सल्तनत कालीन सूफी संत एवं स्थापत्य कला

✅ Published on August 20th, 2017 in इतिहास, भारत, भारतीय रेलवे, सामान्य ज्ञान अध्ययन

सल्तनतकालीन प्रमुख सूफी संत एवं स्थापत्य कला (Saltnatkalin Prominent Sufi Saint and Architecture in Hindi)

सूफ़ी संत किसे कहते है?

सूफ़ीवाद का पालन करने वाले संत सूफ़ी संत कहलाते हैं। यह इस्लाम धर्म की उदारवादी शाखा है। सूफी संत, ईश्‍वर की याद में ऐसे खोए होते हैं कि उनका हर कर्म सिर्फ ईश्‍वर के लिए होता है और स्‍वयं के लिए किया गया हर कर्म उनके लिए वर्जित होता है, इसलिए संसार की मोहमाया उन्‍हें विचलित नहीं कर पाती। सूफी संत एक ईश्वर में विश्वास रखते हैं तथा भौतिक सुख-सुविधाओं को त्याग कर धार्मिक सहिष्णुता और मानव-प्रेम तथा भाईचारे पर विशेष बल देते हैं।

सूफ़ी शब्द की उत्पत्ति:
अबू नस्र अल सिराज की पुस्तक ‘किताब-उल-लुमा’ में किये गये उल्लेख के आधार पर माना जाता है कि, सूफ़ी शब्द की उत्पत्ति अरबी शब्द ‘सूफ़’ (ऊन) से हुई, जो एक प्रकार से ऊनी वस्त्र का सूचक है, जिसे प्रारम्भिक सूफ़ी लोग पहना करते थे। ‘सफ़ा’ से भी उत्पत्ति मानी जाती है। सफ़ा का अर्थ ‘पवित्रता’ या ‘विशुद्धता’ से है। इस प्रकार आचार-व्यवहार से पवित्र लोग सूफ़ी कहे जाते थे। एक अन्य मत के अनुसार- हजरत मुहम्मद साहब द्वारा मदीना में निर्मित मस्जिद के बाहर सफ़ा अर्थात् ‘मक्का की पहाड़ी’ पर कुछ लोगों ने शरण लेकर अपने को खुदा की अराधना में लीन कर लिया, इसलिए वे सूफ़ी कहलाये।

सल्तनतकाल के प्रमुख सूफी संतों के नाम:

  • ख्वाजा मुइनुद्दीन चिश्ती
  • बाबा फरीद
  • शेख निजामुद्दीन औलिया
  • गेसुदराज
  • नसीरुद्दीन महमूद
  • शिहाबुद्दीन सुहरावर्दी
  • बख्तियार काकी
  • शेख हुसैनी
  • शेख बहाउद्दीन जकरिखा
  • जलालुद्दीन तबरीजी
  • शेख हामिदउद्दीन नागौरी

सल्तनतकालीन स्थापत्य एवं वास्तुकला:

सल्तनत काल में भारतीय स्थापत्य कला के क्षेत्र में जिस शैली का विकास हुआ, वह भारतीय तथा इस्लामी शैलियों का सम्मिश्रिण थी। इसलिए स्थापत्य कला की इस शैली को ‘इण्डो इस्लामिक’ शैली कहा गया। कुछ विद्वानों ने इसे ‘इण्डो-सरसेनिक’ शैली कहा है। फर्ग्यूसन महोदय ने इसे पठान शैली कहा है, किन्तु यह वास्तव में भारतीय एवं इस्लामी शैलियों का मिश्रण थी। सर जॉन मार्शल, ईश्वरी प्रसाद जैसे इतिहासविदों ने स्थापत्य कला की इस शैली को ‘इण्डों-इस्लामिक’ शैली व हिन्दू-मुस्लिम शैली कहना उचित समझा।

इण्डों-इस्लामिक स्थापत्य कला शैली की विशेषताएँ निम्न प्रकार थीं:

