गोवा

गोवा सामान्य ज्ञान (Goa General Knowledge):

गोवा भारत के पश्चिमी भाग में स्थित एक राज्य है। इस राज्य की राजधानी पणजी है। गोवा क्षेत्रफल में भारत का सबसे छोटा और जनसंख्या के हिसाब से दूसरा सबसे छोटा राज्य है। पूरी दुनिया में गोवा अपने ख़ूबसूरत समुद्र के किनारों और मशहूर स्थापत्य कला के लिये जाना जाता है। गोवा का क्षेत्रफल 3,702 वर्ग किलोमीटर है। देश में अपनी सबसे ज्यादा जीडीपी के कारण इसे भारत का सबसे अमीर राज्य माना जाता है।

गोवा का इतिहास (Goa History):

गोवा का इतिहास बहुत समृद्ध और विविध है। ईसा पूर्व की तीसरी शताब्दी में गोवा में मौर्य राजवंश का राज था और उनके बाद सत्यहनस, चालुक्य, श्रीहरस और कदंब के राजवंश ने राज किया। 14वीं सदी में मुसलमानों ने गोवा पर राज किया था, किन्तु सन् 1510 में मुसलमानों को पुर्तगालियों ने हराया और पूरे तटीय इलाके में अपना वर्चस्व स्थापित करने में कामयाब रहे। पुर्तगालियों ने वेल्हा गोवा में एक स्थायी राज्य की स्थापना की। साल 1843 में पुर्तगाली राजधानी को वेल्हा गोवा से पंजिम ले गए। सन् 1947 में भारत को आजादी मिली थी, लेकिन इसके 14 साल बाद भी गोवा पर पुर्तग़ाली अपना शासन जमाये बैठे थे। 19 दिसम्बर, 1961 को भारतीय सेना ने ‘ऑपरेशन विजय अभियान’ शुरू कर गोवा, दमन और दीव को पुर्तग़ालियों के शासन से मुक्त कराया था। सन् 1987 में गोवा को आधिकारिक तौर पर राज्य घोषित किया गया था।

गोवा का भूगोल (Goa Geography):

राज्य के उत्तर में महाराष्ट्र, पश्चिम में अरब सागर, दक्षिण और पूर्व में कर्नाटक से घिरा है। गोवा का अक्षांश और देशान्तर क्रमश: 14°53’54” और 73°40’33” E है। गोवा का समुद्र तट 101 किलोमीटर लम्बा है। गोवा को चार क्षेत्रों में बाँटा जा सकता है। तटीय मैदानी इलाके जैसे मोरमुगाओ, तीसवाड़ी, साल्सेट और बरदेज़ और पूर्वी पहाड़ी इलाके जिनमें पश्चिमी घाट जैसे सत्तारी, कैनाकोना, सेंगुएम और पौंडा और मैदानी इलाके जिनमें तटीय इलाके और रोलींग अपलैंड के साथ-साथ सेंट्रल वैली के इलाके भी शामिल है, जैसे पूर्वी सेंगुएम, बिचोलिम, पेरनेम और क्यूपेम। गोवा की मुख्य नदियाँ मांडोवी, जुआरी, तिराकोल, साल, चपोरा और तलपोना है यह राज्य से बहती हुई अरब सागर में मिलती है। गोवा का राजकीय पक्षी ‘श्याम-कलगी बुलबुल’ है। गोवा का राजकीय पशु ‘गौर’ है। गोवा का राजकीय पेड ‘मट्टी’ है।

गोवा की जलवायु (Goa Climate):

गोवा की जलवायु एकरूप होने के कारण गोवा का गर्मियों का मौसम बहुत गर्म और सर्दियों का मौसम बहुत ठंडा होता है। यहाँ पर जून से सितम्बर के बीच दक्षिणी-पश्चिमी मानसून से वर्षा होती है। राज्य का काफी हिस्सा जंगलों से ढंका है जिससे राज्य में काफी जैव विविधता है।

गोवा की राजनीति और सरकार (Goa Government and Politics):

गोवा के राज्यपाल की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा पाँच वर्ष के लिए की जाती है। वह दमन व दीव तथा दादरा एवं नगर हवेली केन्द्रशासित क्षेत्र का भी प्रशासक होता है। गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं।

गोवा के वर्तमान मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर है। उन्होंने 14 मार्च 2017 को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। गोवा के मुख्‍यमंत्री बनने वाले प्रथम व्यक्ति दयानंद बांदोडकर थे। उन्होंने 20 दिसम्बर, 1963 में राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

गोवा के वर्तमान राज्यपाल मृदुला सिन्हा है। ओम प्रकाश कोहली ने 31 अगस्त 2014 को गोवा के राज्यपाल के रूप में शपथ ग्रहण की है।

गोवा की अर्थव्यवस्था (Goa Economy):

कृषि (Agriculture):

गोवा के कृषि उत्पादों में मुख्य खाद्य फ़सल चावल है। इसके अतिरिक्त दालें, रागी और अन्य खाद्य फ़सलें भी उगाई जाती हैं। नारियल, काजू, सुपारी तथा गन्ने जैसी नकदी फ़सलों के साथ-साथ यहाँ अनन्नास, आम और केला भी होता है। राज्य में 1,424 वर्ग किलोमीटर से अधिक क्षेत्र में घने वन हैं।

खनिज पदार्थ (Minerals):

गोवा की जमीन खनिज और कच्ची धातु से समृद्ध है, इसलिए खनन राज्य की अर्थव्यवस्था का दूसरा सबसे बड़ा स्त्रोत है। गोवा के कई क्षेत्रों में लोहे, चूना पत्थर, बाॅक्साइट, मैंगनीज़, सिलिका और चिकनी मिट्टी का खनन होता है। देश के 40 प्रतिशत आइरन ओर का निर्यात गोवा के मर्मागाओ बंदरगाह से होता है। सेसा गोवा, डेम्पो और रेम्पेन्ट राज्य के कुछ इलाके हैं, जो लौह अयस्क से समृद्ध हैं।

गोवा की जनसांख्यिकी (Goa Population):

राज्य में 1000 पुरुषों के मुकाबले 960 महिलाएँ है जो कि वहां की अनुसूचित जनजाति के हिसाब से बहुम कम है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार राज्य की लगभग 60% जनसंख्या हिंदू हैं जिनमें मराठी, तेलगु, तमिल और गुजराती हैं और लगभग 28% जनसंख्या ईसाई है। गोवा की एक खास बात यह है कि, यहाँ के ईसाई समाज में भी हिंदुओं जैसी जाति व्यवस्था पाई जाती है।

गोवा की संस्कृति (Goa Culture):

सुरम्य सागरतट पर बसा गोवा प्रांत अपनी प्राकृतिक सुंदरता व अनूठी संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। आज़ादी से पहले यह प्रांत पुर्तग़ीज व फ्रांसीसियों का उपनिवेश रह चुका है। इस वजह से आज भी यहाँ के रहन-सहन, भाषा व खानपान पर पश्चिमी संस्कृति का पूरा प्रभाव दिखाई देता है। डुलपोड और मंडो गोवा के संगीत के दो पारंपरिक रुप है। गोवन लोग पाश्चात्य संगीत के साथ भजन, कीर्तन और नाटक को भी खासा पसंद करते हैं। गोवन लोगों में पारंपरिक नृत्य जैसे फुगड़ी, देखन्नी, दशावतारा और कोरिदिन्हो भी बहुत पसंद किये जाते हैं। गोवन थियेटर दुनिया भर में मशहूर है। स्थानीय लोग नारियल, जूट, लकड़ी, पत्थर और कपड़े आदि से भी हस्तशिल्प तैयार करते हैं।

गोवा की भाषा (Goa Languages):

गोवा की मुख्य भाषाएँ कोंकणी और मराठी हैं। कोंकणी गोवा की राजभाषा है। गोवा में सबसे ज़्यादा कोंकणी भाषा बोली जाती है। कोंकणी एक देशी भाषा के रूप में राज्य में लोगों के द्वारा 61.21% बोली जाती है। इसके अलावा मराठी 27.12%, कन्नड़ 3.41%, उर्दू 2.81% और हिन्दी 2.09% बोली जाती है।

गोवा का खानपान (Goa Food):

देश के अलग-2 राज्यों की तरह गोवा का खानपान भी भिन्न है। गोवा में समुद्री भोजन लोकप्रिय है। गोवा का प्रधान भोजन चावल, मछली करी के साथ है। गोवा में व्यापक रूप से नारियल और नारियल तेल, मिर्च, मसाले, खाद्य सिरका के साथ खाना पकाने में इस्तेमाल किये जाते हैं। गोवा में सबसे लोकप्रिय मादक पेय फेनी, काजू फेनी, नारियल फेनी है।

गोवा के मुख्य त्यौहार (Goa Famous Festivals):

सभी भारतीय त्यौहार जैसे होली, दीपावली, शिवरात्रि और दशहरा यहां जोश और उत्साह से मनाए जाते हैं।

गोवा के पर्यटन स्थल (Goa Tourist Places):

गोवा को पर्ल आॅफ ईस्ट भी कहा जाता है। यहां छोटे-बड़े लगभग 40 समुद्री तट है। इनमें से कुछ समुद्र तट अंर्तराष्ट्रीय स्तर के हैं। इसी कारण गोवा की विश्व पर्यटन मानचित्र के पटल पर अपनी एक अलग पहचान है। गोवा में पर्यटकों की भीड़ सबसे अधिक गर्मियों के महीनें में होती है। गोवा के मुख्य पर्यटन स्थलों में कलंगुट बीच, बागा बीच, पणजी बीच, मीरामार बीच, जुआरी नदी के मुहाने पर दोनापाउला बीच, अंजुना बीच, सिंकेरियन बीच, पालोलेम बीच, श्री कामाक्षी, सप्तकेटेश्‍वर, श्री शांतादुर्ग, महालसा नारायणी, परनेम का भगवती मंदिर, बोंडला वन्यजीव अभयारण्य, कोटिगाव वन्यजीव अभयारण्य, गोवा राज्य संग्रहालय, नैवेल एविएशन संग्रहालय, पुरातत्व संग्रहालय, पौट्रेट गैलेरी और महालक्ष्मी हैं।

गोवा के जिले (Goa Districts):

गोवा में मात्र 02 जिले हैं:-

  • उत्तरी गोवा
  • दक्षिण गोवा
Spread the love, Like and Share!

Comments are closed