छत्रपति शिवाजी का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

✅ Published on April 3rd, 2021 in प्रसिद्ध व्यक्ति, स्वतंत्रता सेनानी

इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे छत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए छत्रपति शिवाजी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Chhatrapati Shivaji Biography and Interesting Facts in Hindi.

छत्रपति शिवाजी के बारे में संक्षिप्त जानकारी

नामछत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji)
वास्तविक नाम / उपनामशिवाजी राजे भोंसले / छत्रपति शिवाजी महाराज
जन्म की तारीख19 फरवरी 1630
जन्म स्थानशिवनेरी किला, शिवनेरी (वर्तमान महाराष्ट्र, भारत)
निधन तिथि03 अप्रैल 1680
माता व पिता का नामजीजाबाई / शाहजी
उपलब्धि1674 - मराठा साम्राज्य के संस्थापक
पेशा / देशपुरुष / राजा / भारत

छत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji)

छत्रपति शिवाजी पश्चिमी भारत के महान योद्धा एवं रणनीतिकार थे, वे मराठा साम्राज्य के संस्थापक भी थे। उन्होंने कई वर्ष औरंगज़ेब के मुगल साम्राज्य से संघर्ष किया। सन 1674 में रायगढ़ में उनका राज्याभिषेक हुआ और वह छत्रपति बने थे। स्वतन्त्रता संग्राम में अनेको लोगों ने छत्रपति शिवाजी के जीवनचरित से प्रेरणा लेकर भारत की स्वतन्त्रता के लिये अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया था|

छत्रपति शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1630 में शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। इनका पूरा नाम शिवाजी राजे भोंसले था तथा इन्हें छत्रपति शिवाजी महाराज भी कहा जाता था। इनके पिता का नाम शाहजी भोंसले कुनबी मराठा और माता का नाम जीजाबाई (राजमाता जिजाऊ) था। इनके एक मराठा सेनापति थे, जिन्होंने दक्खन सल्तनत की सेवा की थी। ये अपने माता पिता की दूसरी संतान थे। इनका एक बड़ा भाई भी था जिसका नाम सम्भाजी था।
छत्रपति शिवाजी की मृत्यु 3 अप्रैल 1680 (आयु 50 वर्ष) को रायगढ़ किला , रायगढ़ , मराठा साम्राज्य (वर्तमान महाराष्ट्र, भारत) में बुखार और पेचिश से पीड़ित होने के कारण इनका निधन हो गया।
शिवाजी अपनी माता जीजाबाई के प्रति समर्पित थे, जो गहरी धार्मिक थीं।इनकी माता ने इनके अन्दर बचपन से राजनीति एवं युद्ध की शिक्षा को बढ़ावा दिया था। हिंदू महाकाव्यों, रामायण और महाभारत के उनके अध्ययन ने भी हिंदू मूल्यों की उनकी आजीवन रक्षा को प्रभावित किया। वे धार्मिक शिक्षाओं में गहरी रुचि रखते थे, और नियमित रूप से हिंदू संतों की कंपनी की मांग करते थे। इस बीच शाहजी ने मोहित परिवार से दूसरी पत्नी तुका बाई से शादी कर ली थी। मुगलों के साथ शांति बनाए रखने के बाद, उन्होंने छह किलों को ढहाते हुए, वह बीजापुर की सल्तनत की सेवा करने के लिए चले गए। वह शिवाजी और जीजाबाई को शिवनेरी से पुणे ले गए और उन्हें अपने जागीर प्रशासक, दादोजी कोंडदेव की देखभाल में छोड़ दिया, जिन्हें युवा शिवाजी की शिक्षा और प्रशिक्षण की देखरेख करने का श्रेय दिया गया है।
छत्रपति शिवाजी बचपन से ही शासक वर्ग की क्रूरता देखी थी जिस कारण इनके अंदर बचपन से ही क्रूर शासन को उखाड़ फेंकने के विचार उठने शुरू हो गये थे। 1645 में, 15 वर्षीय शिवाजी ने किले के कब्जे को सौंपने के लिए तोरण किले के बीजापुरी कमांडर इनायत खान को रिश्वत दी या राजी किया। मराठा फिरंगीजी नरसाला, जिन्होंने चाकन किले को धारण किया, ने शिवाजी के प्रति अपनी निष्ठा को स्वीकार किया और कोंडाना के किले को बीजापुरी के राज्यपाल को रिश्वत देकर हासिल किया। 25 जुलाई 1648 को, शिवाजी को शामिल करने के लिए शाहजी को बीजापुरी शासक मोहम्मद आदिलशाह के आदेश के तहत बाजी घोरपडे द्वारा कैद कर लिया गया था। सरकार के अनुसार, शाहजी को 1649 में जिंजी पर कब्जा करने के बाद रिहा किया गया था, जिसने आदिलशाह को कर्नाटक में स्थान दिया। छत्रपति शिवाजी का विवाह 14 मई सन 1640 में सइबाई निम्बालकर के साथ हुआ था। शिवाजी महाराज मुग़ल शासकों के अत्याचारों को अच्छी तरह से जानते थे, इसलिए वे मुगलों का गुलाम नहीं बनना चाहते थे। प्रतापगढ व रायगढ दुर्ग जीतने के बाद शिवाजी महाराज ने रायगढ को मराठा राज्य की राजधानी बनाया था। शिवाजी महाराज जनता की सेवा को ही अपना धर्म मानते थे और उन्होंने अपने सभी प्रजा को समान अवसर प्रदान किया। जिसके कारण वे बहुत लोकप्रिय हुए थे। अपने जीवन के दौरान, शिवाजी ने मुग़ल साम्राज्य, गोलकुंडा की सल्तनत और बीजापुर की सल्तनत के साथ-साथ यूरोपीय औपनिवेशिक शक्तियों के साथ गठबंधन और शत्रुता दोनों में संलग्न रहे। शिवाजी के सैन्य बलों ने मराठा क्षेत्र को प्रभावित करने, कब्जा करने और किले बनाने और मराठा नौसेना बनाने का विस्तार किया। शिवाजी ने अच्छी तरह से संरचित प्रशासनिक संगठनों के साथ एक सक्षम और प्रगतिशील नागरिक शासन की स्थापना की। उन्होंने प्राचीन हिंदू राजनीतिक परंपराओं और अदालतों के सम्मेलनों को पुनर्जीवित किया और अदालत और प्रशासन में फारसी भाषा के बजाय मराठी भाषा और संस्कृत के उपयोग को बढ़ावा दिया।
शिवाजी के स्मारक पूरे भारत में पाए जाते हैं, विशेषकर महाराष्ट्र में। शिवाजी की प्रतिमाएँ और स्मारक लगभग हर शहर और शहर के साथ-साथ महाराष्ट्र और भारत के विभिन्न स्थानों में पाए जाते हैं। अन्य स्मारकों में भारतीय नौसेना के जहाज INS शिवाजी, कई डाक टिकट, और मुंबई में मुख्य हवाई अड्डा और रेलवे मुख्यालय शामिल हैं। महाराष्ट्र में, शिवाजी की याद में दिवाली के त्योहार के दौरान खिलौना सैनिकों और अन्य आंकड़ों के साथ एक प्रतिकृति किले का निर्माण करने वाले बच्चों की एक लंबी परंपरा रही है। अरब सागर में एक छोटे से द्वीप पर मुंबई के पास स्थित होने के लिए शिव स्मारक नामक विशाल स्मारक बनाने के प्रस्ताव को 2016 में मंजूरी दी गई थी। संभवत: 2021 में पूरा होने पर यह 220 मीटर लंबी होगी और यह दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा होगी।