  • सल्तनत काल में स्थापत्य कला के अन्तर्गत हुए निर्माण कार्यों में भारतीय एवं ईरानी शैलियों के मिश्रण का संकेत मिलता है।
  • सल्तन काल के निर्माण कार्य जैसे- क़िला, मक़बरा, मस्जिद, महल एवं मीनारों में नुकीले मेहराबों-गुम्बदों तथा संकरी एवं ऊँची मीनारों का प्रयोग किया गया है।
  • इस काल में मंदिरों को तोड़कर उनके मलबे पर बनी मस्जिद में एक नये ढंग से पूजा घर का निर्माण किया गया।
  • सल्तनत काल में सुल्तानों, अमीरों एवं सूफी सन्तों के स्मरण में मक़बरों के निर्माण की परम्परा की शुरुआत हुई।
  • इस काल में ही इमारतों की मज़बूती हेतु पत्थर, कंकरीट एवं अच्छे क़िस्म के चूने का प्रयोग किया गया।
  • सल्तनत काल में इमारतों में पहली बार वैज्ञानिक ढंग से मेहराब एवं गुम्बद का प्रयोग किया गया। यह कला भारतीयों ने अरबों से सीखी। तुर्क सुल्तानों ने गुम्बद और मेहराब के निर्माण में शिला एवं शहतीर दोनों प्रणालियों का उपयोग किया।
  • सल्तनत काल में इमारतों की साज-सज्जा में जीवित वस्तुओं का चित्रिण निषिद्ध होने के कारण उन्हें सजाने में अनेक प्रकार के फूल-पत्तियाँ, ज्यामितीय एवं क़ुरान की आयतें खुदवायी जाती थीं। कालान्तर में तुर्क सुल्तानों द्वारा हिन्दू साज-सज्जा की वस्तुओं जैसे- कमलबेल के नमूने, स्वस्तिक, घंटियों के नमूने, कलश आदि का भी प्रयोग किया जाने लगा। अलंकरण की संयुक्त विधि को सल्तनत काल में ‘अरबस्क विधि’ कहा गया।

सल्तनत कालीन स्थापत्य कला की सूची:

शासक का नाम इमारत का नाम
कुतुबुद्दीन ऐबक क़ुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद
कुतुबुद्दीन ऐबक व इल्तुतमिश कुतुबमीनार
कुतुबुद्दीन ऐबक अढ़ाई दिन का झोपड़ा
इल्तुतमिश इल्तुतमिश का मक़बरा
इल्तुतमिश जामा मस्जिद
इल्तुतमिश अतारकिन का दरवाज़ा
इल्तुतमिश सुल्तानगढ़ी
बलबन लाल महल
बलबन बलबन का मक़बरा
अलाउद्दीन ख़िलजी जमात खाना मस्जिद
अलाउद्दीन ख़िलजी अलाई दरवाज़ा
अलाउद्दीन ख़िलजी हज़ार सितून (स्तम्भ)
ग़यासुद्दीन तुग़लक़ तुग़लक़ाबाद
ग़यासुद्दीन तुग़लक़ ग़यासुद्दीन तुग़लक़ का मक़बरा
मुहम्मद बिन तुग़लक़ आदिलाबाद का मक़बरा
मुहम्मद बिन तुग़लक़ जहाँपनाह नगर
मुहम्मद बिन तुग़लक़ शेख़ निज़ामुद्दीन औलिया का मक़बरा
मुहम्मद बिन तुग़लक़ फ़िरोज़शाह तुग़लक़ का मक़बरा
जूनाशाह ख़ानेजहाँ फ़िरोज़शाह का मक़बरा
जूनाशाह ख़ानेजहाँ काली मस्जिद
जूनाशाह ख़ानेजहाँ खिर्की मस्जिद
लोदी काल बहलोल लोदी का मक़बरा
इब्राहीम लोदी सिकन्दर शाह लोदी का मक़बरा
मियाँ कुआ मोठ की मस्जिद

इन्हें भी पढ़े:  भारतीय इतिहास के गुप्तकालीन शासक और उनके अभिलेखों के नाम

📊 This topic has been read 9619 times.

