विटामिन के रासायनिक नाम व प्रमुख स्रोतों की सूची: (Chemical Names of Vitamins and Major Sources in Hindi)

विटामिन किसे कहते है?

विटामिन (Vitamin) या जीवन सत्व भोजन के अवयव हैं जिनकी सभी जीवों को अल्प मात्रा में आवश्यकता होती है। रासायनिक रूप से ये कार्बनिक यौगिक (organic compounds) होते हैं। उस यौगिक को विटामिन कहा जाता है जो शरीर द्वारा पर्याप्त मात्रा में स्वयं उत्पन्न नहीं किया जा सकता बल्कि भोजन के रूप में लेना आवश्यक हो। विटामिन एक बहुत आवश्यक खाद्यांश है। मनुष्य के खाद्य में निम्न पदार्थों का रहना जरूरी है: (1) प्रोटीन, (2) कार्बोहाइड्रेट, (3) बसा, (4) खनिज पदार्थ, (5) विटामिन, तथा (6) जल। ये सब पदार्थ मनुष्य को दिन-प्रतिदिन के आहार से मिलते हैं। विटामिन की प्रतिदिन की आवश्यक मात्रा संतुलित भोजन से प्राप्त होती है। विटामिन्स के रासायनिक नाम और स्त्रोत से सम्बंधित प्रश्न लगभग सभी प्रतियोगिता परीक्षाओ में पूछे जाते है। इस पोस्ट में किन-किन खाद्य पदार्थों में कौन-कौन सा विटामिन होता हैं इसकी भी जानकारी दी गयी है:-

प्रमुख विटामिनों के रासयनिक नामों की सूची: (List of chemical names of major vitamins)

विटामिन का नाम रासायनिक नाम स्त्रोत
विटामिन-ए रेटीनॉल (Retinol) अंडा, पनीर, हरी सब्जी, दूध, मछ्लीयकृत तेल
विटामिन-बी1 थायमिन (Thiamine) तिल, सब्जियाँ, मूंगफली, सुखी मिर्चे, यकृत अंडा, बिना घुली दाल
विटामिन-बी2 राइबोफ्लेविन (Riboflavin) दूध, हरी सब्जिया, ख़मीर, मांस,
विटामिन-बी3 नियासिन (Niacin) दूध, मूंगफली, गन्ना, मांस, टमाटर
विटामिन-बी4 पेन्टोथेनिक अम्ल (Pantothenic acid) आलू, टमाटर, मूंगफली, मांस, पत्ती वाली सब्ज़ी
विटामिन-बी5 पाईरीडाक्सिन (Pyridoxine) अनाज़,यकृत, मांस,
विटामिन-बी6 बायोटिन (Biotin) दूध, मांस, यकृत, अंडा
विटामिन-बी7 फोलेटेस (Folate) पत्तेदार सब्जियां, पास्ता, रोटी, अनाज, यकृत
विटामिन-बी8 क्यानोकोबलामिन (Cyanocobalamin) कलेजी, दूध, यकृत
विटामिन-बी9 तेरोईल ग्लूटेमिक (Teroil Glutamic) दाल, अंडा, यकृत, सेम, सब्ज़िया
विटामिन-बी10 एस्कॉर्बिक अम्ल (Ascorbic acid) टमाटर, संतरा, खट्टे पदार्थ, मिर्च, अंकुरित अनाज़
विटामिन-बी11 केल्सिफेरोल (Calciferol) रिकेट्स(बच्चो में), ओस्टोमलेशिया(वयस्क में)
विटामिन-बी12 टेकोफेरोल (Tocopherol) मक्खन, दूध, पत्ती वाली सब्जियाँ, वनस्पति तेल, अंकुरित गेहूँ
विटामिन-बी13 फिलोक्विनों (Phylloquinone) टमाटर, हरी सब्जियाँ

