राष्ट्रीय शिक्षा दिवस संक्षिप्त तथ्य

कार्यक्रम नामराष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National Education Day)
कार्यक्रम दिनांक11 / नवम्बर
कार्यक्रम की शुरुआत11 नवंबर 2008
कार्यक्रम का स्तरराष्ट्रीय दिवस
कार्यक्रम आयोजकमानव संसाधान मंत्रालय, भारत

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का संक्षिप्त विवरण

प्रत्येक वर्ष देश भर में 11 नवम्बर को "राष्ट्रीय शिक्षा दिवस" या राष्ट्रीय शिक्षण दिवस मनाया जाता है। मानव संसाधान मंत्रालय ने 11 नवंबर 2008 को ऐलान किया था कि हर साल 11 नवंबर को राष्‍ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाएगा।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का इतिहास

वैधानिक रूप से "राष्ट्रीय शिक्षा दिवस" का प्रारम्भ 11 नवम्बर, 2008 से किया गया है। यह दिवस भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी, प्रसिद्ध शिक्षाविद् एवं "भारत रत्न" से सम्मानित मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के बारे में अन्य विवरण

मौलाना अबुल कलाम आजाद का जीवन परिचय:

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद अफग़ान उलेमाओं के ख़ानदान से संबंध रखते थे जो बाबर के समय हेरात से भारत आए थे। उनकी माँ अरबी मूल की थीं और उनका नाम का शेख आलिया बिन्त मोहम्मद था। और उनके पिता मौलाना सैय्यद मुहम्मद खैरुद्दीन बिन अहमद अल हुसैनी था, जो एक फारसी व्यक्ति थे।

मोहम्मद खैरुद्दीन और उनके परिवार ने भारतीय स्वतंत्रता के पहले आन्दोलन के समय 1857 में कलकत्ता छोड़ कर मक्का चले गए थे। और जब मोहम्मद खैरूद्दीन 1890 में भारत लौट आए तब मौहम्मद खैरूद्दीन को कलकत्ता में एक मुस्लिम विद्वान के रूप में ख्याति मिली। जब आज़ाद केवल 11 साल के थे तब उनकी माता का देहांत हो गया। उनकी आरंभिक शिक्षा इस्लामी तौर तरीकों से हुई। घर पर या मस्ज़िद में उन्हें उनके पिता तथा बाद में अन्य विद्वानों ने पढ़ाया। इस्लामी शिक्षा के अलावा उन्हें दर्शनशास्त्र, इतिहास तथा गणित की शिक्षा भी अन्य गुरुओं से मिली।

आज़ाद ने उर्दू, फ़ारसी, हिन्दी, अरबी तथा अंग्रेजी़ भाषाओं में महारथ हासिल की। सोलह साल उन्हें वो सभी शिक्षा मिल गई थीं जो आमतौर पर 25 साल में मिला करती थी।तेरह साल की उम्र में, उनकी शादी एक युवा मुस्लिम लड़की, जुलीखा बेगम से हुई थी। वे देवबन्दी विचारधारा के करीब थे और उन्होंने क़ुरान के अन्य भावरूपों पर लेख भी लिखे। आज़ाद ने अंग्रेज़ी समर्पित स्वाध्याय से सीखी और पाश्चात्य दर्शन को बहुत पढ़ा। उन्हें मुस्लिम पारम्परिक शिक्षा को रास नहीं आई और परंतु वे आधुनिक शिक्षावादी सर सैय्यद अहमद खाँ के विचारों से सहमत थे।

मौलाना अबुल कलाम आजाद से संबंधित महत्वपूर्ण रोचक तथ्य:

    मौलाना अबुल कलाम आजाद का जन्म 11 नवम्बर 1888 को मक्का, उस्मानी साम्राज्य (अब सऊदी अरब) में हुआ था।
  • अबुल कलाम के बचपन का नाम सैय्यद गुलाम मुहियुद्दीन अहमद बिन खैरुद्दीन अल हुसैनी था
  • उनके पिता का नाम मौलाना सैय्यद मुहम्मद खैरुद्दीन बिन अहमद अल हुसैनी और उनकी माता शेख आलिया बिन्त मोहम्मद का नाम था।
  • सन् 1923 में मौलाना आजाद भारतीय नेशनल काग्रेंस के सबसे युवा अध्यक्ष बने।
  • स्वतंत्रता प्राप्ति (15 अगस्त 2017) के बाद अबुल कलाम आज़ाद भारत के पहले शिक्षा मंत्री बने।
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद द्वारा सन् 1950 से पहले "भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद" की स्थापना की गई।
  • उन्होंने सन् 1953 में संगीत नाटक अकादमी, सन् 1954 में साहित्य अकादमी और सन् 1954 में ललित कला अकादमी की स्थापना की थी।
  • ग़ुबार-ए-ख़ातिर मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की सबसे महत्वपूर्ण कृतियों में से एक है, जो मुख्य रूप से 1942 से 1946 के दौरान लिखी गई थी।
  • वर्ष 1992 में मरणोपरान्त मौलाना अबुल कलाम आजाद को देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान "भारत रत्न" से सम्मानित किया गया।
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद की मृत्यु के समय उनके पास कोई संपत्ति नहीं थी और न ही कोई बैंक खाता था।
  • देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद का 22 फरवरी 1958 को निधन हो गया।
  • अबुल कलाम आजाद का मकबरा दिल्ली में जामा मस्जिद के बगल में स्थित है। हाल के वर्षों में मकबरे के खराब रखरखाव को लेकर भारत में कई लोगों द्वारा बड़ी चिंता व्यक्त की गई है। 16 नवंबर 2005 को दिल्ली उच्च न्यायालय ने आदेश दिया कि नई दिल्ली में मौलाना आज़ाद की कब्र को पुनर्निर्मित किया जाए और एक प्रमुख राष्ट्रीय स्मारक के रूप में संरक्षित किया जाए।
  • विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की स्थापना उनके उल्लेखनीय कार्यों में से एक है।
  • मौलाना अबुल कलाम आजाद ने अहयोग आंदोलन व खिलाफत आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभायी थी।