स्थापत्य कला - अक्सर पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर:

प्रश्न: वह सूफी संत कौन था जो यह मानता था कि भक्ति संगीत ईश्वर के निकट पहुँचने का मार्ग है?
उत्तर: शेख मुईनुद्दीन चिश्ती का मानना था की, एकमात्र संगीत है भगवान अर्थात ईश्वर तक पहुँचने का मार्ग है। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह के खादिम भील पूर्वजों के वंसज है। इन्हें हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ के नाम से भी जाना जाता है। ग़रीब नवाज़ इन्हें लोगों द्वारा दिया गया लक़ब है।
📝 This question was asked in exam:- SSC CML May, 2002
प्रश्न: अजमेर में किस सूफी फकीर की दरगाह है?
उत्तर: मुइनुद्दीन चिश्ती
📝 This question was asked in exam:- SSC CAPF Jan, 2003
प्रश्न: सूफी संतों के निवास-स्थान को क्या कहा जाता है?
उत्तर: खानकाह
📝 This question was asked in exam:- SSC TA Dec, 2004
प्रश्न: भक्ति एव सूफी आन्दोलन के सन्तो का योगदान किस क्षेत्र में था?
उत्तर: हिन्दू और मुसलमानों की एकता में
📝 This question was asked in exam:- SSC LDC Aug, 2005
प्रश्न: भारत में पहला सूफी संत कौन था?
उत्तर: ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती
📝 This question was asked in exam:- SSC SOC Jun, 2009
प्रश्न: सूफी परम्परा में ’पीर’ किसको कहा जाता है ?
उत्तर: सूफियों के गुरू को
📝 This question was asked in exam:- SSC MTS Feb, 2011
प्रश्न: अब्दुल फजल किस सूफी संत की पुत्र थे?
उत्तर: शेख मुबारक
📝 This question was asked in exam:- SSC CGL Aug, 2016
प्रश्न: मुहम्मद-बिन-तुगलक किस कला में निपुण था?
उत्तर: सुलेखन में
📝 This question was asked in exam:- SSC CHSL Feb, 2004
प्रश्न: मुहम्मद गवान ने किस स्थान पर एक प्रसिद्ध मदरसा बनवाया था?
उत्तर: बिदार
📝 This question was asked in exam:- SSC TE Jun, 2013
प्रश्न: कुतुबमीनार किस प्रसिद्ध शासक ने पूरा किया था?
उत्तर: इल्तुतमिश
📝 This question was asked in exam:- SSC CPO Nov, 2008
प्रश्न: संत कबीर के गुरु कौन थे?
उत्तर: रामानंद
📝 This question was asked in exam:- SSC CML Oct, 1999
प्रश्न: वह सूफी संत कौन था जो यह मानता था कि भक्ति संगीत ईश्वर के निकट पहुँचने का मार्ग है?
उत्तर: शेख मुईनुद्दीन चिश्ती का मानना था की, एकमात्र संगीत है भगवान अर्थात ईश्वर तक पहुँचने का मार्ग है। ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह के खादिम भील पूर्वजों के वंसज है। इन्हें हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ के नाम से भी जाना जाता है। ग़रीब नवाज़ इन्हें लोगों द्वारा दिया गया लक़ब है।
📝 This question was asked in exam:- SSC CML May, 2002
प्रश्न: कौन-सा प्राचीन भारतीय नगर तीन विद्वान संतों कपिल, गार्गी और मैत्रेय का घर था?
उत्तर: मिथिला
📝 This question was asked in exam:- SSC CPO Sep, 2004
प्रश्न: सूफी संतों के निवास-स्थान को क्या कहा जाता है?
उत्तर: खानकाह
📝 This question was asked in exam:- SSC TA Dec, 2004
प्रश्न: भारत में पहला सूफी संत कौन था?
उत्तर: ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती
📝 This question was asked in exam:- SSC SOC Jun, 2009
प्रश्न: शिवाजी की समसामयिक मराठा संत का नाम क्या था?
उत्तर: संत तुकाराम
📝 This question was asked in exam:- SSC CGL Jul, 2012
प्रश्न: पोप बेनेडिक्ट XVI द्वारा साधुता (संतपन) प्रदान किए जाने वाली भारत की प्रथम महिला कौन थी?
उत्तर: पोप बेनेडिक्ट XVI द्वारा साधुता (संतपन) प्रदान किए जाने वाली भारत की प्रथम महिला सिस्टर अल्फोन्सा थी।
📝 This question was asked in exam:- SSC CGL Jul, 2012
प्रश्न: अलवार संतो का आविर्भाव किस आधुनिक राज्य से हुआ?
उत्तर: तमिलनाडु
📝 This question was asked in exam:- SSC MTS Mar, 2013
प्रश्न: भक्ति आन्दोलन का कौन-सा संत नवद्वीप (बंगाल) से आया था?
उत्तर: चैतन्य प्रभु
📝 This question was asked in exam:- SSC MTS Feb, 2014
प्रश्न: उस भारतीय संत (पुजारी) का नाम क्या है, जिसने 1893 ई० में शिकागो (यू० एस०) में आयोजित 'धर्मों का विश्व सम्मेलन' में भाग लिया था?
उत्तर: स्वामी विवेकानन्द
📝 This question was asked in exam:- SSC MTS Feb, 2014