विटामिन से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • रेटिनॉल को 1909 में खोजा गया था, 1931 में अलग किया गया था, और पहली बार 1947 में बनाया गया था। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन की आवश्यक दवाओं की सूची में है। रेटिनॉल एक जेनेरिक दवा के रूप में मेडिकल पर उपलब्ध है।
  • वयस्को को प्रतिदिन विटामिन “बी1” की एक मिलीग्राम मात्रा आवश्यक होती है। गर्भवती स्त्रियो को संपूर्ण काल तक विटामिन “बी1” की 5 मिलीग्राम आवश्यक होती है।
  • 1920 में राइबोफ्लेविन (Riboflavin) की खोज की गई, 1933 में अलग किया गया, और पहली बार 1935 में बनाया गया। राइबोफ्लेविन (Riboflavin), जिसे विटामिन बी2 के रूप में भी जाना जाता है और, पहले, विटामिन जी के रूप में जाना जाता था नियासिन, जिसे निकोटिनिक एसिड भी कहा जाता है, एक कार्बनिक यौगिक और विटामिन बी 3 का एक रूप है, जो एक आवश्यक मानव पोषक तत्व है।
  • सभी जानवरों को coenzyme A कोएंजाइम ए (सीओए- CoA) को संश्लेषित करने के लिए पैंटोथेनिक एसिड की आवश्यकता होती है। बायोटिन (Biotin), पानी में घुल जाने वाला या वॉटर सॉल्यूबल विटामिन है। ये विटामिन बी (Vitamin B) के परिवार का ही हिस्सा है। इसे विटामिन एच (Vitamin H) भी कहा जाता है। शरीर को कुछ न्यूट्रीएंट्स या पोषक पदार्थों को ऊर्जा में बदलने के लिए बायोटिन की आवश्यकता पड़ती है। ये बालों, स्किन और नाखूनों को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।
  • विटामिन बी 6, जिसे पाइरिडोक्सिन भी कहा जाता है, एक पानी में घुलनशील विटामिन है जिसे आपके शरीर को कई कार्यों के लिए चाहिए। यह प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट चयापचय और लाल रक्त कोशिकाओं और न्यूरोट्रांसमीटर के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है. कोलेक्लसिफेरोल (Cholecalciferol), जिसे विटामिन डी3 और कोलेकैल्सीफेरॉल (colecalciferol) के रूप में भी जाना जाता है, एक प्रकार का विटामिन डी है जो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने पर त्वचा द्वारा बनाया जाता है; यह कुछ खाद्य पदार्थों में भी पाया जाता है और इसे आहार पूरक के रूप में लिया जा सकता है।

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

विटामिन से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

विटामिन के रासायनिक नाम प्रश्नोत्तर (FAQs):

दूध और अनाज प्रायः विटामिन डी के भरपूर स्रोत होते हैं। वसा-पूर्ण मछली, जैसे साल्मन विटामिन डी के प्राकृतिक स्रोतों में से एक हैं। मानव शरीर में कैल्शियल नियमन। विटामिन डी की भूमिका नारंगी रंग में दर्शित, धूप सेंकना विटामिन डी का प्रमुख प्राकृतिक स्रोत होता है।

विटामिन-बी1 को थायमिन के नाम से भी जाना जाता है। यह बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और शरीर के महत्वपूर्ण और तंत्रिका संबंधी कार्यों के लिए आवश्यक है। थायमिन खाद्य पदार्थों में पाया जाता है और मुख्य रूप से अनाज, स्प्राउट्स, दाल, मटर, अखरोट, मछली, अंडे और लीन मीट से प्राप्त किया जा सकता है।

सिट्रस फलों में विटामिन सी (एस्कोर्बिक एसिड) पाया जाता है। सिट्रस फलों के उदाहरण में नींबू, संतरा, मौसंबी, मोसंबी, नारंगी, और लाइम शामिल होते हैं। विटामिन सी शरीर के लिए महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि यह एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है, इम्यून सिस्टम को स्थायी बनाए रखने में मदद करता है|

विटामिन-E का रासायनिक नाम "टोकोफेरोल" है। यह एक फैट-सॉल्यूबल विटामिन है और शरीर के लिए महत्वपूर्ण होता है। टोकोफेरोल मुख्य रूप से खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, जैसे कि अल्मंड, वीटा, वेजिटेबल ऑयल, अवोकाडो, और सूरजमुखी बीज।

विटामिन-D की कमी से बच्चों में रिकेट्स (Rickets) रोग हो सकता है। रिकेट्स एक पोषण संबंधी रोग है जिसमें शिशुओं और बच्चों की हड्डियों का स्वास्थ्य प्रभावित होता है। विटामिन-D शरीर में कैल्शियम और फॉस्फेट के संतुलित स्तर को बनाए रखने में मदद करता है जो हड्डियों के निर्माण और मजबूती के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।

  Last update :  Thu 28 Jul 2022
  Download :  PDF
  Post Views :  21054