विश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस (14 सितम्बर) – World Brotherhood and Apology Day (14 September)

✅ Published on September 14th, 2018 in महत्वपूर्ण दिवस, सितंबर माह के महत्वपूर्ण दिवस

विश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस (14 सितम्बर): (World Fraternity and Apology Day in Hindi)

विश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस कब मनाया जाता है?

दुनिया के विभिन्न देशों में प्रति वर्ष 14 सितम्बर को विश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस के रूप में मनाया जाता है।

विश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस का उद्देश्य:

विश्व वन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस किसी भी गलत कार्यों को सुधारने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। यह दिवस लोगो के मध्य विद्यमान कटुता को दूर करता है। साथ ही लोगो को संयुक्त रूप में रहने के लिए प्रोत्साहित भी करता है। इसके अलावा यह समाज में व्याप्त विषमता और कटुता को समाप्त करने में सहायक है और समाज में परिवर्तन लाने में मददगार है।

विश्व बन्धुत्व क्या है?

भाईचारा आज वर्तमान समय में एक आदर्श बन गया है। भाईचारा एक परिवार की तरह होता है। हम स्कूल वन्धुत्व चिकित्सा वन्धुत्व, इंजीनियरिंग वन्धुत्व, आदि के बारे में जानते हैं। इसके अलावा भी बहुत से ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ पर वन्धुत्व को बढ़ावा दिया जाता है। भाईचारा लोगों के एक समूह के माध्यम से सम्पादित किया जाता है। भाईचारा को हम पार्टियों, शिक्षण, गतिविधियों एवं अन्य कई गतिविधियों में देख सकते हैं। भाईचारा के संपादन के समय अक्सर यह देखा जाता है कि कडवाहट की गतिविधि भी सम्पादित हो जाती है।

ईश्वर मानव की गलतियों को माफ करता है

हम सभी नें ध्यान की शक्ति, सकारात्मक सोच की शक्ति और कई अन्य शक्तियों की शक्ति के बारे में सुना है। हालांकि, खेद कहने की शक्ति स्वयं में काफी शक्तिशाली है। महत्वपूर्ण बात यह है कि कोई भी पश्चाताप और कार्यवाही दिल से की जानी चाहिए और वर्तमान में इसके अत्यंत जरुरत भी है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि जोभी व्यक्ति यह कार्य करता है उसके दिल में अथाह दया का सागर भरा होता है। निःसंदेह माफ़ी मांगने की शाक्ति एक ऐसी शक्ति होती है जोकि पल भर में बहुत बड़ी दूरियों को भी समाप्त कर देती है। साथ ही समाज के मध्य विद्यमान दूरियों को मिटाती है।
वर्तमान में विविध संगठन, व्यक्तियों का समूह और समाज के अनेक वर्गों के द्वारा इस दिवस का आयोजन किया जा रहा है। लेकीन सबसे बड़ी बात तो यह है कि इसके संपादन के पीछे मूल उद्देश्य समाज के विकास का होना चाहिए। तभी हम एक संगठित समाज का निर्माण कर सकते हैं।

हमें आज इन नैतिक तत्वों के प्रति अपने आप को याद दिलाना है और दुनिया के हर कोने में हमें अपने तरीके से इस जश्न को मनाने की जरूरत है। माफ़ी मांगने में बड़ी शक्ति होती है, अर्थात इस शब्द को कह देने भर से शान्ति का अपने-आप स्थापन हो जाता है। इस शब्द के कहने भर से दूरियां मिट जाती हैं और लोगो के मध्य मतभेद मिट जाता है। जैसे ही आप किसी से माफ़ी मांगते हैं उसी वक्त आपके सकारात्मक व्यक्तित्व और स्वस्थ्य दिमाग के बारे में जानकारी हो जाती है।

इस दिन को लोगो के मध्य से दूरियों को मिटाने में इस्तेमाल किया जाना चाहिए। अतः समय आ गया है कि संघर्ष को समाप्त किया जाये और आगे बढ़ा जाये।

सितम्बर माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 सितम्बरविश्व नारियल दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 सितम्बरशिक्षक दिवस (डॉक्टर राधाकृष्ण जन्म दिवस) - राष्ट्रीय दिवस
08 सितम्बरविश्व साक्षरता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरविश्व बन्धुत्व और क्षमायाचना दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
14 सितम्बरहिन्दी दिवस: भारत - राष्ट्रीय दिवस
15 सितम्बरअभियंता (इंजीनियर्स) दिवस - राष्ट्रीय दिवस
16 सितम्बरविश्व ओज़ोन परत संरक्षण दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 सितम्बरविश्वकर्मा जयंती - राष्ट्रीय दिवस
21 सितम्बरअन्तरराष्ट्रीय शांति दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
26 सितम्बरविश्व मूक बधिर दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
27 सितम्बरविश्व पर्यटन दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 सितम्बरविश्व हृदय दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
Previous « Next »

❇ महत्वपूर्ण दिवस से संबंधित विषय

मातृ दिवस (मई माह का दूसरा रविवार) – Mothers Day (Second Sunday of May) विश्व रेडक्रॉस दिवस (08 मई) – World Red Cross Day (08 May) विश्व अस्थमा दिवस (मई माह का पहला मंगलवार) – World Asthma Day (First Tuesday of May) विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस (03 मई) – World Press Freedom Day (03 May) विश्व हास्य दिवस – World Comedy Day अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस (01 मई) – International Labor Day (01 May) अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस (29 अप्रैल) – International Dance Day (29 April) विश्व मलेरिया दिवस (25 अप्रैल) – World Malaria Day (25 April) राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस (24 अप्रैल) – National Panchayati Raj Day (24 April) विश्व पुस्तक एवं कॉपीराइट दिवस (23 अप्रैल) – World Book and Copyright Day (23 April)