वर्ष 1739 का इतिहास एवं महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएँ

✅ Published on July 22nd, 2017 in 18वीं शताब्दी का इतिहास, आज का इतिहास

Find the collective list of important historical events of the year 1739, read what happened and where.

भारत और विश्व इतिहास में वर्ष 1739 का अपना ही एक खास महत्व है। आईये जानते हैं वर्ष 1739 की ऐसी ही कुछ महत्त्वपूर्ण घटनाएँ जैसे : जन्मे चर्चित व्यक्ति, प्रसिद्ध व्यक्तियों के निधन, युद्ध संधि, किसी देश के आजादी, नई तकनिकी का अविष्कार, सत्ता का बदलना, महत्वपूर्ण राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दिवस इत्यादि, जिन्हे जानकर आपका सामान्य ज्ञान बढ़ेगा।

विश्व इतिहास में वर्ष 1739 की महत्वपूर्ण घटनाएँ ⚡

दिन/महीनाघटना/वारदात/वृत्तांत
01 जनवरीजे बी सी बौवेत डी लॉज़िएर ने अंटार्कटिका के पास बवेवत द्वीप का पता लगाया।
01 जनवरीदक्षिण अटलांटिक महासागर में बुवेट द्वीप, दुनिया का सबसे दूरस्थ द्वीप, फ्रांसीसी खोजकर्ता जीन-बैप्टिस्ट चार्ल्स बाउवेट डी लोजियर द्वारा खोजा गया था।
02 जूनस्वीडन के स्टॉकहोम में रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज की स्थापना की गई।
10 जुलाईस्पेन के खिलाफ समुद्री प्रतिशोध लेने के लिए किंग जॉर्ज द्वितीय ने एडमिरल्टी बोर्ड को अधिकृत किया।
12 मईजॉन वेस्ले ने न्यू कक्ष, इंग्लैंड में ब्रिस्टल, दुनिया की पहली मेथोडिस्ट मीटिंग हाउस की आधारशिला रखी।
19 अक्टूबरइंग्लैंड ने स्पेन से युद्ध की घोषणा की।
20 नवम्बरजेनकिन्स की इयर-ए-ब्रिटिश नौसैनिक बल के युद्ध ने स्पेनिश मेन (आधुनिक पनामा) में पोर्टोबेलो की बस्ती पर कब्जा कर लिया।
22 नवम्बरजेनकींस की युद्ध: पोर्टो बेल्लो का युद्ध: ब्रिटिश समुद्री सेनाएं स्पेनिश की पोनामियन चांदी के निर्यातक शहर पोर्तोबेलो पर हमला किया।
23 सितम्बररूस और तुर्की के बीच बेलग्रेड शांति समझौते पर हस्ताक्षर हुए।
23 सितम्बररूस और तुर्की ने बेलग्रेड पर शांति संधि पर हस्ताक्षर किये।
23 फरवरीइंग्लिश हाइवेमैन डिक टर्पिन की पहचान, जो यॉर्क में एक उपनाम के तहत रहने वाले थे, को उनके फॉर्मरस्कूलटेचर द्वारा उजागर किया गया था, जिन्होंने उनकी लिखावट को पहचान लिया था, जिससे ट्यूरिन सबसे शर्मिंदा था।
9 सितम्बरस्टोनो विद्रोह, उस समय ब्रिटिश अमेरिका का सबसे बड़ा गुलाम विद्रोह तेरह कालोनियों में, चार्ल्सटन, दक्षिण कैरोलिना के पास फटा।

भारत इतिहास में वर्ष 1739 की महत्वपूर्ण घटनाएँ ⚡

दिन/महीनाघटना/वारदात/वृत्तांत
13 फरवरीमुगल साम्राज्य के अपने आक्रमण के दौरान, फारस के शाह, नादेर की सेनाओं ने छह-से-एक होने के बावजूद, तीन घंटे के भीतर करनाल में मुगल सेना को हरा दिया।
20 मार्चनादिर शाह ने भारत के दिल्ली शहर पर कब्ज़ा किया और जिसमें कोह-नूर सहित मयूर सिंहासन के सारे गहने चुराए।
22 मार्चआक्रमणकारी नादिर शाह ने अपनी सेना को दिल्ली मे जनसंहार की इजाजत दी। यह कत्लेआम 58 दिनों तक चला।
24 फरवरीकरनाल की लड़ाई: ईरानी शासक नादिर शाह की सेना ने भारत के मुगल सम्राट मोहम्मद शाह की सेना को हराया।
26 मईमुगल बादशाह मोहम्मद शाह और ईरान के नादिर शाह के बीच हुई संधि के परिणामस्वरूप अफगानिस्तान, भारत से अलग हुआ।


Data not available.
Data not available.

More history by year: 1709 | 1719 | 1729 | 1739 | 1749 | 1759 | 1769 | 1779 | 1789 | 1799 || 1839 | 1939

📊 This topic has been read 88 times.

« Previous
Next »