भारत के प्रमुख बंदरगाहो के नाम और उनका स्थान:

भारत के प्रमुख बंदरगाहों में कोलकाता, चेन्नई, कोचीन, न्हावा शेवा, कांडला, मारमुगावो, मुंबई, न्यू मेंगलौर, पारादीप, तूतीकोरिन, विशाखात्तनम और पोर्ट ब्लेयर शामिल हैं। इन बंदरगाहों के जरिए भारत से भारी मात्रा में आयात और निर्यात किए जाते हैं। ये बंदरगाह भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। आइये जाने भारत के प्रमुख बंदरगाहो के बारे में:-

भारत के प्रमुख बंदरगाहो की सूची:-

बंदरगाह नदी/सागर राज्य
मुंबई अरब सागर महाराष्ट्र
पारादीप बंगाल की खाड़ी उड़ीसा
कोलकाता हुबली नदी प० बंगाल
तूतीकोरिन तथा एन्नौर बंगाल की खाड़ी तमिलनाडु
विशाखापत्तनम ( सबसे गहरा एवं प्राकृतिक बंदरगाह ) बंगाल की खाड़ी आंध्र प्रदेश
कोच्चि अरब सागर केरल
न्हावाशेवा ( सबसे बड़ा बंदरगाह ) अरब सागर महाराष्ट्र
कांडला ( ज्वारीय बंदरगाह ) अरब सागर गुजरात
मार्मागोवा अरब सागर गोवा
न्यू मंगलौर अरब सागर कर्नाटक
चेन्नई ( कृत्रिम एवं सबसे प्राचीन बंदरगाह ) बंगाल की खाड़ी तमिलनाडु
हल्दिया - पश्चिम बंगाल

अब संबंधित प्रश्नों का अभ्यास करें और देखें कि आपने क्या सीखा?

भारत के बंदरगाह से संबंधित प्रश्न उत्तर 🔗

यह भी पढ़ें:

भारत के बन्दरगाह प्रश्नोत्तर (FAQs):

पारादीप बंदरगाह भारतीय राज्य ओडिशा के पूर्वी तट पर स्थित है। यह बंगाल सागर के मुख्य प्रवेश द्वार के पास स्थित है और व्यापारिक जहाजों के लिए एक महत्वपूर्ण बंदरगाह है। इस बंदरगाह से पारादीप द्वीप और पारादीप समुद्रतट जुड़े हुए हैं।

विशाखापट्टनम भारत के आंध्र प्रदेश राज्य के पूर्वी तट पर स्थित एक प्रमुख बंदरगाह (पत्तन) है। यह विशाखापट्टनम जिले की मुख्य नगरी भी है और व्यापारिक जहाजों के लिए महत्वपूर्ण समुद्री बंदरगाह के रूप में जानी जाती है।

लोथल का उत्खनन स्थल सिंधु घाटी सभ्यता का एकमात्र बंदरगाह शहर है। लोथल सिंधु घाटी सभ्यता के कई खंडहरों की खोज के लिए प्रसिद्ध है।

भारत में कुल मिलाकर 13 प्रमुख बंदरगाह हैं। ये प्रमुख बंदरगाह व्यापारी जहाजों के लिए महत्वपूर्ण समुद्री प्रवेश द्वार हैं और भारतीय तटीय राज्यों को समुद्री संचार लिंक प्रदान करते हैं।

बाल्टिक सागर के बंदरगाह व्यापार के लिए सर्दियों में भी खुले रहते हैं क्यूंकि उत्तरी अटलांटिक प्रवाह, गर्म सागर धारा उस क्षेत्र में बहती है|

  Last update :  Sat 15 Apr 2023
  Download :  PDF
  Post Views :  9758