विश्व बैंक एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है जो दुनिया भर के विकासशील देशों को वित्तीय और तकनीकी सहायता प्रदान करता है। इसका प्राथमिक लक्ष्य विभिन्न परियोजनाओं और पहलों के लिए ऋण, अनुदान और विशेषज्ञता की पेशकश करके गरीबी को कम करना और सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है।

विश्व बैंक बुनियादी ढांचे के विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, कृषि और पर्यावरणीय स्थिरता जैसे क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करता है। इसमें दो संस्थान शामिल हैं: इंटरनेशनल बैंक फॉर रिकंस्ट्रक्शन एंड डेवलपमेंट (आईबीआरडी), जो मुख्य रूप से मध्यम आय और क्रेडिट योग्य कम आय वाले देशों के साथ काम करता है, और इंटरनेशनल डेवलपमेंट एसोसिएशन (आईडीए), जो सबसे गरीब देशों पर ध्यान केंद्रित करता है।

विश्व बैंक से संबंधित संक्षिप्त जानकारी

स्थापना वर्ष जुलाई 1944
स्थापना कर्ता जॉन मेनार्ड कीन्स (John Maynard Keynes) और हैरी डेक्सटर व्हाइट (Harry Dexter White)
मूल संगठन विश्व बैंक समूह
मुख्यालय वाशिंगटन, डी.सी., संयुक्त राज्य अमेरिका
प्रथम अध्यक्ष यूजीन मेयर (Eugene Meyer)
वर्तमान अध्यक्ष 2023 अजयपाल सिंह बांगा (Ajaypal Singh Banga)

विश्व बैंक का इतिहास और उद्देश्य (World Bank History and Objectives in Hindi):

इंटरनेशनल बैंक फॉर रिकंस्ट्रक्शन एंड डेवलपमेंट (International Bank for Reconstruction and Development) की स्थापना जुलाई 1944 में हुई थी, जिसे आज हम विश्व बैंक (World Bank) के नाम से जानते हैं। इसके कार्यक्षेत्र का विस्तार पाँच निकट से संबंधित विकास संस्थानों के समूह में शामिल करने के लिए हुआ है। समय के साथ, विश्व बैंक का ध्यान बांधों, बिजली ग्रिडों, सिंचाई नेटवर्क, और सड़कों जैसे बुनियादी ढांचे पर जोर देने के साथ पुनर्निर्माण से विकास में बदल गया है।

1956 में अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम (International Finance Corporation) की स्थापना के साथ, विश्व बैंक समूह विकासशील देशों में निजी क्षेत्र की कंपनियों और वित्तीय संस्थानों को ऋण प्रदान करने में सक्षम रहा है।

विश्व बैंक के उद्देश्य (Objectives of World Bank in Hindi):

इसके उद्देश्य निम्न है: -

  • विश्व को आर्थिक तरक्की के रास्ते पर ले जाना।
  • विश्व मे गरीबी को कम करना।
  • अंतरराष्ट्रीय निवेश को बढावा देना।

विश्व बैंक के वर्तमान अध्यक्ष 2023 (Current President of World Bank 2023 in Hindi) :

विश्व बैंक (WB) के वर्तमान अध्यक्ष अजयपाल सिंह बांगा (Ajaypal Singh Banga) है। अजयपाल सिंह बंगा एक भारतीय मूल के अमेरिकी बिजनेस एक्जीक्यूटिव हैं, जिन्हें 3 मई 2023 को विश्व बैंक का अध्यक्ष चुना गया था, जिसके बाद 2 जून 2023 से उन्होंने विश्व बैंक का कार्यभार संभाला। इससे पहले वे जनरल अटलांटिक में उपाध्यक्ष थे, और उससे पहले मास्टरकार्ड के कार्यकारी अध्यक्ष थे। वह नीदरलैंड स्थित निवेश होल्डिंग कंपनी एक्सोर के अध्यक्ष और अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ मध्य अमेरिका के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

विश्व बैंक के अध्यक्षों की सूची (1946-2023):

अध्यक्ष का नाम कार्यकाल (कब से कब तक)
यूजीन मेयर (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1946–1946
जौन जे. मैक्लाय (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1947–1949
यूजीन आर. ब्लैक (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1949–1963
जॉर्ज वुड्स (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1963–1968
रॉबर्ट मैक्नामारा (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1968–1981
एल्डन डब्ल्यू क्लाउसेन (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1981–1986
बार्बर कॉनेबल (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1986–1991
लेविस टी. प्रेस्टन (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1991–1995
सर जेम्स वोल्फेंसन (अमेरिका) 1995–2005
पॉल वोल्फोविट्ज (संयुक्त राज्य अमेरिका) 2005–2007
रॉबर्ट जोएलिक (संयुक्त राज्य अमेरिका) 2007–2012
जिम योंग किम (संयुक्त राज्य अमेरिका) 2012-2019
डेविड मालपास (संयुक्त राज्य अमेरिका) 2019 से 2023
अजय बंगा (संयुक्त राज्य अमेरिका) 2023 से अब तक

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

विश्व बैंक से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

प्रश्नोत्तर (FAQs):

अंतर्राष्ट्रीय विकास संघ को विश्व बैंक की 'सुलभ ऋण खिड़की' कहा जाता है। आईडीए एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो विश्व बैंक समूह का हिस्सा है। आईडीए का मुख्य उद्देश्य विकासशील देशों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है ताकि वे गरीबी कम करने, अवसर बढ़ाने और विकास को मजबूत करने के लिए अपनी आर्थिक संरचना को मजबूत कर सकें।

विश्व बैंक (World Bank) को International Bank for Reconstruction and Development के नाम से भी जाना जाता है। इसका मुख्य उद्देश्य सदस्य राष्ट्रों को पुनर्निमाण और विकास के कार्यों में आर्थिक सहायता देना है।

विश्व बैंक का मुख्यालय वाशिंगटन, डी.सी., संयुक्त राज्य अमेरिका में है। अन्तरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण और विकास बैंक को ही विश्व बैंक कहा जाता है। विश्व बैंक संयुक्त राष्ट्र से जुड़ी एक अहम संस्था है और यह कई संस्थाओं का समूह है। इसीलिये इसे विश्व बैंक समूह (World Bank Group) भी कहा जाता है।

बैंक दर (Bank Rate) की वृद्धि से स्वत: क्रेडिट महंगा हो जायेगा। बैंकों को अपने दैनिक कामकाज के लिए प्राय: ऐसी बड़ी रकम की जरूरत होती है जिनकी मियाद एक दिन से ज्यादा नहीं होती। इसके लिए बैंक जो विकल्प अपनाते हैं, उनमें सबसे सामान्य है केंद्रीय बैंक (भारत में रिजर्व बैंक) से रात भर के लिए (ओवरनाइट) कर्ज लेना। इस कर्ज पर रिजर्व बैंक को उन्हें जो ब्याज देना पड़ता है, उसे ही रीपो दर कहते हैं।

विश्व बैंक समान्यतः मध्य एवं दीर्घकालीन ऋण उपलब्ध कराता है। विश्व बैंक नीति सुधार कार्यक्रमों और परियोजनाओं के लिये ऋण देता है, जबकि अन्तरराष्ट्रीय मुद्रा कोष केवल नीति सुधार कार्यक्रमों के लिये ही ऋण देता है।

  Last update :  Mon 4 Sep 2023
  Download :  PDF
  Post Views :  21983