स्मृति मंधाना का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए स्मृति मंधाना से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Smriti Mandhana Biography and Interesting Facts in Hindi.

स्मृति मंधाना का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

नामस्मृति मंधाना (Smriti Mandhana)
वास्तविक नामस्मृति श्रीनिवास मंधाना
जन्म की तारीख18 जुलाई 1996
जन्म स्थानमुंबई,महाराष्ट्र (भारत)
माता व पिता का नामस्मिता मंधाना / श्रीनिवास मंधाना
उपलब्धि2016 - आईसीसी (ICC) वूमेंस टीम ऑफ द ईयर में शामिल होने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी
पेशा / देशमहिला / खिलाड़ी / भारत

स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana)

स्मृति मंधाना एक भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी है,जिनका पूरा नाम स्मृति श्रीनिवास मंधाना है जों भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए खेलती है। यह मुख्य रूप से बांए हाथ से बल्लेबाजी करती है जिन्होंने 2017 में महिला क्रिकेट विश्व कप में दो शतक भी लगाये थे। ये राईट आर्म स्विंग बोलिंग भी करती है|

स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई (महाराष्ट्र) में हुआ था. उनकी माता का नाम स्मिता और पिता का नाम श्रीनिवास मंधाना हैं. उनके परिवार में माता पिता के अलावा उनका एक भाई भी है जिनका नाम श्रवण हैं. जब स्मृति दो साल की थी तभी उनके माता पिता माधवनगर, सांगली में बस गए थे.
जब वह दो साल की थी, तब परिवार महाराष्ट्र के सांगली के माधवनगर चला गया, जहाँ उसने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। उनके पिता और भाई, श्रवण, दोनों ने सांगली के लिए जिला स्तर पर क्रिकेट खेला। वह अपने भाई को महाराष्ट्र राज्य अंडर -16 के टूर्नामेंट में खेलने के बाद क्रिकेट को लेने के लिए प्रेरित हुई थी। नौ साल की उम्र में, उन्हें महाराष्ट्र की अंडर -15 टीम में चुना गया था। ग्यारह बजे, उसे महाराष्ट्र अंडर -19 टीम के लिए चुना गया था।
जब स्मृति मात्र 11 साल की ही थी तभी उन्हें अंडर 19 के लिए सेलेक्ट कर लिया गया था मंधाना को पहली सफलता जब मिली जब वह अक्टूबर 2013 में एकदिवसीय मैच में डबल शतक हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला बनीं। गुजरात के खिलाफ महाराष्ट्र के लिए खेलते हुए, उन्होंने वडोदरा में अल्मबिक क्रिकेट ग्राउंड पर वेस्ट जोन अंडर 19 टूर्नामेंट में 150 गेंदों पर नाबाद 224 रन बनाए। जिसके बाद 2016 में वुमन चैलेंजर ट्रॉफी में मंधाना ने इंडिया रेड की और से खेलते हुए 3 अर्धशतक लगाये. जिसमे 62 रन की वह पारी भी शामिल हैं जो उन्होंने फाइनल में लगाकर टीम को जीत दिलाई थी स्मृति क्रिकेट के तीनो फॉर्मेट में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं. स्मृति ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत 10 अप्रैल 2013 को बांग्लादेश के खिलाफ वनडे से की थी. जिसके बाद उन्होंने टेस्टक्रिकेट में अपना करियर अगस्त 2014 को इंग्लैंड के खिलाफ वोर्म्स्ली पार्क में शुरु किया था स्मृति के बारे में लोग वर्ल्डकप 2017 से जानने लगे जब स्मृति ने क्वालीफ़ायर मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ 90 रनों की बहुमूल्य पारी खेली थी. इसके बाद उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 106 रन की आतिशी पारी भी खेली. मंधाना ने वुमन टीम की उन अहम् खिलाडियों में शामिल थी जिन्होंने टीम को फाइनल तक पहुँचाने में योगदान दिया था.. इस टेस्ट की दोनों परियों में स्मृति ने 22 और 51 का योगदान दिया था.

📅 Last update : 2021-07-18 00:30:01