क्रिसमस डे संक्षिप्त तथ्य

कार्यक्रम नामक्रिसमस डे (Christmas Day)
कार्यक्रम दिनांक25 / दिसम्बर
कार्यक्रम का स्तरअंतरराष्ट्रीय दिवस

क्रिसमस डे का संक्षिप्त विवरण

क्रिसमस डे या क्रिसमस का दिन मूलतः ईसाई धर्म से संबंधित एक त्योहार एवं पर्व के रूप में पूरी दुनिया में मनाया जाता है। इस दिन को ईसाई धर्म के देवता कहे जाने वाले यीशु के जन्मोत्सव पर बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है।

क्रिसमस डे का इतिहास

शुरुआत में ईसाई समुदाय, के बीच यीशु के जन्म की तारीख और उस घटना के विवादास्पद उत्सव की पहचान के बीच मनाया जाता था। जिसके साथ ही यीशु के जन्म के दिन की वास्तविक पहचान लंबे समय से चल रही थी। यीशु की जन्मतिथि के रूप में 25 दिसंबर को निर्दिष्ट करने की सटीक उत्पत्ति स्पष्ट नहीं है। इस संबंध में कोई सुराग नहीं प्रदान करता है। 25 दिसंबर को पहली बार 221 में सेक्स्टस जूलियस अफ्रीकन द्वारा यीशु के जन्म की तारीख के रूप में पहचाना गया था और बाद में सार्वभौमिक रूप से स्वीकृत तारीख बन गई।

क्रिसमस डे कैसे मनाया जाता है?

हर साल दुनिया के अधिकांश देशों में 25 दिसम्बर को "क्रिसमस डे" या "ईसा मसीह जयंती" के रूप में शीत ऋतु में मनाया जाता है। 25 दिसम्बर को बेथलेहेम में ज़ोसेफ (पिता) और मैरी (माँ) के यहाँ प्रभु ईशु का जन्म हुआ था। क्रिसमस ईसाइयों का सबसे बड़ा त्योहार है। ब्रिटेन और अन्य राष्ट्रमंडल देशों में क्रिसमस से अगला दिन यानि 26 दिसम्बर बॉक्सिंग डे के रूप मे मनाया जाता है।

इस दिन को क्रिसमस डे के रुप में प्रभु ईशु को श्रद्धांजलि और सम्मान देने के लिये मनाया जाता है। क्रिसमस के छुट्टी में पूरे दिन लोग नाचना, गाना, पार्टी मनाना और घर के बाहर डिनर करके खुशी मनाते है। इसे सभी धर्मों के लोगों द्वारा मनाया जाता है, खासतौर से ईसाई समुदाय द्वारा। इस दिन सभी रंग-बिरंगे कपड़े पहनते है और खूब मस्ती करते है। सभी एक-दूसरे को “मैरी क्रिसमस” कहकर बधाईयाँ देते है तथा एक-दूसरे के घर जाकर उपहार देते है।

लगभग एक महीने पहले से ही क्रिश्चन इस त्योहार की तैयारीयाँ करने लगते है। इस दिन पर घर, कार्यालय, चर्च आदि की सफाई करते है: पोताई करना और कागज तथा प्राकृतिक फूलों से अच्छे से सजाना, चित्र, दीवार पर ध्वजपट लगाना। आकर्षक दिखने के लिये बाजारों को भी सजाया जाता है और हम देख सकते है कि बाजार क्रिसमस कार्ड, सुंदर ग्लासेज़, उपहार, सीनरी, खिलौने आदि से भर जाता है। लोग अपने घरों के बीच में क्रिसमस के पेड़ को सजाते है और उसको ढ़ेर सारे उपहार जैसे कि चौकोलेट, कैंडिज़, गुब्बारे, गुड़ीया, चिड़ीया, फूल, लाइटें आदि से इसे चमकदार और सुंदर बनाते है।

ईसाई लोग अपने प्रभु ईशु के लिये प्रार्थना करते है, वो सभी भगवान के सामने अपनी गलतीयों और पाप को मिटाने के लिये उसे स्वीकार करते है। भजन गाते है तथा अपने मित्र, सगे-संबंधियों, और पड़ोसियों में उपहारों का आदान-प्रदान करते है। इस दिन ये लोग एक बड़े भोज का आयोजन करते है जिसमें लजीज़ पकवानों से सभी का स्वागत किया जाता है। दावत के बाद सभी लोग गीत-संगीत पर झूमते है और रात में गाना गाते है। ये बहुत ही जोश और खुशी का उत्सव है जिसे पूरी दुनिया में मस्ती के साथ मनाया जाता है।

दिसम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
01 दिसम्बरविश्व एड्स दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
02 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय दास प्रथा उन्‍मूलन दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
03 दिसम्बरविश्व विकलांगता दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
04 दिसम्बरभारतीय नौसेना दिवस - राष्ट्रीय दिवस
05 दिसम्बरविश्व मिट्टी दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
05 दिसम्बरआर्थिक और सामाजिक विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
07 दिसम्बरअंतर्राष्ट्रीय नागरिक विमानन दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
09 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
10 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
11 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
14 दिसम्बरराष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस - राष्ट्रीय दिवस
16 दिसम्बरराष्ट्रीय विजय दिवस - राष्ट्रीय दिवस
18 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय अल्पसंख्यक अधिकार दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
20 दिसम्बरअंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस - अंतरराष्ट्रीय दिवस
22 दिसम्बरराष्ट्रीय गणित दिवस - राष्ट्रीय दिवस
23 दिसम्बरराष्‍ट्रीय किसान दिवस - राष्ट्रीय दिवस
24 दिसम्बरराष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस - राष्ट्रीय दिवस
25 दिसम्बरक्रिसमस डे - अंतरराष्ट्रीय दिवस

क्रिसमस डे प्रश्नोत्तर (FAQs):

क्रिसमस डे प्रत्येक वर्ष 25 दिसम्बर को मनाया जाता है।

हाँ, क्रिसमस डे एक अंतरराष्ट्रीय दिवस है, जिसे पूरे विश्व हम प्रत्येक वर्ष 25 दिसम्बर को मानते हैं।

  Last update :  Tue 28 Jun 2022
  Post Views :  10295
विश्व संस्कृत दिवस (श्रावणी पूर्णिमा) का अर्थ, इतिहास एवं महत्व
होली का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
मकर संक्रांति का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
पोंगल का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
वसंत पंचमी का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
महा शिवरात्रि का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
चैत्र नवरात्रि का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
गणगौर का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
राम नवमी का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
महर्षि वाल्मीकि जयंत्री का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी
भगवान विश्वकर्मा जयंती का इतिहास, अर्थ, महत्व एवं महत्वपूर्ण जानकारी