स्थापत्य कला - महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी:

प्रश्न: वह सूफी संत कौन था जो यह मानता था कि भक्ति संगीत ईश्वर के निकट पहुँचने का मार्ग है?
Answer option:

      सलीम चिश्ती

    ❌ Incorrect

      शाह आलम बुखारी

    ❌ Incorrect

      हमीदुद्दीन नागौरी

    ❌ Incorrect

      शेख मुईनुद्दीन चिश्ती

    ✅ Correct

अधिक पढ़ें: विश्व संगीत दिवस (21 जून) – World Music Day (21 June)
प्रश्न: अजमेर में किस सूफी फकीर की दरगाह है?
Answer option:

      मुइनुद्दीन चिश्ती

    ✅ Correct

      संत एकनाथ

    ❌ Incorrect

      गुरु रामदास

    ❌ Incorrect

      शेख निजामुद्दीन चिश्ती

    ❌ Incorrect

प्रश्न: सूफी संतों के निवास-स्थान को क्या कहा जाता है?
Answer option:

      मन्सूर

    ❌ Incorrect

      चर्च

    ❌ Incorrect

      खानकाह

    ✅ Correct

      इग्लू

    ❌ Incorrect

प्रश्न: भक्ति एव सूफी आन्दोलन के सन्तो का योगदान किस क्षेत्र में था?
Answer option:

      सामाजिक सदभाव में

    ❌ Incorrect

      राष्ट्रीय एकता में

    ❌ Incorrect

      हिन्दू और मुसलमानों की एकता में

    ✅ Correct

      धार्मिक सदभाव में

    ❌ Incorrect

प्रश्न: भारत में पहला सूफी संत कौन था?
Answer option:

      शेख हुसैन

    ❌ Incorrect

      नसीरुद्दीन महमूद

    ❌ Incorrect

      ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती

    ✅ Correct

      बाबा फरीद

    ❌ Incorrect

प्रश्न: सूफी परम्परा में ’पीर’ किसको कहा जाता है ?
Answer option:

      सूफी अनुयायी

    ❌ Incorrect

      इनमे से कोई नही

    ❌ Incorrect

      सूफी भिक्षुक

    ❌ Incorrect

      सूफियों के गुरू को

    ✅ Correct

प्रश्न: अब्दुल फजल किस सूफी संत की पुत्र थे?
Answer option:

      बाबा कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी

    ❌ Incorrect

      हजरत ख्वाजा

    ❌ Incorrect

      शेख मुबारक

    ✅ Correct

      नसीरुद्दीन चिराग

    ❌ Incorrect

प्रश्न: मुहम्मद-बिन-तुगलक किस कला में निपुण था?
Answer option:

      चित्रकारी में

    ❌ Incorrect

      सुलेखन में

    ✅ Correct

      शहनाई वादन में

    ❌ Incorrect

      तबला में

    ❌ Incorrect

प्रश्न: मुहम्मद गवान ने किस स्थान पर एक प्रसिद्ध मदरसा बनवाया था?
Answer option:

      कोप्पाल

    ❌ Incorrect

      बिदार

    ✅ Correct

      गदग

    ❌ Incorrect

      हुब्बाल्ली

    ❌ Incorrect

प्रश्न: कुतुबमीनार किस प्रसिद्ध शासक ने पूरा किया था?
Answer option:

      इल्तुतमिश

    ✅ Correct

      श्री लक्ष्मण श्रीधर वाकणकर

    ❌ Incorrect

      मोहम्मद गोरी

    ❌ Incorrect

      फ़िरोजशाह

    ❌ Incorrect

अधिक पढ़ें: भारत के प्रसिद्ध मकबरे, फाटक, मीनार
प्रश्न: संत कबीर के गुरु कौन थे?
Answer option:

