 अवनि लेखारा पैरा शूटिंग
2021 सुमित अंतिल पैरा एथलेटिक्स
2021 प्रमोद भगत पैरा बैडमिंटन
2021 कृष्णा नागर पैरा बैडमिंटन
2021 मनीष नरवाल पैरा शूटिंग
2021 मिताली राज क्रिकेट
2021 सुनील छेत्री फुटबॉल
2021 मनप्रीत सिंह हॉकी
2022 शरथ कमल टेबल टेनिस

महत्वपूर्ण नोट

  • वर्ष 2008 में राजीव गाँधी खेल रत्न किसी को नहीं दिया गया।
  • वर्ष 2014 में राजीव गाँधी खेल रत्न किसी को नहीं दिया गया।

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

खेल रत्न पुरस्कार प्रश्नोत्तर (FAQs):

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पदकों के साथ-साथ मल्लेश्वरी को 1994 में अर्जुन पुरस्कार, 1999 में राजीव गांधी खेल रत्न और 1999 में पद्म श्री से भी सम्मानित किया गया।

मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार भारत में दिया जाने वाला सर्वोच्च खेल पुरस्कार है। इस पुरस्कार का नाम भारत और विश्व हॉकी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के नाम पर रखा गया है, जो तीन ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे।

ध्यानचंद पुरस्कार की स्थापना वर्ष 2002 में की गई थी। यह पुरस्कार वर्ष 2002 से खेल एवं युवा मंत्रालय द्वारा प्रतिवर्ष दिया जाता है। इस सम्मान के लिए विजेताओं का चयन उनके सक्रिय खेल के दौरान खेल के प्रति योगदान के लिए मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा किया जाता है।

ध्यानचंद पुरस्कार प्रतिवर्ष खेल एवं युवा मामलों के मंत्रालय द्वारा दिया जाता है। प्राप्तकर्ताओं का चयन मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा किया जाता है और पिछले चार वर्षों की अवधि में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल के क्षेत्र में शानदार और उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए उन्हें सम्मानित किया जाता है।

वर्ष 2017 में फुटबॉल खेल के लिए ध्यानचंद पुरस्कार के पहले विजेता सैयद शाहिद हकीम थे।

  Last update :  Wed 6 Sep 2023
  Download :  PDF
  Post Views :  24177
  Post Category :  खेल पुरस्कार