विश्व के प्रमुख महासागरीय गर्त

✅ Published on July 13th, 2017 in भारतीय रेलवे, भूगोल, सामान्य ज्ञान अध्ययन

विश्व के प्रमुख महासागरीय गर्त और उनके स्थान: (Major Ocean Trenches of the World in Hindi)

महासागरीय गर्त महासागरीय बेसिन के सबसे नीचे भाग हैं और इनकी तली औसत महासागरीय नितल के काफी नीचे मिलती हैं। इनकी स्थिति सर्वत्र न मिलकर यत्र-तत्र बिखरे हुए रूप में मिलती हैं । वास्तव में ये महासागरीय नितल पर स्थित तीव्र ढाल वाले लम्बे, पतले तथा गहरे अवनमन के क्षेत्र हैं। इनकी उतपत्ति महासागरीय तली में प्रथ्वी के क्रस्ट के वलन एवं भ्रंशन के परिणामस्वरूप मानी जाती हैं । अर्थात इनकी उत्पत्ति विवर्तनिक क्रियाओं से हुई हैं।

विश्व के प्रमुख महासागरीय गर्त:

  • मेरियाना गर्त: प्रशान्त महासागर में पूर्वी तथा पश्चिमी किनारों पर इनकी लगभग एक निरन्तर श्रंखला मिलती हैं, जिसमें मेरियाना गर्त सर्वाधिक गहरा हैं। यह विश्व का सबसे गहरा गर्त हैं। यह फिलीपीन्स के पश्चिम में स्थित हैं। इसकी गहराई 11034 मीटर है।
  • मिण्डानाओ गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं।
  • आटाकामा गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं।
  • टोंगा गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं। टोंगा गर्त दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित हैं।
  • फिलीपींस गर्त:  फ़िलिपीन गर्त, जो कभी-कभी मिन्दनाओ गर्त भी कहलाता है, पश्चिमी प्रशांत महासागर के फ़िलिपीन सागर भाग में स्थित एक 1,320 किमी तक चलने वाला एक महासागरीय गर्त है। इस गर्त की चौड़ाई लगभग 30 किमी है और इसका सबसे गहरा बिन्दु (जो गालाथेआ गहराई कहलाता है) समुद्रतल से लगभग 10,540 मीटर (34,580 फ़ुट) नीचे है। यह पृथ्वी का तीसरा सबसे निचला स्थान है।
  • टासकरोरा गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं। टासकरोरा गर्तउत्तर प्रशांत महासागर में स्थित हैं।
  • प्यूर्टोरिका गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं। प्यूर्टोरिका गर्त उत्तर अटलांटिक महासागर में स्थित हैं।
  • रोमशे गर्त: यह एक प्रमुख महासागरीय गर्त हैं। रोमशे गर्त अटलांटिक महासागर में स्थित हैं।
  • सुण्डा गर्त: सुन्दा गर्त, जो पहले जावा गर्त कहलाता था, पूर्वोत्तरी हिन्द महासागर में स्थित एक 3200 किमी तक चलने वाला एक महासागरीय गर्त है। इस गर्त की सर्वाधिक गहराई 7,725 मीटर (25,344 फ़ुट) है।
  • क्यूराइल गर्त: क्यूराइल गर्त रूस के साख़ालिन द्वीप पर स्थित है। इसकी गहराई 10498 मीटर है। साख़ालिन या सखालिन, जिसे जापानी में काराफ़ुतो कहते हैं, प्रशांत महासागर के उत्तरी भाग में स्थित एक बड़ा द्वीप है। यह राजनैतिक रूप से रूस के साखालिन ओब्लास्ट (प्रांत) का हिस्सा है और साइबेरिया इलाक़े के पूर्व में पड़ता है। यह जापान के होक्काइडो द्वीप के उत्तर में है।

Vishv ke pramukh Mahasagriye Garto ki suchi Hindi me

इन्हें भी पढ़े: विश्व की प्रमुख खाड़ियाँ और उनके स्त्रोत की सूची


You just read: Vishv Ke Pramukh Mahaasaagareey Gart Aur Unke Sthaan Ki Suchi
Previous « Next »

❇ सामान्य ज्ञान अध्ययन से संबंधित विषय

कौन क्या है 2021 – भारत और विश्व में वर्तमान में कौन किस पद पर है 2021 राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष (1993 से 2021 तक) ऑस्कर पुरस्कार के विजेता की सूची वर्ष 2021 की महत्वपूर्ण नियुक्तियां भारत के ताप विद्युत संयंत्र की सूची भारत मेँ आयोजित होने वाली प्रमुख प्रतियोगी परीक्षाएँ भारत के सर्वोच्च न्यायालय की महिला न्यायाधीश ब्रांड एंबेसडर की सूची 2021 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय (वनडे) क्रिकेट में सबसे तेज 10 हजार रन बनाने वाले शीर्ष 10 बल्लेबाज भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त की सूची (वर्ष 1950 से 2021 तक )