      रामानंद

    ✅ Correct

      रामानुज

    ❌ Incorrect

      रविदास

    ❌ Incorrect

      भगत धन्ना

    ❌ Incorrect

अधिक पढ़ें: भारत और विश्व के प्रसिद्ध व्यक्ति और उनके गुरुओं की सूची
प्रश्न: वह सूफी संत कौन था जो यह मानता था कि भक्ति संगीत ईश्वर के निकट पहुँचने का मार्ग है?
Answer option:

      हमीदुद्दीन नागौरी

    ❌ Incorrect

      शाह आलम बुखारी

    ❌ Incorrect

      सलीम चिश्ती

    ❌ Incorrect

      शेख मुईनुद्दीन चिश्ती

    ✅ Correct

अधिक पढ़ें: विश्व संगीत दिवस (21 जून) – World Music Day (21 June)
प्रश्न: कौन-सा प्राचीन भारतीय नगर तीन विद्वान संतों कपिल, गार्गी और मैत्रेय का घर था?
Answer option:

      काशी

    ❌ Incorrect

      मिथिला

    ✅ Correct

      अयोध्या

    ❌ Incorrect

      उज्जयिनी

    ❌ Incorrect

प्रश्न: सूफी संतों के निवास-स्थान को क्या कहा जाता है?
Answer option:

      मन्सूर

    ❌ Incorrect

      खानकाह

    ✅ Correct

      चर्च

    ❌ Incorrect

      इग्लू

    ❌ Incorrect

प्रश्न: भारत में पहला सूफी संत कौन था?
Answer option:

      नसीरुद्दीन महमूद

    ❌ Incorrect

      बाबा फरीद

    ❌ Incorrect

      शेख हुसैन

    ❌ Incorrect

      ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती

    ✅ Correct

प्रश्न: शिवाजी की समसामयिक मराठा संत का नाम क्या था?
Answer option:

      एकनाथ

    ❌ Incorrect

      समर्थ रामदास

    ❌ Incorrect

      नामदेव

    ❌ Incorrect

      संत तुकाराम

    ✅ Correct

प्रश्न: पोप बेनेडिक्ट XVI द्वारा साधुता (संतपन) प्रदान किए जाने वाली भारत की प्रथम महिला कौन थी?
Answer option:

      देवाश्यम पिल्लई

    ❌ Incorrect

      मरियम वत्तालिल

    ❌ Incorrect

      सिस्टर अल्फोन्सा

    ✅ Correct

      सिस्टर लूसिया

    ❌ Incorrect

अधिक पढ़ें: भारत में प्रथम महिला की सूची – नाम और उनकी उपलब्धियॉ विभिन्न क्षेत्रों में
प्रश्न: अलवार संतो का आविर्भाव किस आधुनिक राज्य से हुआ?
Answer option:

      केरल

    ❌ Incorrect

      गुजरात

    ❌ Incorrect

      तमिलनाडु

    ✅ Correct

      कर्नाटक

    ❌ Incorrect

प्रश्न: भक्ति आन्दोलन का कौन-सा संत नवद्वीप (बंगाल) से आया था?
Answer option:

      रामानुज

    ❌ Incorrect

      माध्वाचार्य

    ❌ Incorrect

      अलवर

    ❌ Incorrect

      चैतन्य प्रभु

    ✅ Correct

प्रश्न: उस भारतीय संत (पुजारी) का नाम क्या है, जिसने 1893 ई० में शिकागो (यू० एस०) में आयोजित 'धर्मों का विश्व सम्मेलन' में भाग लिया था?
Answer option:

      भीमराव अम्बेडकर

    ❌ Incorrect

      रबिन्द्रनाथ टैगोर

    ❌ Incorrect

      रामकृष्ण

    ❌ Incorrect

      स्वामी विवेकानन्द

    ✅ Correct


You just read: Bharat Ke Pramukh Sufi Sant Ke Naam ( Sufi Saint And Architecture (In Hindi With PDF))

Related search terms: : सूफी संतों के नाम, प्रमुख सूफी संत, सूफी संत के नाम, , Sufi Santo Ke Naam

« Previous
Next »