📊 This topic has been read 15 times.

अक्सर पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर:

प्रश्न: छत्रपति शिवाजी का विवाह कब हुआ था?
उत्तर: 14 मई सन 1640
प्रश्न: प्रतापगढ व रायगढ दुर्ग जीतने के बाद शिवाजी महाराज ने रायगढ को किस राज्य की राजधानी बनाया था?
उत्तर: मराठा
प्रश्न: तीन सप्ताह की बीमारी के बाद शिवाजी की मृत्यु कब हुई थी?
उत्तर: 03 अप्रैल 1680
प्रश्न: छत्रपति शिवाजी का जन्म स्थान कहाँ पर है?
उत्तर: शिवनेरी
प्रश्न: मराठा साम्राज्य के संथापक का क्या नाम है?
उत्तर: छत्रपति शिवाजी

महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी:

प्रश्न: छत्रपति शिवाजी का विवाह कब हुआ था?
Answer option:

      14 जून सन 1640

    ❌ Incorrect

      14 मई सन 1640

    ✅ Correct

      19 मई सन 1648

    ❌ Incorrect

      15 मई सन 1740

    ❌ Incorrect

प्रश्न: प्रतापगढ व रायगढ दुर्ग जीतने के बाद शिवाजी महाराज ने रायगढ को किस राज्य की राजधानी बनाया था?
Answer option:

      दिल्ली

    ❌ Incorrect

      बिहार

    ❌ Incorrect

      मराठा

    ✅ Correct

      राजस्थान

    ❌ Incorrect

प्रश्न: तीन सप्ताह की बीमारी के बाद शिवाजी की मृत्यु कब हुई थी?
Answer option:

      09 अप्रैल 1680

    ❌ Incorrect

      03 अप्रैल 1980

    ❌ Incorrect

      03 जून 1690

    ❌ Incorrect

      03 अप्रैल 1680

    ✅ Correct

प्रश्न: छत्रपति शिवाजी का जन्म स्थान कहाँ पर है?
Answer option:

      बनारस

    ❌ Incorrect

      बिहार

    ❌ Incorrect

      शिवनेरी

    ✅ Correct

      कलकत्ता

    ❌ Incorrect

प्रश्न: मराठा साम्राज्य के संथापक का क्या नाम है?
Answer option:

      महाराणा प्रताप

    ❌ Incorrect

      छत्रपति शिवाजी

    ✅ Correct

      बालाजी विश्वनाथ

    ❌ Incorrect

      बाजीराव

    ❌ Incorrect

« Previous
Next »