भारत की राष्ट्रीय शिक्षा संस्थाएं:

"शान्ति निकेतन" अर्थात् `विश्व भारती" विश्वविद्यालय भारत की सर्वोत्कृष्ट राष्ट्रीय शिक्षा संस्था है जिसकी स्थापना डा। रवीन्द्राथ टैगोर ने 1901 ई. में की थी। ब्रिटिश शासन के विरुद्ध देश में जिस पुनर्जागरण तथा क्रांति के आन्दोलनों का सूत्रपात हुआ उनके कर्णधार राजा राममोहनराय, स्वामी विवेकानन्द, स्वामी दयानन्द, अरविन्द गांधी, रवीन्द्रनाथ टैगोर आदि देशभक्त थे। इन महापुरुषों ने जहाँ विविध क्षेत्रों में अपने मौलिक विचार प्रस्तुत किये, वहां शिक्षा के क्षेत्र में भी महत्त्वपूर्ण प्रयास किये।

इन्होंने भारत में अँग्रेजी शिक्षा के विनाशकारी प्रभाव को समझ कर देश की सभ्यता एवं संस्कृति के अनुकूल शिक्षा के भारतीयकरण का प्रयास किया तथा अनेक राष्ट्रीय शिक्षा संस्थाओं की स्थापना कर लोगों में देशभक्ति की चेतना जाग्रत की।

हरिद्वार की गुरुकुल कांगड़ी, अहमदाबाद की गुजरात विद्यापीठ, बनारस की काशी विद्यापीठ, बोलपुर (प. बंगाल) की शांति-निकेतन या विश्व भारती आदि इसी प्रकार के राष्ट्रीय शिक्षा केन्द्र थे। इन महापुरुषों एवं उनके द्वारा संस्थापित इन शिक्षा-संस्थाओं का भारतीय राष्ट्रीय स्वाधीनता आंदोलन में महत त्वपूर्ण योगदान रहा था।

सर्वशिक्षा अभियान:

केंद्र सरकार ने 6 से 14 वर्ष की उम्र वाले देश के सभी विद्यार्थियों के लिए सर्वशिक्षा अभियान के नारे के साथ इसकी शुरुआत वर्ष 2002 से की थी। इसके तहत शिक्षकों के लिए लगातार कई प्रशिक्षण सत्र रखे गए। देश भर के सभी राज्यों के सभी प्राथमिक-माध्यमिक स्कूलों के बाहर अनिवार्य रूप से सब "पढ़ें-आगे बढ़ें" का बोर्ड लगाया गया, जो समस्त जनता को यह संदेश देने के लिए लगाया गया था कि स्कूलों के दरवाज़े समाज के सभी वर्गों के लिए खुले हैं। इसके तहत सभी धर्मों-जातियों-वर्गों के स्वस्थ व अपंग बच्चों (6 से 14 वर्ष) को शिक्षित करने का प्रावधान किया गया।

नवम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
10 नवम्बरविश्व विज्ञान दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
11 नवम्बरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस - राष्ट्रीय दिवस
12 नवम्बरराष्ट्रीय पक्षी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरबाल दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरविश्व मधुमेह दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
16 नवम्बरअंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय मिर्गी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
19 नवम्बरविश्व शौचालय दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
20 नवम्बरअंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरविश्व मत्स्य दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरविश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
22 नवम्बरझलकारी बाई जयंती - राष्ट्रीय दिवस
25 नवम्बरअंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरराष्ट्रीय कानून दिवस - राष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरविश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरराष्ट्रीय दुग्ध दिवस - राष्ट्रीय दिवस
नवंबर माह का तीसरा गुरुवार नवम्बरविश्व दर्शन दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस प्रश्नोत्तर (FAQs):

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस प्रत्येक वर्ष 11 नवम्बर को मनाया जाता है।

हाँ, राष्ट्रीय शिक्षा दिवस एक राष्ट्रीय दिवस है, जिसे पूरे भारत हम प्रत्येक वर्ष 11 नवम्बर को मानते हैं।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस की शुरुआत 11 नवंबर 2008 को की गई थी।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस प्रत्येक वर्ष मानव संसाधान मंत्रालय, भारत द्वारा मनाया जाता है।

  Last update :  Tue 28 Jun 2022
  Post Views :  11010
विश्व दर्शन दिवस (नवंबर माह का तीसरा गुरुवार) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस (25 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
विश्व विज्ञान दिवस (10 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
राष्ट्रीय पक्षी दिवस (12 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
बाल दिवस (14 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
विश्व मधुमेह दिवस (14 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस (16 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
राष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस (17 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
राष्ट्रीय मिरगी (अपस्मार) दिवस (17 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस (20 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन
विश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस (21 नवम्बर) का इतिहास, महत्व, थीम और अवलोकन