इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे कादम्बिनी गांगुली (Kadambini Ganguly) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए कादम्बिनी गांगुली से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Kadambini Ganguly Biography and Interesting Facts in Hindi.

कादम्बिनी गांगुली का संक्षिप्त सामान्य ज्ञान

नामकादम्बिनी गांगुली (Kadambini Ganguly)
जन्म की तारीख18 जुलाई
जन्म स्थानभागलपुर, बिहार (भारत)
निधन तिथि03 अक्टूबर
पिता का नाम बृजकिशोर बासु
उपलब्धि1882 - स्नातक उपाधि प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला
पेशा / देशमहिला / चिकित्सक / भारत

कादम्बिनी गांगुली - स्नातक उपाधि प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला (1882)

कदंबिनी ने अपनी शिक्षा बंगा महिला विद्यालय में शुरू की और 1878 में बेथुइन स्कूल (बेथ्यून द्वारा स्थापित) में कलकत्ता प्रवेश परीक्षा में प्रवेश करने वाली पहली महिला बनी थी। यही नहीं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में सबसे पहले भाषण देने वाली महिला का गौरव भी कादम्बिनी गांगुली को ही प्राप्त है।

कादम्बिनी गांगुली का जन्म 18 जुलाई 1861 को भागलपुर, बिहार (भारत) में हुआ था। इनके पिता का नाम बृजकिशोर बासु था। इनके पिता भागलपुर स्कूल में हेडमास्टर के रूप कार्यत थे तथा वे एक ब्रह्मो सुधारक भी थे। ये अपने माता पिता की इकलोती संतान थी।
कादम्बिनी गांगुली की मृत्यु 3 अक्टूबर 1923 (आयु 63 ) को कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता) में हुआ था।
कादम्बिनी ने अपनी शिक्षा बंगा महिला विद्यालय में शुरू की और जबकि 1878 में बेथ्यून स्कूल (बेथ्यून द्वारा स्थापित) ने कलकत्ता विश्वविद्यालय की प्रवेश परीक्षा पास करने वाली पहली महिला बनीं। यह आंशिक रूप से उनके प्रयासों की मान्यता में था कि बेथ्यून कॉलेज ने पहले एफए (प्रथम कला) की शुरुआत की, और फिर 1883 में स्नातक पाठ्यक्रम। वह और चंद्रमुखी बसु बेथ्यून कॉलेज से पहले स्नातक बने, और इस प्रक्रिया में देश में पहली बार स्नातक बने।
यह भारत की पहली महिला स्नातक और पहली महिला फ़िजीशियन थीं। कादम्बिनी इंडिया की पहली वर्किंग मॉम थीं। 1893 में, उन्होंने एडिनबर्ग की यात्रा की और LRCP (एडिनबर्ग), LRCS (ग्लासगो) और GFPS (डबलिन) के रूप में अर्हता प्राप्त की। 1893 में, उन्होंने एडिनबर्ग की यात्रा की और LRCP (एडिनबर्ग), LRCS (ग्लासगो) और GFPS (डबलिन) के रूप में अर्हता प्राप्त की। उनका परिवार चन्दसी (बारीसाल, अब बांग्लादेश में) से था। कांग्रेस के 1889 के मद्रास अधिवेशन में उन्होंने भाग लिया और भाषण दिया। संस्था के उस समय तक के इतिहास में भाषण देने वाली कादम्बिनी पहली महिला थीं।
उनकी जीवनी पर आधारित एक टेलीविजन बंगाली धारावाहिक प्रोथोमा कादम्बिनी का प्रसारण 2020 में किया गया था। सोलंकी रॉय ने स्टार जलशा पर प्रसारित धारावाहिक में उन्हें चित्रित किया और डिजिटल प्लेटफॉर्म हॉटस्टार पर भी उपलब्ध थे।

कादम्बिनी गांगुली प्रश्नोत्तर (FAQs):

कादम्बिनी गांगुली का जन्म 18 जुलाई 1861 को भागलपुर, बिहार (भारत) में हुआ था।

कादम्बिनी गांगुली को 1882 में स्नातक उपाधि प्राप्त करने वाली प्रथम भारतीय महिला के रूप में जाना जाता है।

कादम्बिनी गांगुली की मृत्यु 03 अक्टूबर 1923 को हुई थी।

कादम्बिनी गांगुली के पिता का नाम बृजकिशोर बासु था।

  Last update :  Tue 28 Jun 2022
  Post Views :  10636
हरिता देओल का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
नीरजा भनोट का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
संतोष यादव का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
सुरेखा यादव का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
लीला सेठ का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
दुर्गा बनर्जी का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
सरला ठकराल का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
रंजना कुमार का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
आनंदीबाई जोशी का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
अपर्णा कुमार का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी
अर्चना रामासुन्द्रम का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी