आगरा उत्तर प्रदेश के अकबर का मकबरा का इतिहास तथा महत्वपूर्ण जानकारी

✅ Published on July 5th, 2018 in ऐतिहासिक स्मारक, प्रसिद्ध आकर्षण

अकबर के मकबरे के बारे में जानकारी (Akbar’s Tomb Agra, Uttar Pradesh GK in Hindi)

भारतीय इतिहास में कई महान व शक्तिशाली साम्राज्यों का प्रभुत्व रहा है, उन्ही साम्राज्यों में से एक मुगल साम्राज्य के बहुत से शासको ने भारत में कई वर्षो तक राज किया है। मुगल साम्राज्य का सबसे प्रसिद्ध शासक अकबर था, जिसकी मृत्यु मात्र 63 वर्ष की आयु में फतेहपुर सीकरी,  आगरा (उत्तर प्रदेश) में हो गई थी।

अकबर के मकबरे का संक्षिप्त विवरण (Quick info about Akbar’s tomb)

स्थान आगरा, उत्तर प्रदेश (भारत)
निर्माण 1605 ई. से 1613 ई.
निर्माता जहांगीर
प्रकार सांस्कृतिक, मकबरा (कब्र)

अकबर के मकबरे का इतिहास (Akbar’s tomb history in hindi)

अकबर ने अपनी मृत्यु से पहले अपने पुत्र सलीम (जहांगीर) के सामने यह इच्छा जाहिर की थी उसकी मृत्यु के बाद एक मकबरे का निर्माण फतेहपुर सीकरी,  आगरा में करवाया जाए, जिसे जहांगीर ने पूरा भी किया था। मुगल सम्राट अकबर की मृत्यु 27 अक्टूबर 1605 ई. में हो गई थी, जिसके बाद जहांगीर ने अपने पिता की इच्छा को पूरा करने के लिए वर्ष 1605 ई में सिकंदरा नामक स्थान, आगरा में मकबरे के निर्माण कार्य को शुरू करवाया, जिसे 1613 ई. में पूरा कर दिया गया था। मुगल सम्राट औरंगजेब के शासनकाल के दौरान विद्रोही राजा राम जाट के नेतृत्व में उनके सहायकों ने मुगल सेनाओं को पराजित कर आगरा के किले को अपने नियंत्रण में ले लिया था। उन विद्रोहियों ने मुगलों की कई ऐतिहासिक इमारतो को नष्ट करना शुरू कर दिया था परंतु जब उन्होंने अकबर के मकबरे को क्षति पंहुचाई तो मुगल साम्राज्य के सम्मान को भी गहरी क्षति पंहुची। उन विद्रोहियों ने सभी सुंदर सोने व चांदी के गहनो, और कालीनों को लूट लिया था जो मुगलों की प्रतिष्ठा को बढ़ा रहे थे। मुगल सम्राट औरंगजेब इतने क्रोधित हुए कि उन्होंने राजा राम पर कब्जा कर लिया और उन्हें निर्दयतापूर्वक मार दिया।

अकबर के मकबरे के बारे में रोचक तथ्य: (Interesting facts about Akbar’s tomb in Hindi)

  • इस ऐतिहासिक मकबरे का निर्माण सबसे प्रसिद्ध मुगल शासक अकबर के लिए उनके पुत्र जहांगीर द्वारा करवाया गया था।
  • यह मकबरा भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश में आगरा के उपनगर सिकंदरा में मथुरा रोड (एनएच 2) पर स्थित है।
  • इस मकबरे का निर्माण 1605 ई. में शुरु किया गया था और लगभग 8 वर्षो के बाद इसे 1613 ई. तक बनाकर तैयार कर दिया गया था।
  • यह प्रसिद्ध मकबरा लगभग 119 एकड़ के क्षेत्रफल में फैला हुआ है।
  • मुगल सम्राट औरंगजेब ने भारत पर लगभग 49 वर्षो तक शासन किया था, उनके शासनकाल के दौरान विद्रोही राजा राम जाट ने अपने पिता गोकुला की मौत का बदला लेने के लिए अकबर की कब्र को खोला और उसमे से अकबर की हड्डियों को बहार निकालकर उसको अपमानित किया जिसके बाद औरंगजेब ने उस विद्रोही राजा को बहुत ही भयानक मौत दी थी।
  • इस प्रसिद्ध मकबरे से महज 1 कि.मी. की दूरी पर अकबर की सबसे प्रिय पत्नी मरियम-उज-ज़मानी की कब्र स्थित है।
  • इस मकबरे का निर्माण प्राचीन मुगल शैली के अनुसार किया गया है, जिस कारण इस मकबरे में जगह-जगह पर विभिन्न प्रकार की इस्लामिक नक्काशियां देखने को मिलती है।
  • यह मकबरा लाल बलुआ पत्थरों और संगमरमर के सुंदर पत्थरों द्वारा निर्मित किया गया है, जिस कारण इसकी खूबसूरती आज भी वैसी ही है जैसे पहले थी।
  • इस मकबरे में कई द्वार है परंतु दक्षिण प्रवेश द्वार सबसे बड़ा है, जिसके ऊपर 4 सफेद संगमरमर द्वारा निर्मित मीनारे स्थित है।
  • इस मकबरे की स्थिति बाद में बहुत खराब हो गई थी, जिसे बाद में एक ब्रिटिश अधिकारी लॉर्ड कर्ज़न की सहायता से पुननिर्मित करवाया गया था।

📊 This topic has been read 30 times.

« Previous
Next »