रंजना कुमार का जीवन परिचय एवं उनसे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

रंजना कुमार का जीवन परिचय | Biography of Ranjana Kumar in Hindi
नाबार्ड की प्रथम भारतीय महिला अध्यक्ष: रंजना कुमार का जीवन परिचय

इस अध्याय के माध्यम से हम जानेंगे रंजना कुमार (Ranjana Kumar) से जुड़े महत्वपूर्ण एवं रोचक तथ्य जैसे उनकी व्यक्तिगत जानकारी, शिक्षा तथा करियर, उपलब्धि तथा सम्मानित पुरस्कार और भी अन्य जानकारियाँ। इस विषय में दिए गए रंजना कुमार से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों को एकत्रित किया गया है जिसे पढ़कर आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। Ranjana Kumar Biography and Interesting Facts in Hindi.

रंजना कुमार के बारे में संक्षिप्त जानकारी

नामरंजना कुमार (Ranjana Kumar)
जन्म की तारीख10 दिसम्बर 1945
जन्म स्थानआंध्र प्रदेश, भारत
उपलब्धि2005 - नाबार्ड की प्रथम महिला अध्यक्ष
पेशा / देशमहिला / बैंकर / भारत

रंजना कुमार (Ranjana Kumar)

रंजना कुमार एक प्रसिद्ध भारतीय बैंकर हैं। कृषि और ग्रामीण विकास के लिए राष्ट्रीय बैंक (नाबार्ड) के अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवानिवृत्ति के बाद रंजना कुमार केन्द्रीय सतर्कता आयोग में सतर्कता आयुक्त थी। जिन्होंने 1966 में बैंक ऑफ इंडिया में प्रोबेशनरी ऑफिसर के रूप में अपना बैंकिंग करियर शुरू किया था

रंजना कुमार का जन्म

रंजना कुमार का जन्म 10 दिसम्बर 1945 को आंध्र प्रदेश, भारत में हुआ था।इनके पिता भारतीय वायु सेना में सेवा करते थे और इनकी माता जी स्कूल चलाया करती थी|

रंजना कुमार की शिक्षा

रंजना कुमार के पिता भारत की वायु सेना में कार्यरत थे, और उनके पिता के अलग-अलग हवाई अड्डों पर स्थानांतरण होने से उन्हें भारत के विभिन्न स्थानों में ले जाया गया। जिसके कारण रंजना की मुंबई, कोलकाता, कानपुर और कोयम्बटूर में स्थित स्कूलों सहित विभिन्न स्कूलों में विभिन्न स्थानों पर शिक्षा हुई। जिसके बाद उन्होंने महिला कॉलेज, हैदराबाद से स्नातक किया। हालाँकि उसका मेडिकल पेशे में कैरियर बनाने का सपना था, लेकिन वह मेडिकल कॉलेज में सीट सुरक्षित नहीं रख सकी।

रंजना कुमार का करियर

उन्होंने 1966 में बैंक ऑफ इंडिया में प्रोबेशनरी ऑफिसर के रूप में अपना बैंकिंग करियर शुरू किया था, जहाँ उन्होंने विभिन्न क्षमताओं में सेवा की। रंजना कुमार को बैंकिंग सेक्टर में ‘ टर्न अराउंड क्वीन" के नाम से जाना जाता है। रंजना पहली ऐसी भारतीय महिला है, जिन्हें राष्ट्रीयकृत बैंक की प्रमुख होने के साथ-साथ भारत में शीर्ष कृषि संस्था की प्रमुख होने का गौरव भी प्राप्त है। बैंक ऑफ़ इंडिया की विभिन्न राज्यों में स्थित विभिन्न शाखाओ व दफ्तरों में उन्होंने अलग-अलग पदों पर कार्य किया है। यूनिवर्सिटी ऑफ़ वाशिंगटन, सी.ए. उन्हें एक प्रोग्राम के तहत सीनियर इंटरनेशनल बैंकर्स को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया गया था। अपने ‘टर्न अराउंड" प्लान के दुसरे हिस्से के अंतर्गत स्टाफ की कार्यक्षमता को बढ़ाना रंजना का उद्देश्य था। जब भारत सरकार ने उन्हें भारतीय बैंक के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया, तो वह भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक की प्रमुख बनने वाली पहली महिला बनीं। उनकी नियुक्ति के समय, भारतीय बैंक भारी नुकसान से दुखी था, और अपने कार्यकाल के दौरान उसने भारतीय बैंक के बदलाव को सुनिश्चित किया।

भारत के अन्य प्रसिद्ध बैंकर

व्यक्तिउपलब्धि
नैना लाल किदवई की जीवनीवाणिज्य एवं उद्योग मंडल (फिक्की) की अध्यक्ष निर्वाचित होने वाली प्रथम भारतीय महिला

नीचे दिए गए प्रश्न और उत्तर प्रतियोगी परीक्षाओं को ध्यान में रख कर बनाए गए हैं। यह भाग हमें सुझाव देता है कि सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। यह प्रश्नोत्तरी एसएससी (SSC), यूपीएससी (UPSC), रेलवे (Railway), बैंकिंग (Banking) तथा अन्य परीक्षाओं में भी लाभदायक है।

महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQs):

  • प्रश्न: रंजना कुमार को बैंकिंग सेक्टर में किस नाम से जाना जाता है?
    उत्तर: टर्न अराउंड क्वीन
  • प्रश्न: रंजना कुमार की माँ कितने सालो तक स्कूल चलती रही थी?
    उत्तर: 30 साल
  • प्रश्न: रंजना कुमार ने संगीत में कौन-सा कोर्स किया था?
    उत्तर: संगीत भूषण
  • प्रश्न: नाबार्ड की प्रथम महिला अध्यक्ष कौन है?
    उत्तर: रंजना कुमार
  • प्रश्न: बैंकिंग सेक्टर में किसको ‘ टर्न अराउंड क्वीन’ के नाम से जाना जाता है?
    उत्तर: रंजना कुमार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *