विश्व विद्यार्थी दिवस (15 अक्टूबर) | World students Day in Hindi

विश्व विद्यार्थी दिवस (15 अक्टूबर) – World Student Day (15 October)

विश्व विद्यार्थी दिवस (15 अक्टूबर): (15 October: World students Day in Hindi)

विश्व विद्यार्थी दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष विश्व के विभिन्न देशों में 15 अक्टूबर को विश्व विद्यार्थी दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को विश्व छात्र दिवस के नाम से भी जाना जाता है यह दिवस भारत रत्न प्राप्तकर्ता डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है संयुक्त राष्ट्र संगठन (U.N.O) ने उनके जन्मदिन 15 अक्टूबर 2010 को “विश्व छात्र दिवस” घोषित किया था।

विश्व विद्यार्थी दिवस का इतिहास:

15 अक्टूबर 2010 को , संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) ने शिक्षा को बढ़ावा देने के प्रयासों को सम्मानित करने के लिए डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के 79वें जन्मदिवस पर  विश्व छात्र दिवस या विश्व विद्यार्थी दिवस के रूप मनाने मनाने की घोषणा की थी। जिसके बाद से हर साल उनकी जयंती को विश्व विद्यार्थी दिवस के तौर पर मनाया जाता है।

विश्व विद्यार्थी दिवस का उद्देश्य:

एक आदर्श छात्र वह है जो समर्पित रूप से अध्ययन करता है, स्कूल और घर में ईमानदारी से व्यवहार करता है और साथ ही सह-पाठ्यचर्या वाली गतिविधियों में भाग लेता है। हर माता पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा एक आदर्श छात्र बने जो दूसरों के लिए प्रेरणा स्रोत बन सके । छात्र देश के भविष्य हैं, इसलिए यह बेहद महत्वपूर्ण है कि उनके लिए समर्पित इस दिवस को मनाया जाए और छात्रों की सराहना की जाए। विश्व विद्यार्थी दिवस पर डॉ। एपीजे अब्दुल कलाम और उनके जीवन से जुड़ी प्रेरणादायक कहानियों से छात्रों को रूबरू कराया जाता है और उन्हें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है। विश्व छात्र दिवस मनाकर हम जीवन के बारे में महत्वपूर्ण सबक सीखते हैं। विश्व विद्यार्थी दिवस को मनाने का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य छात्रों को महत्व देना और समाज में उनके महत्व को समझना है।

विश्व विद्यार्थी दिवस का महत्व

विश्व विद्यार्थी दिवस को मनाना हमारे लिए काफी महत्व की बात है क्योंकि इसके द्वारा हमें कई महत्वपूर्ण सीखें मिलती है। एक विद्यार्थी के लिए यह दिन और भी ज्यादे महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम का जीवन हमें इस बात की सीख देता है कि, जीवन में चाहे कितनी भी चुनौतियां क्यों ना हो लेकिन शिक्षा द्वारा हम हर बाधाओं को पार करते हुए बड़े से बड़े लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम एक छात्र के रूप में:

अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को एक तमिल मुस्लिम परिवार में रामेश्वरम, तमिलनाडु राज्य में हुआ था। उनके पिता जैनुलदेबेन एक नाव के मालिक थे और एक स्थानीय मस्जिद के इमाम थे, उनकी माँ आशियम्मा एक गृहिणी थीं। उनके पिता के पास एक नौका थी जो हिंदू तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम और निर्जन धनुष्कोडी के बीच ले जाती थी। जिसके साथ उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी परंतु कलाम ने अपने स्कूल के वर्षों में, औसत ग्रेड थे, इसी कारण उन्हें एक उज्ज्वल और मेहनती छात्र के रूप में वर्णित किया गया था, जिसे सीखने की तीव्र इच्छा थी। उन्होंने अपनी पढ़ाई, विशेषकर गणित पर घंटों बिताए। शवार्ट्ज हायर सेकेंडरी स्कूल, रामनाथपुरम में अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद, कलाम संत जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली, फिर मद्रास विश्वविद्यालय से संबद्ध हो गए, जहाँ से उन्होंने 1954 में भौतिकी में स्नातक किया। वह 1955 में मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग का अध्ययन करने के लिए मद्रास चले गए।

यह भी पढ़ें- भारत रत्न डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का जीवन परिचय

अपने छात्रों के इसी प्रेम और विश्वास के कारण अपने राष्ट्रपति के कार्यकाल के बाद वह भारत भर के कई सारे कालेजों और आकादमिक संस्थानो में अपने भाषणों द्वारा छात्रों को प्रेरित करने का कार्य करते रहे। छात्रों के प्रति उनका यह प्रेम इतना गहरा था कि उन्होंने अपनी आखरी सांस भारतीय प्रबंधन संकाय में पृथ्वी को एक जीवीत ग्रह बनाए रखने विषय पर भाषण देते हुए ली। यह कुछ ऐसे विश्वविद्यालय है, जिनसे वह राष्ट्रपति पद से मुक्त होने के बाद जुड़े रहे।

  • इंडियन इंस्ट्यूट आफ मैनेजमेंट, शिलांग में अतिथि प्राध्यापक
  • इंडियन इंस्ट्यूट आफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद में अतिथि प्रध्यापक
  • इंडियन इंस्ट्यूट आफ मैनेजमेंट, इंदौर में अतिथि प्रध्यापक
  • इंडियन इंस्ट्यूट आफ सांइस, बैंगलोर में मानद शिक्षक
  • इंडियन इंस्ट्यूट आफ स्पेस एण्ड टेक्नोलाजी, त्रिवेंद्रम में चांसलर
  • अन्ना विश्वविद्यालय में एयरोस्पेस इंजीनियर

विश्व विद्यार्थी दिवस 2020:

विश्व विद्यार्थी दिवस पर इस साल का विषय ‘लोगों के साथ-साथ ग्रह, समृद्धि और शांति के लिए सीखना है’ (Learning for people, planet, prosperity and peace) निर्धारित किया गया है। यह थीम मानवतावादी उद्देश्यों के साथ हमारे सामूहिकता के लिए विकास की महत्वकांक्षाओं की केंद्रीयता को उजागर करने का इरादा रखता है।

अक्टूबर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
03 अक्टूबरविश्व पर्यावास दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
04 अक्टूबरविश्व पशु कल्याण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 अक्टूबरविश्व शिक्षक (अध्‍यापक) दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
09 अक्टूबरविश्व डाक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अक्टूबरविश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
12 अक्टूबरविश्‍व दृष्टि दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 अक्टूबरविश्व मानक दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
16 अक्टूबरविश्व खाद्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 अक्टूबरअन्तरराष्ट्रीय ग़रीबी उन्‍मूलन दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
20 अक्टूबरअंतरराष्ट्रीय ऑस्टियोपोरोसिस दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 अक्टूबरविश्व आयोडीन कमी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्व पोलियो दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अक्टूबरविश्‍व विकास सूचना दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
30 अक्टूबरविश्‍व मितव्‍ययता (बचत) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
31 अक्टूबरराष्ट्रीय एकता दिवस - राष्ट्रीय दिवस

You just read: Specialday World Students Day - IMPORTANT DAYS OF OCTOBER MONTH Topic
Aapane abhi padha: विश्व विद्यार्थी दिवस.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *