विश्व मधुमेह दिवस (14 नवम्बर) – World Diabetes Day (14 November)

✅ Published on November 13th, 2020 in नवंबर माह के महत्वपूर्ण दिवस, महत्वपूर्ण दिवस

विश्व मधुमेह दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष विश्वभर में 14 नवम्बर को अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह दिवस अथवा विश्व डायबिटीज दिवस मनाया जाता है। विश्व मधुमेह दिवस प्रतिवर्ष 14 नवंबर को सर फ्रेडरिक बैंटिंग के जन्मदिवस पर मनाया जाता है, जिन्होंने कानाडा के टोरन्टो शहर में बेन्ट के साथ मिलकर सन 1921 में इन्सुलिन की खोज की थी। इस साल विश्व मधुमेह दिवस 2020 का विषय “द नर्स एंड डायबिटीज” (The Nurse and Diabetes) है। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme) “Eyes on Diabetes’ था।

 

विश्व मधुमेह दिवस का इतिहास:

पहली बार विश्व मधुमेह दिवस का आयोजन, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह संघ  द्वारा सन 1991 में 14 नवम्बर के दिन किया गया था। विश्व मधुमेह दिवस, 14 नवम्बर को मनाने का एक मुख्य कारण भी है, क्योंकि इसी दिन इंसुलिन की खोज करने वाले वैज्ञानिक फ्रेडरिक का जन्म हुआ था। जिन्हें 1923 में जॉन मैक्लोड के साथ चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार दिया गया था।

विश्व मधुमेह दिवस 2020:

इस साल विश्व मधुमेह दिवस 2020 का विषय “द नर्स एंड डायबिटीज” (The Nurse and Diabetes) है। अभियान का उद्देश्य महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाना है जो नर्सें मधुमेह से पीड़ित लोगों के समर्थन में निभाती हैं।

वर्तमान में वैश्विक स्वास्थ्य कर्मचारी एक महत्वपूर्ण निभा रहे हैं। वे स्वास्थ्य चिंताओं की एक विस्तृत श्रृंखला के साथ रहने वाले लोगों का समर्थन करने के लिए उत्कृष्ट कार्य करते हैं। जो लोग या तो मधुमेह के साथ रहते हैं या हालत विकसित होने का खतरा होता है, उन्हें भी इसके समर्थन की आवश्यकता होती है। मधुमेह से पीड़ित लोग कई चुनौतियों का सामना करते हैं। जैसे-जैसे दुनिया भर में मधुमेह से पीड़ित लोगों की संख्या बढ़ रही है, हालत के प्रभाव को प्रबंधित करने में नर्सों और अन्य स्वास्थ्य पेशेवर सहायता कर्मचारियों की भूमिका तेजी से महत्वपूर्ण हो जाती है। हेल्थकेयर प्रदाताओं और सरकारों को शिक्षा और प्रशिक्षण में निवेश के महत्व को समझना चाहिए।

सामाजिक मीडिया पर WDD का समर्थन करें

विश्व मधुमेह दिवस 2019:

मधुमेह जागरूकता माह और विश्व मधुमेह दिवस 2019 का विषय “डायबिटीज की चिंता हर परिवार को है” था। विश्व मधुमेह दिवस का मुख्य उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मधुमेह रोग के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना है ताकि समय रहते इसके लक्षणों का पता कर उचित उपचार किया जा सके।

मधुमेध क्या है?

खून में ग्लूकोज (शर्करा) का स्तर निर्धारित सीमा से अधिक होता है, तो ऐसी स्थिति को मधुमेह रोग कहते हैं। दरअसल मधुमेह या डायबिटीज, जीवनशैली या वंशानुगत बीमारी है, जो शरीर में पैंक्रियाज ग्रंथियों के निष्क्रिय होने पर रोगी को प्रभावित करती है। पैंक्रियाज यानि अग्न्याशय ग्रंथियों के निष्क्रिय होने पर इंसुलिन (रक्त में शर्करा की मात्रा को संतुलित करने वाला हार्मोन) बनाना बंद हो जाता है। इसके साथ ही कोलेस्ट्रॉल और वसा भी असामान्य हो जाते हैं, जिस कारण वाहिकाओं में बदलाव होता है और आंखों, गुर्दे, दिमाग, दिल आदि संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

मधुमेध का सामान्य स्तर (Normal Level of Diabetes in Hindi):

खून में शर्करा (शुगर) का सामान्य स्तर निम्न प्रकार है:

  • भूखे पेट (व्रत के दौरान) 100 मिग्रा से कम होना चाहिए।
  • खाना खाने से पहले 70 से 130 मिग्रा के बीच होना चाहिए।
  • खाना खाने के बाद रक्त में ग्लूकोज की मात्रा 180 मिग्रा से कम होनी चाहिए।
  • सोते समय खून में शर्करा की सामान्य मात्रा 100 से 140 मिग्रा होती है।

मधुमेह के मुख्य लक्षण (Symptoms of Diabetes in Hindi):

  • थकान, कमजोरी, पैरों में दर्द, क्योंकि ग्लूकोज ऊर्जा में परिवर्तित नहीं हो पाता।
  • पैर का घाव ठीक न होना या गैंग्रीन का रूप ले लेना।
  • अधिक पेशाब और भूख लगना।
  • वजन कम होना।
  • बार- बार चश्मे का नंबर बदलना।
  • जननांगों में खुजली और संक्रमण होना।
  • दिल या मानसिक समस्याएं।

आहार के साथ जरूरी सा‍वधानियां:

  • नियमित शुगर स्‍तर की जांच कराए।
  • किसी भी तरह के घाव को खुला ना छोड़ें।
  • फलों का रस लेने के बजाय, फल खायें।
  • व्यायाम करें और अपना वजन नियंत्रित रखें।
  • योग भी डायबिटीज के रोगियों के लिए अच्‍छा है।

अभी तक डायबिटीज का कोई भी ठोस इलाज नहीं है, लेकिन इसके खतरों से बचने के लिए आहार में सावधानी बरतने और नियमित रूप से व्‍यायाम करने की जरूरत है।

मधुमेह की जांच के निदान:

मधुमेह की जांच के लिए कई परिक्षण किए जाते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • बेनेडिक्ट टेस्ट
  • ग्लूकोज ऑक्सीडेज टेस्ट
  • खाली पेट रक्तशर्करा की जाँच
  • ग्लूकोज टोलरेंस टेस्ट

विश्व मधुमेह दिवस अभियान के विषय:

2013: हमारे भविष्य की रक्षा करें: मधुमेह शिक्षा और रोकथाम।
2014: नाश्ते के लिए जाओ ब्लू।
2015: स्वस्थ भोजन।
2016: डायबिटीज पर आंखें।
2017: महिलाओं और मधुमेह – स्वस्थ भविष्य के लिए हमारा अधिकार।
2018–2019: द फैमिली एंड डायबिटीज – डायबिटीज की चिंता हर परिवार को है।

भारत मे मधुमेह की समस्या:

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, डायबिटीज यानि मधुमेह एशिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है, जिसका प्रभाव सबसे अधिक भारत में देखा गया है। अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह फेडरेशन के मुताबिक, भारत में लगभग में 6.5 करोड़ वयस्क डायबिटीज और 7.7 करोड़ लोग प्री डायबिटीज की समस्या से पीड़ित हैं।

मौजूदा स्थिति को देखते हुए कई स्वास्थ्य संगठनों ने यह अनुमान लगाया है, कि भारत में साल 2030 तक मधुमेह से पीड़ितों की संख्या लगभग 10 करोड़ और 2035 तक 10.9 करोड़ तक पहुंच सकती है। मधुमेह जीवन-बदलती जटिलताओं को जन्म दे सकता है। इनमें अंधापन, विच्छेदन, गुर्दे की विफलता, दिल का दौरा और स्ट्रोक शामिल हैं। 2017 में चार मिलियन मौतों के लिए मधुमेह जिम्मेदार था।

नवम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
10 नवम्बरशांति एवं विकास हेतु विश्‍व विज्ञान दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
11 नवम्बरराष्‍ट्रीय शिक्षा दिवस - राष्ट्रीय दिवस
12 नवम्बरराष्ट्रीय पक्षी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरबाल दिवस (जवाहर लाल नेहरू की जयंती) - राष्ट्रीय दिवस
14 नवम्बरविश्व मधुमेह (डायबिटीज) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
16 नवम्बरअंतर्राष्‍ट्रीय सहिष्णुता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय पत्रकारिता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
17 नवम्बरराष्ट्रीय मिरगी दिवस - राष्ट्रीय दिवस
20 नवम्बरसार्वभौमिक बाल दिवस (यूनिसेफ) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरविश्व दूरदर्शन (टेलीविजन) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 नवम्बरझलकारी जयंती - राष्ट्रीय दिवस
25 नवम्बरमहिलाओं के विरुद्ध हिंसा उन्‍मूलन अंतर्राष्‍ट्रीय दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरविश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरनेशनल लॉ दिवस - राष्ट्रीय दिवस
26 नवम्बरराष्ट्रीय दुग्ध दिवस - राष्ट्रीय दिवस

You just read: World Diabetes Day
« Previous
Next »