विश्व होम्योपैथी दिवस (10 अप्रैल) – World Homeopathy Day (10 April)

✅ Published on April 10th, 2021 in अप्रैल माह के महत्वपूर्ण दिवस, महत्वपूर्ण दिवस

विश्व होम्योपैथी दिवस कब मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष दुनियाभर में हर साल 10 अप्रैल को ‘विश्व होम्योपैथी दिवस’ मनाया जाता हैं। यह दिवस होम्योपैथी के संस्थापक जर्मनी के डॉ. क्रिश्चिन फ्रेडरिक सैमुएल हैनीमेन के जन्मदिवस के अवसर पर मनाया जाता है।

होम्योपैथी भारत में सबसे लोकप्रिय चिकित्सा प्रणालियों में से एक है, वास्तव में, आयुष (आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी) सेवाओं के बीच एक दूसरा स्थान है। भारत में आयुष प्रणालियों की तुलना में उपयोगकर्ताओं, चिकित्सकों, शैक्षणिक संस्थानों और सार्वजनिक स्वास्थ्य क्लीनिकों की संख्या बढ़ रही है। होम्योपैथिक चिकित्सा प्रणाली होम्योपैथी केंद्रीय परिषद अधिनियम, 1973 के तहत भारत में एक मान्यता प्राप्त चिकित्सा प्रणाली है। इसे दवाओं की राष्ट्रीय प्रणाली के रूप में भी मान्यता प्राप्त है।

विश्व होम्योपैथी दिवस क्यों मनाया जाता है?

विश्व होम्योपैथी दिवस का उद्देश्य भारत एवं विश्व में होम्योपैथी की दशा एवं दिशा, राष्ट्रीय नीतियों के विकास की रणनीति तैयार करना, होम्योपैथी औषधियों की सुरक्षा, गुणवत्ता एवं प्रभावकारिता को मजबूत करना, उच्च स्तरीय गुणवत्तापरक चिकित्सा शिक्षा, अन्तरपद्धति और अंतर्राष्ट्रीय अनुसंधान सहयोग, प्रमाण आधारित चिकित्सा कार्य एवं विभिन्न देशों में स्वास्थ्य देख भाल सेवाओं में होम्योपैथी को उचित स्थान दिलाकर सार्वभौमिक स्वास्थ्य को लक्ष्य को प्राप्त करना है।

डॉ. क्रिश्चियन फ्रेडरिक सैमुअल हैनीमैन

एक जर्मन चिकित्सक थे, जो एक महान विद्वान, भाषाविद और प्रशंसित वैज्ञानिक थे। होम्योपैथी को आधार बनाने के इस सिद्धांत से चिकित्सा विज्ञान की एक पूरी प्रणाली को प्राप्त करने का श्रेय जर्मन चिकित्सक क्रिश्चियन फ्रेडरिक सैमुअल हैनीमैन को जाता है। हैनिमैन के पास एमडी की डिग्री थी। बाद में, उन्होंने अनुवादक के रूप में काम करने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी। फिर उन्होंने कई भाषाओं जैसे अंग्रेजी, फ्रेंच, इतालवी, ग्रीक और लैटिन में चिकित्सा, वैज्ञानिक पाठ्यपुस्तकों को सीखा।

होम्योपैथी चिकित्सा प्रणाली से सम्बंधित रोचक तथ्य:

  • आयुष (AYUSH) की फुल फॉर्म: आयुर्वेद, योग और नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्धा और होम्योपैथी है।
  • होम्योपैथी दुनिया के 100 से अधिक देशों में अपनाई जा रही है।
  • भारत होम्योपैथी के क्षेत्र में विश्व का अग्रणी देश है।
  • होम्योपैथी के अविष्कारक डॉ. हैनीमैन (Dr. Samuel Hahnemann) की जयन्ती 10 अप्रैल को विश्व होम्योपैथी के रूप में मनाई जाती है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी मानना है कि बिना वैकल्पिक एवं परम्परागत औषधियों को बढ़ावा दिये सार्वभौमिक स्वास्थ्य के लक्ष्य को प्राप्त नहीं किया जा सकता और वैकल्पिक चिकित्सा पद्धितयों में विश्व में होम्योपैथी का प्रमुख स्थान है।
  • होम्योपैथी दवाओं को कई संक्रमित व गैर संक्रमित बीमारियों व बच्चों और माताओं की बीमारियों में खासा प्रभावी माना जाता है।
  • भारत में लगभग 212 होम्योपैथी अस्पताल और 8000 से ज्यादा होम्योपैथी डिस्पेंसरी हैं।
  • भारत में लगभग 3 लाख होम्योपैथी प्रैक्टिशनर हैं।
  • देश में 195 स्नातक और 40 परास्नातक मेडिकल कॉलेज हैं।

अप्रैल माह के महत्वपूर्ण दिवस की सूची - (राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस):

तिथि दिवस का नाम - उत्सव का स्तर
02 अप्रैलविश्व ऑटिज्म जागरूकता दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
05 अप्रैलराष्ट्रीय समुद्री दिवस - राष्ट्रीय दिवस
06 अप्रैलविकास एवं शांति के लिए अन्तरराष्ट्रीय खेल दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
07 अप्रैलविश्व स्वास्थ्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
10 अप्रैलविश्व होम्योपैथी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
17 अप्रैलविश्व हीमोफिलिया दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
18 अप्रैलविश्‍व विरासत (धरोहर) दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
21 अप्रैलभारतीय सिविल सेवा दिवस - राष्ट्रीय दिवस
22 अप्रैलअन्तरराष्ट्रीय मातृ पृथ्वी दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
23 अप्रैलविश्व पुस्तक दिवस अथवा विश्व पुस्तक कॉपीराइट (प्रतिलिप्‍याधिकार) दिवस (यूनेस्‍को) - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
24 अप्रैलपंचायती राज दिवस - राष्ट्रीय दिवस
25 अप्रैलविश्व मलेरिया दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस
29 अप्रैलविश्व नृत्य दिवस - अन्तरराष्ट्रीय दिवस

📊 This topic has been read 74 times.


You just read: Vishv Homyopaithee Divas: 10 April
« Previous
Next »