भारत भारती पुरस्कार क्या है और क्यों दिया जाता है?

भारत भारती उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान का सबसे बड़ा साहित्यिक पुरस्कार है। यह पुरस्कार उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान, लखनऊ के माध्यम से साहित्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पुरस्कार में भारत-भारती सम्मान के रूप में स्मृति चिह्न, अंग वस्त्रम तथा पाँच लाख दो हजार रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। विकिपीडिया के अनुसार भारत भारती पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 1982 में हुई थी।

भारत भारती पुरस्कार का संक्षिप्त विवरण:

पुरस्कार का वर्ग साहित्य
स्थापना वर्ष 1982
पुरस्कार राशि पाँच लाख दो हजार रुपये
प्रथम विजेता महादेवी वर्मा
आखिरी विजेता पाण्डेय शशिभूषण 'शीतांशु' (2020)

भारत भारती सम्मान 2020:

अमृतसर के रहने वाले साहित्यकार पांडेय शशिभूषण शीतांशु को उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान का सर्वोच्च भारत भारती पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें कुल आठ लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान किया गया। लखनऊ के डॉ. राम कठिन सिंह को लोहिया साहित्य सम्मान से अलंकृत किया गया। सम्मानस्वरूप उन्हें पांच लाख रुपये प्रदान किए गए।

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के वर्ष 2020 के सम्मानों पर निर्णय लेने के लिए 1 अक्टूबर को कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. सदानंद प्रसाद गुप्त की अध्यक्षता में पुरस्कार समिति की बैठक हुई। इसमें सर्वसम्मति से सम्मानों के लिए विद्वानों के नामों का चयन किया गया तथा वर्ष 2020 में प्रकाशित पुस्तकों पर भी फैसले लिए गए। सर्वोच्च भारत भारती सम्मान पांडेय शशि भूषण शीतांशु, अमृतसर को दिया जाएगा।

वर्ष 1982 से अबतक तक सभी भारत भारती पुरस्कार विजेताओं की सूची:

वर्ष व्यक्ति का नाम
2020 पाण्डेय शशिभूषण 'शीतांशु'
2019 सूर्यबाला
2018 ऊषा किरण खान
2017 डॉ. आनंद प्रकाश दीक्षित
2015 डॉ. विश्वनाथ त्रिपाठी
2014 काशी नाथ सिंह
2013 दूधनाथ सिंह
2012 गोपाल दास नीरज
2011 गोविन्द मिश्र
2010 कैलाश बाजपेई
2009 महीप सिंह
2008 अशोक वाजपेयी
2008 केदारनाथ सिंह
2007 रामदरश मिश्र
2006 परमानन्द श्रीवास्तव
2005 नामवर सिंह
2001 जानकीवल्लभ शास्त्री
1998 जगदीश गुप्त
1990 धर्मवीर भारती
1982 महादेवी वर्मा

यह भी पढ़ें:

  Last update :  Tue 12 Sep 2023
  Download :  PDF
  Post Views :  34087